31 हजार साल पुरानी कब्र में मिले दुनिया के सबसे पुराने जुड़वा

पुरातन कब्र (Burial में से दुनिया का सबसे पुराने जुड़वा शिशुओं (Twin infants) के मिलने का मामला है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)
पुरातन कब्र (Burial में से दुनिया का सबसे पुराने जुड़वा शिशुओं (Twin infants) के मिलने का मामला है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)

31 हजार साल पुरानी कब्र (Burial) में जुड़वां शिशुओं (Twin Infant) के कंकाल के ताजा शोध ने यह पता लगाया है कि वे दुनिया के अब तक के पाए गए सबसे पुराने जुड़वां हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 14, 2020, 3:12 PM IST
  • Share this:
वैज्ञानिकों ने ऑस्ट्रिया (Austria) की एक पुरानी कब्र (Burial) में जुड़वा शिशुओं (Twin Infants) के अवशेष खोजे हैं जो अब के रिकॉर्ड के अनुसार दुनिया के सबसे पुराने दफन जुड़वा माने जा रहे हैं. 31 हजार साल पहले दफन किए गए जुड़वा उत्तर पुरापाषाण युग (Old Ice Age) के हैं. यह 40 हजार से 10 हजार साल पहले का समय है. ताजा शोध में इन जुड़वा शिशुओं के बारे में काफी जानाकरी हासिल की है.

क्या पता चला
इन जीवाश्मों के अध्ययन से पता चला है कि  ये जुड़वा नवजात शिशुओं का है जिनमें से एक पैदा होने के बाद ही मर गया था जबकि उसका जुड़वा भाई करीब 50 दिन तक जिंदा रहा था. इतना ही नहीं तीन महीने पुराना शिशु भी इनकी क्रब से डेढ़ मीटर दूर ही दफनाया गया था जो इन्हीं जुड़वों का नजदीकी रिश्तेदार है.

2005 में मिली थी कब्र
यह अध्ययन इसी  कम्यूनिकेशन बायोल़ॉजी में प्रकाशित हुआ है. शोधकर्ताओं को इन जुड़वांओं के अवशेष अंडाकार कब्र में साल 2005 में डेबेन्यू नदी के किनारे क्रेम्स के पास क्रेम्स वॉचबर्ग पुरातत्व साइट में मिली थी. ये जुड़वा शिशु लाल रंग के गेरु से ढंके थे.



काफी समय से चल रही थी चर्चा
इस कब्र के मिलने के बाद इन अवशेषों को साल 2013 में विएना के नेचुरल हिस्ट्री म्यूजियम में रखा गया था. उस समय भी इसकी खासी चर्चा हुई थी. लेकिन तब वैज्ञानिकों को काफी कुछ इसके बारे में नहीं पता था. इसके लिए शोधकर्ताओं की एक टीम न काम करना शुरु किया जिससे उनके बारे में अधिक जानकारी मिल सके.

31000 year old burial, oldest known identical twins, Twins, Infant twins,
यह कब्र पुरापाषाण काल (Old Stone Age) के समय की है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)


सबसे पुराना रिकॉर्ड
शोधकर्ताओं का कहना है कि यह किसी पुरातन डीएनए का उपयोग करते हुए किसी जुड़वा की पुष्टि का पहला पुरात्व रिकॉर्ड है. उन्होंने पाया कि ये केवल जुड़वा ही नहीं थे बल्कि मिलते जुलते जुड़वा (Identical Twins) थे. वियना यूनिवर्सिटी में इवेल्यूशनरी बायोलॉजी विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर रोन पिन्हासी ने बताया कि यह जुड़वाओं की पैदाइश का सबसे पुराना प्रमाण है.

भेड़ जैसे अजीब से जानवर से भारत में विकसित हुए थे घोड़े

 लॉटरी लगने जैसी उपलब्धि
शोधकर्ताओं को यह नही पता है कि पुरापाषाण काल में जुड़वां बच्चों का पैदा होना कितना आम था, लेकिन आज ऐसा 85 में से एक बार होता है. जबकि मिलते जुलते जुड़वा 250 में से एक बार पैदा होते हैं. इस अध्ययन की प्रमुख लेखिका और नेचुलर हिस्ट्री म्यूजियम में बायोलॉजिस्ट मारिया टेस्लर निकोला का कहना है कि पुरापाषाण काल की अधिक लोगों की कब्र की खोज अपने आप में बहुत खास बात है. इस नाजुक बच्चों के हड्डी के ढांचे के अवशेषों में से उच्च गुणवत्ता का डीएनए निकलना उम्मीद से कहीं ज्यादा था. यह बिलकुल लॉटरी लगने जैसा था.

oldest known identical twins, Twins, Infant twins,
दुनिया में हमशक्ल जुड़वां (Identical Twins) बहुत कम पैदा होते हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)


क्या किया अध्ययन में
इन शिशुओं की मृत्यु के समय की उम्र निकालने के लिए शोधकर्ताओं ने आगे के दातों में से दूसरा इंसाइजर का अध्ययन किया. इससे उन्हें पता चला कि ये पूरी तरह से विकसित शिशु थे. अध्ययन से पता चला कि पहले एक शिशु को दफनाया गया था और उसके कुछ दिन बाद कब्र को फिर से खोदकर उसके दूसरे भाई को दफनाया गया होगा.

डायनासोर ने तैरकर पार किया था महासागर, जानिए कैसे इस नतीजे पर पहुंचे वैज्ञानिक

इस कब्र में मैमथ जानवर के दांतों के 53 मनके, जो एक कभी किसी हार का हिस्सा रहे होंगे, भी मिले थे. इसके साथ ही कब्र में मैमथ के कंधे की  हड्डी से बनी ब्लेड भी रखी गई थी जिसने छोटे शवों को करीब एक हजार साल सुरक्षित रखा था. पास में शिशु की कब्र में गेरू था और एक तीन इंच का मैमथ के दांत की पिन थी जो शायद दफनाने के समय चमड़े के कपड़ों में लगाई गई होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज