जानिए क्या बता रही है अफ्रीका में मिली छोटे बच्चे की 78 हजार पुरानी कब्र

माना जा रहा है यह अब तक की खोजी गई सबसे पुरानी मानव कब्र (Oldest Human Grave) है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock)

माना जा रहा है यह अब तक की खोजी गई सबसे पुरानी मानव कब्र (Oldest Human Grave) है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock)

अफ्रीका (Africa) के कीनिया (Kenya) में 3 साल के बच्चे की 78 हजार साल पुरानी कब्र से पाषाण युग (Stone Age) के होमोसेपियन्स की संस्कृति के जानकारी मिली है.

  • Share this:

हाल ही में अफ्रीका (Africa) में एक पुरातन कब्र (Ancient Grave) की खोज हुई है जो कई लिहाज से खास मानी जा रही है. मिट्टी की यह कब्र 78 हजार साल पुरानी है जो अब तक खोजी गई सबसे पुरानी कब्र मानी जा रही है. कीनिया (Kenya) के तट के बास मिली यह कब्र एक तीन साल से भी कम उम्र के बच्चे की है.

बहुत कुछ मिला है कब्र में

कब्र में बच्चे के पैरों को उसकी सीने के पास सवाधानी से लगाकर रखा गया था. इसके अलावा इस कब्र में गहने और कुछ ऐसी जीजें भी मिली है जो उस इलाके में पाषाण युग की कब्रों में मिला करते हैं. इसकी जानकारी विस्तार से नेचर जर्नल में प्रकाशित हुई है. कब्र में जिस बच्चे का शव है, वह एक कफन में बंधा है और उसका सिर एक तकिए पर रखा गया था.

सामाजिक और सांस्कृतिक तौर से विशेष
स्पेन में बुर्गोस के नेशनल रिसर्च सेंटर फॉर ह्यूमन इवोल्यूशन की निदेशक मारिया मार्टिनोन टोरेस का मानना है कि इससे पता चलता है कि वहां के समुदाय ने कुछ अंतिम संस्कार की रस्मों को अदा किया था. यह असामान्य खोज होमोसेपियन्स में जटिल सामाजिक बर्ताव के साथ अफ्रीका और उसके बाहर आधुनिक जनसंख्याओं में सांस्कृतिक अंतर रेखांकित करती है.

History, Africa, Kenya, Oldest Human Grave , Stone Age, homo sapiens, Archaeology, Spain,
पुरा पाषाण काल में मानवीय कब्र (Human Grave) बहुत कम मिली हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)

जब मिली तब बहुत नाजुक थी हड्डियां



इससे पहले साल 2013 में पांगा या साइदी गुफाओं में बच्चों की हड्डियों के टुकड़े मिले थे. लेकिन इसके पांच साल बाद यहां एक कम गहरी गोल कब्र मिली जो कब्र के तल के तीन मीटर नीचे मिली जो पूरी तरह से खुल गई थी जिसकी वजह से सड़ गल गए थे. कीनिया की नेशनल म्यूजियम के एमानुएल एनीडीमा ने बताया कि उस समय उन्हें निश्चित तौर पर पता नहीं था कि उन्होंने क्या खोजा है. हड्डियां इतनी नाजुक थीं कि उनपर उसी जगह अध्ययन नहीं किया जा सकता था.

चिली के सूखे रेगिस्तान में मिले पौधे खाने वाले विशाल डायनासोर के अवशेष

स्पेन की लैब में हुआ अध्ययन

पुरातत्वविदों ने हड्डियों के स्थिर कर प्लास्टर किया और उन्हें बांध कर पहले म्यूजियम और फिर स्पेन के रिसर्च सेंटर में लाए. मार्टिनोन टोरेस ने बताया कि उन्होंने अध्ययन की शुरुआत खोपड़ी और चेहरे से की. रीढ़ और सीने की हड्डियां बहुत अच्छे से सुरक्षित थीं. यहां तक की छाती के पिंजर के मोड़ तक संरक्षित थे. इसके बपाद माइक्रोस्कोप और अन्य विश्लेषणओं से पता चला कि वह बच्चा गड्डे में बहुत सावधानी से दफनाया गया था और 80 हजार साल तक वैसा ही रहा.

History, Africa, Kenya, Oldest Human Grave, Stone Age,  homo sapiens, Archaeology, Spain,
पाषाण काल (Stone Age) में इस तरह की होमो सेपियन कब्र 30 हजार साल पहले के समय की ही मिली हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock)

बहुत कम कब्र मिली हैं इस युग की

होमोसेपियन्स के बारे में कहा जाता है कि वे अफ्रीका में सबसे पहले रहा करते थे लेकिन यूरोप और मध्यपूर्व के मुकाबले यहां उनके अंतिम संस्कार के रिवाजों के बारे में बहुत कम पता था. होमोसेपियन्स के बच्चों की कब्रों के बारे में मध्य पाषाण युग अंत के समय तक पता चला था.

बड़ी आपदा के बाद बड़े हो गए थे स्तनपायी जीवों के दिमाग- शोध

इस अवस्था मे शव रखने का कारण

शोधकर्ताओं का कहना है कि मुड़े हुए शव वाली कब्र बहुत आम हैं, लेकिन इनका सटीक कारण नहीं पता चल सका है. कुछका कहना है कि इसके पीछे शव को छोटी जगह में रखना बच्चों की सोने की स्थिति में रखने जैसे व्यवहारिक कारण हो सकते हैं. कफन में ऐसे बांधने का कारण शव को गर्मी पहुंचाना भी हो सकता है. पाषाण युग की कब्रें उससमय की संस्कृति की शुरुआत के बारे में बहुत कुछ बताती हैं. ये क्रियाएं  इस युग में अफ्रीका के कई हिस्सों का सांस्कतिक हिस्सा रही होंगी

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज