लाइव टीवी

100 साल की उम्र में केरल के चित्रन 30वीं बार करने वाले हैं हिमालय की ट्रेकिंग

News18Hindi
Updated: December 27, 2018, 8:27 PM IST
100 साल की उम्र में केरल के चित्रन 30वीं बार करने वाले हैं हिमालय की ट्रेकिंग
99 साल की उम्र में भी पूरी तरह से फिट हैं चित्रन

99 साल की उम्र में भी चित्रन का शरीर और दिमाग पूरी तरह से फिट है. इसके पीछे उनकी अनुशासित दिनचर्या है. वो बहुत कंट्रोल में खाते हैं, वेजीटेरियन हैं और हर रोज पैदल चलते हैं और योग भी करते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 27, 2018, 8:27 PM IST
  • Share this:
अगर इंसान मन में कुछ ठान ले तो कुछ भी नामुमकिन नहीं होता. ये बात केरल में रहने वाले चित्रन नंबूदिरीपाद के बारे में पूरी तरह से फिट बैठती है. चित्रन की उम्र 99 साल है और वो इस उम्र में 30वीं बार हिमालय पर ट्रेकिंग करने जा रहे हैं. 29 बार हिमालय की चोटियों को नाप आने के बाद चित्रन का इरादा है कि साल 2019 में जब वो 100 साल के पूरे हों तो 30वीं बार हिमालय की ट्रेकिंग करने जाएं.

चित्रन केरल के शिक्षा विभाग के पूर्व डायरेक्टर रह चुके हैं. 19 दिसंबर 2018 को उन्होंने अपना 99वां जन्मदिन मनाया. उन्हें शिक्षा के क्षेत्र में काम करने के लिए नेशनल अवार्ड भी मिल चुका है. उन्होंने अपनी 29वीं हिमालय यात्रा दिसंबर 2018 के पहले हफ्ते में की थी. 99 साल की उम्र में उन्होंने बद्रीनाथ और केदारनाथ की यात्रा की.

50 के दशक में शुरू हुआ था यह हिमालय प्रेम:

चित्रन नंबूदिरीपाद ने पहली बार हिमालय की यात्रा 1952 में की थी. उनका कहना है कि वो उस समय नौकरी कर रहे थे और उनकी पहली हिमालय यात्रा बुरी तरह से फ्लॉप हुई थी. दरअसल वो अपने एक दोस्त के साथ हिमालय की ट्रेकिंग कर रहे थे. लेकिन उन दोनों को फूड पाइजनिंग हो गई थी इसीलिए वो उस समय रूद्रप्रयाग के आगे नहीं जा पाए थे.

4 साल बाद हुई थी पहली सफल यात्रा:

पहली बार की असफ़ल हिमालय यात्रा के बाद चित्रन ने 4 साल बाद 1956 में पहली सफ़ल हिमालय ट्रेकिंग की थी. वो बताते हैं कि उस समय पहाड़ों की यात्रा करना बहुत मुश्किल हुआ करता था क्योंकि सड़कें आज की तरह नहीं बनी थीं. रुद्रप्रयाग से बद्रीनाथ जाने के लिए 90 किलोमीटर से ज्यादा जंगलों के बीच से पैदल जाना पड़ता था.



बचपन से ही हिमालय के प्रति था आकर्षण:

अपने बचपन को याद करते हुए चित्रन कहते हैं कि उनके घर के पास एक व्यक्ति रहता था जो हिमालय के किस्से सुनाता था. वी किस्से सुनकर उनके मन में भी हिमालय के प्रति आकर्षण पैदा हो गया. वहां का सुकून और ठंडी चोटियां उन्हें बहुत आकर्षित करती थीं.

इस उम्र में भी इतनी फिटनेस का राज:

99 साल की उम्र में भी चित्रन का शरीर और दिमाग पूरी तरह से फिट है. इसके पीछे उनकी अनुशासित दिनचर्या है. वो बहुत कंट्रोल में खाते हैं, वेजीटेरियन हैं और हर रोज पैदल चलते हैं और योग भी करते हैं. अपने जीवन का शतक मारने के साथ वो हिमालय की 30वीं ट्रेकिंग का भी रिकॉर्ड बनाने की तैयारी कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें:

मेघालय: क्या है रैट माइनिंग, जिसके चलते मौत के मुंह में फंसे हैं 15 मजदूर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 27, 2018, 8:27 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर