अपना शहर चुनें

States

यूरोपियन देशों में अजीबोगरीब ढंग से मनाते हैं क्रिसमस का अगला दिन, होते हैं ढेरों हादसे

आज का दिन इंग्लिश कैलेंडर में बॉक्सिंग डे के नाम से जाना जाता है- सांकेतिक फोटो (pxhere)
आज का दिन इंग्लिश कैलेंडर में बॉक्सिंग डे के नाम से जाना जाता है- सांकेतिक फोटो (pxhere)

क्रिसमस का खुमार लंबा टिके, इसके लिए बॉक्सिंग डे (Boxing Day celebration after Christmas) की खोज हुई. ये दिन ब्रिटेन और कई यूरोपियन देशों में मनाया जाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 26, 2020, 8:09 AM IST
  • Share this:
क्रिसमस का अगला दिन यानी 26 दिसंबर इंग्लिश कैलेंडर में बॉक्सिंग डे के नाम से जाना जाता है. इस दिन के नाम से ही बॉक्सिंग जैसे किसी स्पोर्ट की कल्पना आ जाती है और कम ही लोग जानते हैं कि इसका किसी मार-पीट से कोई लेना-देना नहीं. परिवार के साथ क्रिसमस की थकान उतारने के लिए बना ये दिन ब्रिटेन और ब्रिटिश कॉमनवेल्थ देशों में मनाया जाता है.

बॉक्सिंग डे अब सेल डे के नाम से भी जाना जाने लगा है क्योंकि इस दिन इन देशों में बहुत कम कीमत पर चीजें मिलती हैं. पढ़ें, इस दिन के इतिहास से लेकर इससे जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें.

ये भी पढ़ें: क्या है ब्लैक फंगस, जो Covid के साथ मिलकर जानलेवा साबित हो रहा है?



बॉक्सिंग डे का सबसे पहला जिक्र 1833 में ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी में आया. हालांकि चार सालों बाद चार्ल्स डिकेन्स की किताब द पिकविक पेपर्स में इस टर्म का जिक्र होने के बाद से इसे जाना जाने लगा. किसलिए त्योहार के दूसरे ही दिन दोबारा किसी छुट्टी की जरूरत आ गई, इसके पीछे काफी सारी कहानियां हैं. इसमें से सबसे प्रचलित कहानी के अनुसार कई सौ सालों पहले क्रिसमस के अगले दिन मालिक अपने अधीनस्थों को क्रिसमस बॉक्स दिया करते थे.
पहले क्रिसमस के अगले दिन मालिक अपने अधीनस्थों को क्रिसमस बॉक्स दिया करते थे सांकेतिक फोटो (pxhere)


इस बॉक्स में तोहफे. थोड़े पैसे, केक, मिठाइयां जैसी चीजें होती थीं. ये एक तरह से हॉलीडे बोनस हुआ करते. इसी दिन नौकरों को अपने घर जाने के लिए एक दिन की छुट्टी भी मिलती. इसी बॉक्स के नाम पर ये दिन बॉक्सिंग डे बना. एक दूसरी मान्यता कहती है कि पहले हर चर्च में एक चैरिटी बॉक्स हुआ करता जिसे 26 दिसंबर को ही खोला और गरीबों में बांटा जाता था. इसी के नाम पर दिन का भी नामकरण हुआ.

ये भी पढ़ें: Explained: क्या कारण है जो बार-बार ईरान और अमेरिका भिड़ते रहते हैं? 

ये दिन ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, न्यूजीलैंड, बारबाडोस, हांगकांग, केन्या, गुआना, साउथ अफ्रीका, जमैका, थाइलैंड और यूएस के कुछ राज्यों में मनाया जाता है. 1871 में इसे बैंक हॉलीडे घोषित किया गया. सरकारी दफ्तरों में छुट्टी के साथ इस दिन शाम तक पब्लिक ट्रांसपोर्ट भी सुस्ताते रहते हैं यानी कम से कम गाड़ियां सड़कों पर होती हैं. कई देशों में इसे सेकंड क्रिसमस डे भी कहा जाता है और इस दिन क्रिसमस का बचा हुआ केक खाना एक रस्म है.

इस दिन लोग जमी हुई झील में तैरने कूद पड़ते हैं- सांकेतिक फोटो (pixabay)


बॉक्सिंग डे मूलतः अपने दोस्तों और परिवार के बीच बिताया जाने वाला दिन है. इस दिन क्रिसमस गिफ्ट खोले जाते हैं, बचा-खुचा खाना खत्म किया जाता है और शॉपिंग की जाती है. ब्रिटेन में लोग अजीबोगरीब एडवेंचर में भी शामिल होते हैं. जैसे कई लोग इस दिन इंग्लिश चैनल में तैरने को कूद पड़ते हैं जिसका पानी बर्फीला ठंडा होता है. कई लोग बर्फ जमी सड़कों पर दौड़ लगाते और हाथ-मुंह तुड़वाते हैं, इसके बाद भी इस दिन ऐसी एक्टिविटीज बढ़ती जा रही हैं. फुटबॉल और सॉकर इस दिन खूब खेला जाता है.

ये भी पढ़ें: कौन हैं मैकेंजी स्कॉट, जो कोरोना काल में बनीं दुनिया की सबसे बड़ी दानवीर 

शॉपिंग भी ऐसा ही एक स्पोर्ट है. ब्लैक फ्राइडे की तरह ये दिन भी शॉपिंग डे में तब्दील हो चुका है. इस दिन काफी सारे ब्रांड्स अपने सामान पर भारी छूट देते हैं. मॉलों, बाजारों में भीड़ उमड़ आती है. कई बार इसी वजह से बड़े एक्सिडेंट हो चुके हैं. यही वजह है कि बॉक्सिंग डे मनाने वाले देशों में हफ्तों पहले से ही भीड़ पर संयम बरतने के अनुरोध पोस्टरों और रेडियो के माध्यम से होने लगते हैं.

ब्रिटेन में बॉक्सिंग डे पर पहले शिकार पर जाने की रस्म भी हुआ करती थी लेकिन हंटिंग एक्ट 2004 आने के बाद से इसपर रोक लगी. हालांकि शिकार पसंद करने वाले लोग अब फेक तरीके से इस परंपरा को निभाते हैं और जंगलों को जाने वाली सड़कों पर शिकारी सजधज वाले लोगों का रेला लग जाता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज