CBI की राह आसान नहीं, ये 4 हाई-प्रोफाइल वकील कर रहे हैं चिदंबरम की पैरवी

आईएनएक्स मीडिया केस (INX Media Case) में पी चिदंबरम (P Chidambaram) की पैरवी के लिए सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के सीनियर वकील सामने आए हैं. इसमें अभिषेक मनु सिंघवी और कपिल सिब्बल जैसे दिग्गज वकील शामिल हैं...

News18Hindi
Updated: August 22, 2019, 4:52 PM IST
CBI की राह आसान नहीं, ये 4 हाई-प्रोफाइल वकील कर रहे हैं चिदंबरम की पैरवी
चिदंबरम की पैरवी करने वाले वकील
News18Hindi
Updated: August 22, 2019, 4:52 PM IST
पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के सीनियर नेता पी चिदंबरम (P Chidambaram) को सीबीआई (CBI) ने कोर्ट में पेश किया है. आईएनएक्स मीडिया केस (INX Media Case) में चिदंबरम को बुधवार रात को सीबीआई ने गिरफ्तार किया था.  सीबीआई ने उनकी 5 दिनों की रिमांड मांगी है. उधर कोर्ट में पी चिदंबरम की पैरवी के लिए सुप्रीम कोर्ट के कई सीनियर वकील (Senior Advocate) सामने आए हैं.

पी चिदंबरम खुद भी सुप्रीम कोर्ट के वकील हैं. उन्होंने मद्रास हाईकोर्ट के साथ सुप्रीम कोर्ट में भी प्रैक्टिस की है. आईएनएक्स मीडिया केस में चिदंबरम की पैरवी अभिषेक मनु सिंघवी, कपिल सिब्बल, चिदंबरम की पत्नी नलिनी चिदंबरम और विवेक तन्खा जैसे सीनियर वकील कर रहे हैं. ये सारे सुप्रीम कोर्ट के दिग्गज वकीलों में से हैं.

अभिषेक मनु सिंघवी
अभिषेक मनु सिंघवी वरिष्ठ कांग्रेस नेता और सुप्रीम कोर्ट के सीनियर एडवोकेट हैं. इनका पूरा परिवार वकालत के पेशे से जुड़ा रहा है. राजस्थान से ताल्लुक रखने वाले अभिषेक मनु सिंघवी ने कैंब्रिज यूनिवर्सिटी से कानून की पढ़ाई की है. लॉ की डिग्री लेने के बाद वहीं से उन्होंने पीएचडी की डिग्री हासिल की.

अभिषेक मनु सिंघवी ने अपने पिता के ऑफिस से वकालत के पेशे की शुरुआत की. सुप्रीम कोर्ट ने सिर्फ 34 साल की उम्र में उन्हें सीनियर एडवोकेट का दर्जा दे दिया था.

advocates who argue for p chidambaram in inx media case abhishek manu singhvi kapil sibbal vivek tankha and nalini
अभिषेक मनु सिंघवी


अभिषेक मनु सिंघवी सुप्रीम कोर्ट के साथ हाईकोर्ट में भी प्रैक्टिस करते हैं. सिंघवी भारत के एडिशनल सॉलिसीटर जनरल रह चुके हैं. वो सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के वाइस प्रेसीडेंट रह चुके हैं. अभिषेक मनु सिंघवी के दोनों बेटे भी वकील हैं.
Loading...

इनके पिता डॉ लक्ष्मी मल सिंघवी भी सुप्रीम कोर्ट के सीनियर एडवोकेट रह चुके हैं. लक्ष्मी मल सिंघवी इंग्लैंड में भारत के राजदूत रह चुके हैं. अभिषेक मनु सिंघवी के परदादा डॉ एल एम सिंघवी राजस्थान के एडवोकेट जनरल रह चुके हैं.

कपिल सिब्बल
कपिल सिब्बल कांग्रेस के सीनियर लीडर और सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील हैं. इन्हें सुप्रीम कोर्ट का माइक टायसन कहा जाता है. अपनी बहस के जरिए वो कोर्ट को लाजवाब कर देते हैं. कपिल सिब्बल के बारे में कहा जाता है कि वो अपने मुकदमे को लेकर ऐसी तैयारी करते हैं कि मरे हुए केस में भी जान डाल दें.

कई बार कपिल सिब्बल ने उन केसों को भी अपने हाथ में लिया है, जिसे लेने का जोखिम दूसरे वकील नहीं ले पाते. पंजाब से ताल्लुक रखने वाले कपिल सिब्बल के पिता हीरा लाल सिब्बल मशहूर वकील रह चुके हैं. बंटवारे के बाद वो भारत आ गए थे. 1994 में इंटरनेशनल बार एसोसिएशन ने हीरा लाल सिब्बल को लिविंग लिजेंड ऑफ लॉ का खिताब दिया गया था.

advocates who argue for p chidambaram in inx media case abhishek manu singhvi kapil sibbal vivek tankha and nalini
कपिल सिब्बल


कपिल सिब्बल ने 1970 में बार एसोसिएशन जॉइन किया था. 1973 में उन्होंने आईएएस की परीक्षा पास की थी. लेकिन सफल होने के बावजूद उन्होंने सिविल सर्विस जॉइन नहीं किया. उनका मानना था कि एक वकील के सामने आईएएस ऑफिसर जीरो होता है.

1974 से उन्होंने कानून की प्रैक्टिस शुरू की. सिब्बल ने हॉवर्ड लॉ स्कूल से कानून में मास्टर्स की पढ़ाई की है. 1983 में उन्हें सीनियर एडवोकेट बनाया गया. कपिल सिब्बल भारत के एडिशनल सॉलिसीटर जनरल भी रह चुके हैं. वो सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिशन के प्रेसीडेंट भी रह चुके हैं. कपिल सिब्बल के दोनों बेटे अमित और अखिल सिब्बल भी सुप्रीम कोर्ट के वकील हैं.

विवेक तन्खा
विवेक तन्खा सुप्रीम कोर्ट से सीनियर वकील और मध्य प्रदेश से कांग्रेस के सीनियर नेता हैं. विवेक मध्य प्रदेश से राज्यसभा सांसद हैं. 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने इन्हें जबलपुर सीट से उतारा था.

विवेक तन्खा मध्य प्रदेश के सबसे युवा एडवोकेट जनरल रह चुके हैं. 1999 में हाईकोर्ट ने इन्हें सीनियर एडवोकेट का दर्जा दिया था. मध्य प्रदेश हाईकोर्ट के एक बेंच ने 1998 में उन्हें जज बनने का ऑफर दिया था. लेकिन निजी वजहों से उन्होंने इनकार कर दिया.

advocates who argue for p chidambaram in inx media case abhishek manu singhvi kapil sibbal vivek tankha and nalini
विवेक तन्खा


मध्य प्रदेश के वो पहले वकील हैं, जिन्हें भारत का एडिशनल सॉलिसीटर जनरल बनाया गया. 2000 में मध्य प्रदेश से छत्तीसगढ़ के अलग होने के बाद इन्होंने राज्य के बंटवारे वाले पेंचीदे मसले में कानूनी सहायता प्रदान की. मध्य प्रदेश के व्यापमं स्कैम का इन्हें व्हिसल ब्लोअर माना जाता है.

नलिनी चिदंबरम
पी चिदंबरम की पत्नी नलिनी चिदंबरम भी सीनियर एडवोकेट हैं. नलिनी मद्रास हाईकोर्ट के साथ सुप्रीम कोर्ट में भी प्रैक्टिस करती हैं. नलिनी के पिता पीएस कैलासम सुप्रीम कोर्ट के जज रह चुके हैं.

advocates who argue for p chidambaram in inx media case abhishek manu singhvi kapil sibbal vivek tankha and nalini
नलिनी चिदंबरम


नलिनी चिदंबरम कोर्ट में ज्यादातर टैक्स के मामले देखती हैं. वो कई वर्षों तक इनकम टैक्स स्टैंडिंग काउंसिल रह चुकी हैं. नलिनी का नाम सारदा चिट फंट घोटाले में भी आ चुका है. सीबीआई ने उन्हें 1.4 करोड़ के घूस लेने के आरोप में चार्जशीट किया हुआ है.

ये भी पढ़ें: अपनी गिरफ्तारी पर तब अमित शाह ने कहा था- मैं समंदर हूं, लौटकर जरूर आऊंगा

INX Media के अलावा इन 4 मामलों में भी चिदंबरम पर ईडी की नज़र

कब कैसे आईएनएक्स मीडिया केस में फंसते गए कार्ति और पी. चिदंबरम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 22, 2019, 4:24 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...