चीन में योगा सेलिब्रिटी है ये बच्चा, हर महीने करता है मोटी कमाई

चीन में योगा सेलिब्रिटी है ये बच्चा, हर महीने करता है मोटी कमाई
चीन का वंडर बॉय (फोटो साभारः पीपुल्स डेली)

सुन चुयांग ने ऑटिज्म बीमारी से निजात पाने के लिए दो साल की उम्र से योग सीखना शुरू किया. अब वह चीन में सेलिब्रिटी बन चुका है.

  • Share this:
आठ साल का एक बच्चा चीन का सबसे कम उम्र योगा टीचर बन गया है. वो इससे हर महीने करीब 16,000 डॉलर (10.90 लाख रुपये) कमाता है और इस कारण अपनी उम्र में वह चीन का सबसे धनी शख्स बन गया है.

चीन के राष्ट्रीय मीडिया पीपुल्स डेली के अनुसार ये बच्चा लोगों को प्राचीन भारतीय योग की ट्रेनिंग देता है. उसका नाम सुन चुयांग है और अंग्रेजी नाम माइक. चीन में वो काफी पॉपुलर है. सुन के बारे में स्टोरीज इस साल के शुरू में चीन के मीडिया ने प्रकाशित कीं. सुन चीन के पूर्वी प्रांत झेजियांग का रहने वाला है. वो केवल चीन का नहीं, बल्कि दुनिया का सबसे कम उम्र का सर्टिफाइड योगा टीचर है.

दो साल से योग सीखना शुरू किया
सुन की मां ने चीन के राष्ट्रीय दैनिक चाइना डेली से बताया कि उनके बेटे ने महज दो साल की उम्र में तब योग सीखना शुरू किया जब ये पता लगा कि वो हल्के तौर पर ऑटिज़म बीमारी का शिकार है. इस बीमारी का पता तब चला जबकि उसे दो साल का होने पर डे केयर सेंटर ले जाया गया था.
सात साल का योग इंस्ट्रक्टर बच्चा अपने पेरेंट्स के साथ (फोटो साभारः चाइना डेली)




इस बीमारी से बचाव के लिए उसकी मां उसे योगा सेंटर ले गईं. केवल एक साल के अंदर सुन ने बहुत अच्छी तरह योग करना शुरू कर दिया. वो योग के नेचुरल टैलेंट के रूप में उभरा. दो साल के बाद उसने ऑटिज्म की बीमारी से निजात भी पा ली.



योग से मिली ऑटिज्म से निजात
शोधकर्ताओं का कहना है कि कुछ तय योग पोस्चर से बच्चों के ऑटिज्म को खत्म किया जा सकता है. योग से उनका मानसिक और शारीरिक तौर पर बेहतर विकास होने लगता है.

चाइना रेडियो इंटरनेशनल पर भी सुन पर पिछले दिनों एक रिपोर्ट आई. इसमें कहा गया, सुन की जिंदगी को पटरी पर लाने के लिए उसकी मां ने भी पेरेंटल योगा ट्रेनिंग कोर्स किया. ऐसा करते हुए उन्होंने देखा कि उनके बेटे को योग में भगवान की ओर से उपहार सा मिला है. हालांकि सुन ज्यादा बोलता नहीं है, लेकिन योगा कोर्स की हर बात और हर मूव उससे अच्छी तरह याद हैं.



छह वर्ष की उम्र तक हो गया फेमस
छह वर्ष की उम्र तक सुन अपने स्पेशल टैलेंट की वजह से धीरे-धीरे फेमस होने लगा. स्थानीय योगा सेंटर उसे नियुक्त करना चाहते थे. सुन सौ से ऊपर लोगों को योगा में ट्रेंड कर चुका है.

चीन में लोकप्रिय हो रहा है योग
दरअसल 2000 के दशक से योग चीन में लगातार लोकप्रिय हो रहा है. चीनी लोग फिटनेस के मद्देनजर इसे काफी पसंद कर रहे हैं. सरकार द्वारा पिछले साल जारी एक रिसर्च पेपर योगा ब्लू बुकः चाइना योगा इंडस्ट्री डेवलपमेंट के अनुसार चीन में फिलहाल 10,800 पंजीकृत योगा केंद्र हैं. वहां लाखों लोग योग सीख रहे थे.
जब योग को अंतराष्ट्रीय योगा डे के रूप में मान्यता देने की बात हुई थी तब संयुक्त राष्ट्र में चीन ने भारत का समर्थन किया था. इस साल भी पूरे चीन में हजारों लोगों ने अंतरराष्ट्रीय दिवस पर योग का प्रदर्शन किया.

यह भी पढ़ें- #HumanStory: ऐसा होता है सरकारी अस्पताल के डॉक्टर का एक दिन

हर साल पिघल रही है 800 करोड़ टन बर्फ... तो क्या होगा अंजाम?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज