लाइव टीवी

अगस्ता वेस्टलैंड मामले में आया अहमद पटेल का नाम, जानें क्या है पूरा मामला?

News18Hindi
Updated: April 5, 2019, 1:00 PM IST
अगस्ता वेस्टलैंड मामले में आया अहमद पटेल का नाम, जानें क्या है पूरा मामला?
प्रतीकात्मक तस्वीर

इतालवी कोर्ट के फैसले में पूर्व आईएएफ चीफ एस पी त्यागी का भी नाम सामने आया था.

  • Share this:
अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने चार्जशीट ने बड़ा खुलासा किया है. ईडी ने चार्जशीट में इस मामले के बिचौलिया क्रिश्चियन मिशेल से जुड़े कई अहम खुलासे किए हैं. मिशेल ने जांच के दौरान AP का मतलब अहमद पटेल और FAM का मतलब फैमिली बताया है. चार्जशीट में बताया गया है कि मिशेल के एक पत्र के अनुसार तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर उनकी पार्टी के नेताओं द्वारा दबाव डाला गया था.

प्रवर्तन निदेशालय ने चार्जशीट में इस बात का भी जिक्र किया है कि कई एयरफोर्स अधिकारियों और राजनीतिक व्यक्तियों को घूस की रकम 30 मिलियन यूरो दी गई. इससे पहले आरोपी बिचौलिए सुशेन मोहन गुप्ता ने बड़ा खुलासा करते हुए कहा था कि अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर घोटाला मामले में ‘RG’ ने साल 2004 से 2016 के बीच 50 करोड़ रुपये की घूस ली. ईडी ने बताया कि सुशेन गुप्ता ने घूस लेने की बात तो कबूल कर ली है लेकिन आरजी कौन है इसके बारे में कुछ भी बताने को तैयार नहीं है.

पूरा मामला है क्या?
अगस्ता हेलिकॉप्टर घोटाले के बारे में कहा जा रहा था कि 53 करोड़ डॉलर का ठेका पाने के लिए एक कंपनी ने भारतीय अधिकारियों को 100-125 करोड़ रुपये तक की रिश्वत दी थी. इतालवी कोर्ट के फैसले में पूर्व आईएएफ चीफ एस पी त्यागी का भी नाम सामने आया था.



कौन हैं एस पी त्यागी?
एसपी त्यागी का पूरा नाम शशींद्र पाल त्यागी है. त्यागी का जन्म 14 मार्च 1945 को मध्यप्रदेश के इंदौर में हुआ था.  31 दिसंबर 1963 को एस पी त्यागी भारतीय वायु सेना में शामिल हुए और 1965 और 1971 की जंग लड़ी. जब सन 1980 में जगुआर भारतीय वायु सेना में शामिल किया गया तो उस दौरान त्यागी का नाम भी उसे उड़ाने वाले आठ पायलटों में शामिल था. 1985 में उन्हें प्रतिष्ठित वायुसेना मेडल से नवाजा गया था.  त्यागी ने 31 दिसंबर 2004 को भारतीय वायुसेना के 20वें एयर चीफ मार्शल के रूप में कार्यभार संभाला था. हेलीकॉप्टर घोटाले में एसपी त्यागी का नाम सामने आया.

हेलीकॉप्टर घोटाले में शक के दायरे में आए एसपी त्यागी का पूरा नाम शशींद्र पाल त्यागी है


हेलीकॉप्टर घोटाला क्या है?
भारतीय वायुसेना के लिए 12 हेलि‍कॉप्टरों दरकार थी. इसी खरीद के लिए एक एंग्लो-इतालवी कंपनी अगस्ता-वेस्टलैंड के साथ साल 2010 में किए गए 3 हजार 600 करोड़ रुपये के करार किया गया. इस करार को जनवरी 2014 में भारत सरकार ने रद्द कर दिया. रद्द किए जाने के बाद 360 करोड़ रुपये के कमीशन के भुगतान का आरोप लगा. कमीशन के भुगतान की खबरें आने के बाद भारतीय वायुसेना को दिए जाने वाले 12 एडब्ल्यू-101 वीवीआईपी हेलीकॉप्टरों की सप्लाई के करार पर भी सरकार ने फरवरी 2013 में रोक लगा दी थी. जिस वक्त करार पर रोक लगाने का आदेश जारी किया गया उस वक्त भारत 30 फीसदी भुगतान कर चुका था और तीन अन्य हेलीकॉप्टरों के लिए आगे के भुगतान की प्रक्रिया चल रही थी. इतालवी रक्षा कंपनी ने 3,600 करोड़ रुपये में 12 चॉपर की डील की थी, जिसमें भ्रष्टाचार को लेकर इटली की अदालत ने 2014 के पिछले अदालती आदेश को पलट दिया.

फर्जी बिल की कहानी

फिनमेकानिका हेलीकॉप्टर की सिस्टर कंपनी अगस्ता वेस्टलैंड के पूर्व सीईओ बुर्नो स्पागनोलीनी को अदालत ने चार साल की कैद की सजा सुनाई थी. अदालत ने भारत सरकार को 12 हेलीकॉप्टरों की बिक्री में भी दोनों को दोषी पाया. ओर्सी और स्पागनोलीनी दोनों पर अंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार और भारत के साथ अनुबंध में करीब 4,250 करोड़ रुपये के रिश्वत के लेने-देन के सिलसिले में फर्जी बिल बनाने का आरोप है.

अगस्ता वेस्टलैंड मामले में कथित तौर पर बिचौलिए की भूमिका निभाने वाले क्रिश्चिएन मिशेल


क्रिश्चिएन मिशेल का क्या ?

ब्रिटिश नागरिक को भारत भेजे जा सकने के सवाल पर संयुक्त अरब अमीरात के राजदूत अहमद अलबाना ने कहा था, ‘मुझे नहीं पता. एक न्यायिक प्रणाली है, संयुक्त अरब अमीरात और भारत के बीच समझौते हैं, हमें अपनी न्यायिक प्रणाली में विश्वास है.’

मिशेल को फरवरी 2017 में यूएई में गिरफ्तार कर लिया गया था. मिशेल के वकील ने आरोप लगाया था की भारतीय जांच एजेंसी सीबीआई उनके क्लाइंट पर दबाव बना रही है. हालांकि सीबीआई ने मिशेल के वकील के इन आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया था. ईडी ने जून 2016 में मिशेल के खिलाफ आरोप लगाया था कि उसने अगस्ता वेस्टलैंड से करीब 225 करोड़ रुपये मिले. ईडी ने कहा था कि यह पैसा और कुछ नहीं, बल्कि कंपनी द्वारा 12 हेलिकॉप्टरों के समझौते को अपने पक्ष में कराने के लिए वास्तविक लेन-देन के नाम पर दी गई रिश्वत थी.

भारत को क्यों चाहिए था अगस्ता?

बेहद मजबूत एयरफ्रेम वाले अगस्ता में तीन मजबूत इंजन लगे थे. इसमें 10 वीवीआईपी पैसेंजर को बिठाने तक का इंतजाम होता है. 360 डिग्री के सर्विलांस रडार लगा के साथ, आत्मरक्षा सूट, रीट्रेक्टेबल लैंडिंग गियर भी लगे होते हैं. हाई टेल बूम के जरिए वीवीआईपी की कारें सीधे पिछले एक्जिट तक आ सकती हैं. 74.92 फुट लंबा और 21.83 फुट ऊंचा यह अगस्ता 278 किलोमीटर प्रति घंटा से उड़ सकता है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 5, 2019, 1:00 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,709

     
  • कुल केस

    6,412

     
  • ठीक हुए

    503

     
  • मृत्यु

    199

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 10 (08:00 AM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,151,685

     
  • कुल केस

    1,604,072

    +788
  • ठीक हुए

    356,656

     
  • मृत्यु

    95,731

    +38
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर