होम /न्यूज /नॉलेज /गृह मंत्री बनते ही अमित शाह सबसे पहले करेंगे इन सात मामलों का निपटारा!

गृह मंत्री बनते ही अमित शाह सबसे पहले करेंगे इन सात मामलों का निपटारा!

अमित शाह बने गृह मंत्री, सुलझाएंगे ये 7 मामले

अमित शाह बने गृह मंत्री, सुलझाएंगे ये 7 मामले

गुजरात के गृह मंत्री रहने के दौरान अमित शाह ने पहले भी पाकिस्तानी सीमाओं से होने वाली घुसपैठ जैसे मामलों का निपटारा किय ...अधिक पढ़ें

    भारतीय जनता पार्टी (BJP) के सबसे कामयाब राष्ट्रीय अध्यक्ष का दायित्व निभाने के बाद अब अमित शाह को नरेंद्र मोदी सरकार 2.0 में गृह मंत्री बनाया गया है. फिलहाल वह बीजेपी अध्यक्ष के पद पर बरकरार हैं, लेकिन पार्टी के संविधान के अनुसार जल्द ही यह पद खाली कर देंगे. उनकी अगली जिम्मेदारी भारत के गृह मंत्री की होगी. वह पहले गुजरात में गृह मंत्री पद का निर्वहन कर चुके हैं. वह बखूबी इस पद के कामों को समझते हैं. पीएम मोदी के पहले कार्यकाल में इस पद पर लगातार पांच सालों तक पूर्व बीजेपी अध्यक्ष राजनाथ सिंह आसीन थे, लेकिन अब यह पद अमित शाह को दिया गया है. ऐसा माना जा रहा है कि वह एक मजबूत गृह मंत्री साबित होंगे. उनके लिए शुरुआती सात चुनौतियां इस प्रकार होंगी.

    1. आतंकवाद पर और ज्यादा कड़ा होगा भारत का रुख
    जम्मू-कश्मीर समेत भारत के कई अन्य राज्यों से लगातार आतंकवादियों को सहायता और आतंकवाद के फलने-फूलने की खबरें आती रहती हैं. ऐसा माना जा रहा है कि गृह मंत्री बनने के बाद अमित शाह सबसे पहले घर में पल रहे आतंकवाद से निपटने की योजना बनाएंगे. साथ ही सीमा पर होने वाली आतंकवादी घटनाओं पर लगाम लगाने के लिए नीतियां तैयार करेंगे. गुजरात के गृह मंत्री रहने के दौरान उन्होंने पहले भी पाकिस्तानी सीमाओं से होने वाली घुसपैठ जैसे मामलों का निपटारा किया है.

    News18 Hindi

    2. पाकिस्तान व पड़ोसी देशों का पड़ेगा अमित शाह से पाला
    बतौर गृह मंत्री अमित शाह से सबसे ज्यादा उम्मीदें पाकिस्तान के साथ रिश्ते सुधारने को लेकर की जा रही हैं. बतौर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की कूटनीतिक क्षमता का आभास पहले से देश को है. ऐसे में माना जा रहा है कि ना केवल पाकिस्तान बल्कि वह चीन और नेपाल के साथ तल्‍ख हुए रिश्तों में सुधार लाएंगे. इसके अलावा म्यांमार व बंग्लादेश से होने वाली घुसपैठ पर भी दोनों देशों के सरकारों के बीच ऐसी कड़ी बनाने की कोशिश करेंगे कि ऐसे मामले सामने ना आएं. वैसे भी श्रीलंका और भूटान के साथ भारत के रिश्ते पहले से ही ठीक हैं.

    यह भी पढ़ें: बाबा रामदेव की पतंजलि को पड़ी पैसों की जरूरत, इस वजह से मांगना पड़ रहा है क़र्ज़

    3. नक्सलियों के ‌लिए लद जाएंगे दिन

    लोकसभा चुनाव के दौरान भी महाराष्ट्र में एक बड़ा नक्सली हमला हुआ था. ऐसे में अमित शाह के गृह मंत्री बनने के बाद सबसे पहले इसके निपटारे की उम्मीद की जा रही है. छत्तीसगढ़, झारखंड, मध्य प्रदेश व महाराष्ट्र के कुछ क्षेत्रों में अब भी नक्सलियों के सक्रिय होने की खबरें आती हैं.

    4. घरेलू सुरक्षा, अपराधियों की खैर नहीं
    अमित शाह के गृह मंत्री बन जाने से देश के अंदर आपराध‌िक घटनाओं को अंजाम देने वालों पर भी नकेल कसेगी. गुजरात में अमित शाह के गृह मंत्री रहने के दौरान प्रदेश के क्राइम रेट में काफी गिरावट आई थी. ऐसा बताया जा रहा है कि उनके गृह मंत्री पद पर आने के बाद आपराध‌िक प्रवृत्ति के लोगों में डर का महौल बनेगा.

    News18 Hindi

    5. जम्मू-कश्मीर में अब सुधरेंगे हालात
    जम्मू-कश्मीर में आंतरिक सुरक्षा व घुसपैठ के चलते बढ़ने वाले आतंकवाद व बिगड़े हालात में अब सुधार की गुंजाइश होगी. अमित शाह के गृह मंत्री बनने के बाद की सबसे बड़ी चुनौती भी उनके लिए जम्मू-कश्मीर ही होगी. पिछले पांच सालों में लगातार जम्मू-कश्मीर में हिंसा व पत्‍थरबाजी की घटनाओं में इजाफा हुआ है.

    यह भी पढ़ें:  पीयूष गोयल फिर बने रेल मंत्री, कॉमर्स और इंडस्ट्री मंत्रालय की भी मिली जिम्मेदारी

    6. रोहिंग्या और घुसपैठियों पर लगेगी लगाम
    पश्चिम बंगाल समेत नॉर्थ ईस्ट में एनआरसी लगाने के बाद भी लगातार चल रही रोहिंग्या मुसलमान और घुसपैठियों के मुद्दे पर अब से और ज्यादा ठोस कदम की अपेक्षा की जा रही है. अमित शाह इस मामले में सबसे बेहतर मंत्री साबित होंगे, ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है.

    News18 Hindi

    7. पश्चिम बंगाल में हिंसा का होगा निवारण
    लोकसभा चुनाव के दौरान सबसे ज्यादा हिंसात्मक घटनाओं की खबरें पश्चिम बंगाल से आईं. इससे पहले पंचायत चुनाव के दौरान भी भारतीय जनता पार्टी और तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं में हिंसक झड़पें होने की खबरें आम थीं. ऐसे में माना जा रहा है कि अमित शाह के गृह मंत्री बनने से ऐसे मामलों का निपटारा तेजी से होगा.

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    Tags: Amit shah, BJP, Home ministry, Narendra modi

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें