जानिए, ट्विटर पर कैसे हुई एक नई प्रजाति की खोज, ट्विटर पर ही रखा गया उसका नाम

जानिए, ट्विटर पर कैसे हुई एक नई प्रजाति की खोज, ट्विटर पर ही रखा गया उसका नाम
यही वह तस्वीर है जिसमें नई प्रजाति दिखाई दी थी.

ट्विटर (Twitte) पर शेयर की गई एक तस्वीर से परजीवी फफूंद (Parasite Fungi) की एक नई प्रजाति की खोज हुई.

  • Share this:
नई दिल्ली:  किसी जीव की नई प्रजाति (Species) की खोज दुनिया में कहीं भी हो सकती है. लेकिन क्या ऐसी खोज इंटरनेट, वह भी ट्विटर (Twitter) पर हो सकती है. सुनने में बहुत अजीब लगे, लेकिन यह सच है. यह किस्सा किसी फिल्म की कहानी लगे, फिर भी यह हकीकत है. एक परजीवी फफूंद (Parasite Fungi) की यह प्रजाति की खोज ट्विटर पर हुई और इस वजह से उसका नाम भी ट्विटर पर ही रख दिया गया.

क्या है इस प्रजाति का नाम
इस परजीवी फफूंद की प्रजाति को नाम दिया गया है ‘ट्रोग्लोमाइसेस ट्विटरी’(Troglomyces twitteri). माइसोकीज जर्नल में इस प्रजाति का वर्णन किया गया है. यह फफूंद पहले ट्विटर पर शेयर की गई तस्वीर पर दिखाई दिया था. भेजनेवाले को भी अंदाजा नहीं था कि इसमें किसी जीव की नई प्रजाति छिपी हुई है. यह एक परजीवी फफूंद है जो कीड़ों और मिलीपीड जैसे प्राणियों पर हमला करता है. यह जीव की बाहरी सतह पर रहता है.

ट्विटर की एक तस्वीर ने खींचा ध्यान
कोपनहेगन यूनिवर्सिटी के नेचुरल हिस्ट्री म्यूजियम ऑफ डेनमार्क में जीव विज्ञानी और एसोसिएट प्रोफेसर एना सोफिया रेबोलीरा का ध्यान इंटरनेट में ट्वीटर की तस्वीरों को देखते समय एक तस्वीर पर अटक गया. यह तस्वीर एक मिलीपीड (millipede ,Cambala annulata) की थी, जो उत्तरी अमेरिका के एक कनखजूरे का प्रकार है. लेकिन यह वह जीव नहीं है जिसकी हम चर्चा कर रहे हैं.



Twitter
पहली बार ऐसा हुआ है कि किसी प्रजाति की खोज ट्विटर पर हुई हो.


कहां से आई यह तस्वीर
यह तस्वीर डेरेक हेनन नाम के एक कीट विशेषज्ञ (Entomologist)  ने साल 2018 में भेजी थी. डेरेक फिलहाल वर्जीना टेक के पीएचडी छात्र हैं. डेरेक मिलीपीड की तस्वीरें उन लोगों को भेज रहे थे जिन्होंने अमेरिकी मध्यावधि चुनाव में वोट देने की जानकारी देने का डेरेक को ट्वीट किया था. यह तस्वीर डेरेक को एंटोमोलॉजी के छात्र केंडल डेविस ने भेजी थी. यह मिलीपीड ओहियो का था.

डेरेक ने अपने ट्वीट में लिखा
यह सभी के लिए सामान्य तस्वीर थी, मेरे लिए भी. आपको भी यह एक सामान मिलीपीड की तस्वीर ही लगेगी. लेकिन यदि आप सोफिय रेबोलीरिया हों तो आपके पास एक शानदार नजर होगी. जिसके पास छोटे से फफूंद को पहचानने का शानदार हुनर होगा. उन्होंने वह देखा जो कोई और नहीं देख सका.”
तस्वीर देख में क्या देखा रेबोलीरा नेरेबोलीरा ने इस तस्वीर में मिलीपीड पर कुछ छोटे बिंदु देखे. उन्होंने बताया कि वे  मिलीपीड की सतह पर कुछ फफूंद जैसा देख पा रहीं थीं. तब तक इस तरह की फफूंद अमेरिकन मिलीपीड पर पहले कभी नहीं दिखाई दिए थे. बस फिर क्या था. रेबोलीरा ने यह तस्वीर अपने सहकर्मी हेनरिक एंगहॉफ को दिखा. दोनों ने म्यूजम के संग्रह में पड़ताल शुरू कर दी.इस तरह की फफूंद का इससे पहले कोई रिकॉर्ड दर्ज नहीं हुआ था. इसके बाद पेरिस के म्यूजियम नेशनल डि हिस्टोइर नेचुरेले ने इस नए प्रजाति की खोज की पुष्टि की. इस शोध को सेर्गी सैंटामारिया, एंगहॉफ और रेबोलीरा ने पूरा किया. उन्होंने ट्वीट किया, “हाय ट्विटर! आपके लिए एक नई प्रजाति है जिसका नाम आपके ऊपर रखा गया है.”
यह पहली ही बार है कि किसी नई प्रजाति की खोज ट्विटर पर शेयर की गई तस्वीर के जरिए हुई हो. इसके साथ ही यह पहला ही संयोग है कि किसी प्रजाति का नाम ही ट्विटर पर रखा गया हो.

यह भी पढ़ें:

मंगल पर जल्दी ही उगाई जा सकेगी सलाद, इस शोध से वैज्ञानिकों को बंधी उम्मीद

अंतरिक्ष को जानने के लिए वैज्ञानिक क्यों उपयोग करते हैं अलग-अलग टेलीस्कोप

घूम रही है पृथ्वी की Inner Core, जानिए शोधकर्ताओं ने इसे कैसे जाना

वैज्ञानिकों को दिखा एक गैलेक्सी में X आकार, जानिए क्या है उस आकार की सच्चाई
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज