लाइव टीवी

इस शहर के नीचे दफन है 500 साल पुरानी सभ्‍यता

News18Hindi
Updated: October 20, 2019, 7:52 PM IST
इस शहर के नीचे दफन है 500 साल पुरानी सभ्‍यता
लैटिन अमेरिकी देश मेक्सिको की राजधानी मेक्सिको सिटी के नीचे प्राचीन शहर रे अवशेष मिले हैं.

1773 में स्पैनिश विजेता हर्नान कोर्टेस (Hernan Cortes) ने यहां कब्जा करके एज्टेक मंदिरों के ऊपर मेट्रोपॉलियन चर्च का निर्माण किया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 20, 2019, 7:52 PM IST
  • Share this:
लैटिन अमेरिकी (Latin America) देश मैक्सिको (Mexico) में 1970 के दशक में एक प्राचीन मेसो अमरीकी सभ्यता की खोज हुई. दरअसल, इस प्रचीन सभ्यता की खोज अचानक मजदूरों द्वारा खुदाई के दौरान हुई थी. 1978 में मजदूरों द्वारा बिजली की लाइन बिछाने के लिए खुदाई की जा रही थी. इस दौरान संयोग से मोनोलिथ शिला मिली, जिससे महान मंदिर (टेम्प्लो मेयर) का पता चला. 1978 में टेम्प्लो मेयर की खुदाई का आदेश दिया गया.

स्पैनिश साम्राज्य के पुराने नक्शे और दस्तावेजों के आधार पर पुरातत्वविदों ने आस-पास के इलाकों में खुदाई की. आज भी खोदाई के दौरान कई महत्वपूर्ण जानकारी हमारे सामने आ रहीं हैं. 1773 में स्पैनिश आक्रमणकारी हर्नान कोर्टेस ने यहां कब्जा करके एज्टेक मंदिरों के ऊपर मेट्रोपॉलियन चर्च का निर्माण किया था.

खोदाई के दौरान कई महत्वपूर्ण जानकारी हमारे सामने आ रहीं हैं.


एज्टेक साम्राज्य के शासक मेक्सिको के मूल निवासी

मेक्सिको घाटी में रहने वाले मूल निवासियों ने एज्टेक साम्राज्य की स्थापना की और वहां शासन किया.  उन्होंने पवित्र मंदिरों का निर्माण कराया, जो प्रकाश के देवता सूर्य को समर्पित हैं. एज्टेक साम्राज्य के कई मंदिर भूकंप के कारण नष्ट हो गए हैं. गौरतलब है कि मेक्सिको सिटी आज भी भूकंप की उच्च संभावना वाला क्षेत्र है. मेक्सिको सिटी में अभी भी ऐसे हजारों अछूते प्राचीन अवशेष हैं, जिन तक हम पहुंच नहीं पाए हैं.

टेनोच्टिलन में 500 वर्गमीटर की खुदाई
टेम्प्यो मेयर के पास स्थित टेनोच्टिलन में 500 वर्गमीटर के क्षेत्र की खुदाई में कई महत्वपूर्ण अवशेषों का पता चला है. इस खुदाई का नेतृत्व पुरातत्ववेत्ता बर्रेरा रोड्रिगेज कर रहे हैं. मेक्सिको सिटी में आज भी किसी भी काम के लिए जमीन की खुदाई पुरातत्ववेत्ताओं की निगरानी में ही हो सकती है. वर्ष 2015 में एक गिरजाघर के पीछे की एक इमारत से मरम्मत के दौरान 35 मीटर लंबा रैक (Tzompantli) मिला है. जिसमें बलि पर चढ़ाए गए लोगों की खोपड़ियों को रखा गया था.
Loading...

35 मीटर लंबा रैक में बलि पर चढ़ाए गए लोगों की खोपड़ियों रखी जाती थीं.


रैक से कुल 700 खोपड़ियों को निकाला जा चुका है
2017 तक हुई इस खोदाई में लकड़ी की रैक से कुल 700 खोपड़ियों को निकाला जा चुका था. इसी साल पुरातत्ववेत्ताओं को एक होटल की मरम्मत के दौरान प्राचीन बॉल कोर्ट मिला. इस गेम को मेक्सिकन लोग अपने कूल्हों की मदद से खेलते थे. वहीं इसी साल टेम्प्लो मेयर की सीढ़ियों के पास बलि में चढ़ाई गई कई चीजों के अवशेष मिले हैं. इन अवशेषों में ऐसे लड़कों का भी अवशेष मिला है. जिनको युद्ध के लिए देवताओं की तरह तैयार किया जाता था.

पुरातत्ववेत्ताओं का मानना है कि वो 1486 से 1502 तक शासन करने वाले मेक्सिका सम्राट एहुत्जोटल के मकबरे को बहुत जल्द खोज लेंगे. इसके अलावा पुरातत्ववेत्ताओं को यहां से जगुवार की हड्डियां, समुद्री सीप और मूंगे की परतें भी मिली हैं. मेसो अमरीकी अवशेष मेक्सिको सिटी के कुछ असामान्य जगहों पर भी पाए गए हैं.

वायु के देवता को समर्पित पिरामिड
मेक्सिको के मेट्रो पिनो सुआरेज स्टेशन पर निर्माण कार्य के दौरान एक पिरामिड की खोज हुई है. यह पिरामिड वायु के देवता इहेकैटल को समर्पित है. ऐतिहासिक केंद्र से 4 किलोमीटर की दूरी पर एक अन्य मेसो अमरीकी सिटी साइट की खोज हुई है. यहां से इहेकैटल का एक और पिरामिड की खोज की गई है.

मेक्सिको सिटी में एक मेट्रो स्टेशन की मरम्मत के दौरान एक पिरामिड की खोज हुई है.


2018 से आम लोगों के लिए खुला म्यूजियम
पुरातत्ववेत्ता बर्रेरा को उम्मीद है कि बॉल कोर्ट और त्जोम्पांल्ली के अवशेषों को अब म्यूजियमों में रखा जाएगा. 2018 से मेक्सिको सिटी से प्राप्त प्राचीन अवशेषों को आम लोगों के लिए खोल दिया गया है. सप्ताह के सोमवार, मंगलवार और शुक्रवार को इन प्राचीन अवशेषों को देखा जा सकता है.

प्राचीन मेसो अमरीकी सभ्यता के अवशेष मेक्सिको सिटी के पास के कई इलाकों से मिल रहे हैं. इसके अलावा स्पेनिश विजेताओं के अभिलेखों और फ्रैंकिसन भिक्षुओं के विवरणों से भी इस सभ्यता से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी सामने आ रहीं हैं.

सोमवार, मंगलवार और शुक्रवार को प्राचीन अवशेषों को म्यूजियम में देखा जा सकता है.


3डी स्कैनर के जरिए अवशेषों की खोज
नई तकनीक भी पुरातत्वविदों की सहायता कर रही है. पुरातत्ववेत्ता माटोस बताते हैं कि शुरुआत में खुदाई के जरिए अवशेषों की खोज की जाती थी. इसमें ऊर्ध्वाकार और क्षैतिज कोणों को मापने वाला उपकरणों के मदद ली जाती थी. हालांकि अब 3डी स्कैनर का उपयोग किया जा रहा है. मेक्सिको सिटी सेंटर की गलियों और बाजारों के नीचे क्या दबा है, इसका पता लगाने के लिए ग्राउंड पेनेट्रेशन रेडार का भी प्रयोग किया जा रहा है.

वहीं बर्रेरा का मानना है कि भू-भौतिकीय स्कैनर से मिली जानकारियों का मिलान करने के लिए अब भी पुरानी तकनीक पर निर्भर रहना पड़ता है.  शहर के नीचे इतिहास की कई परतें दबी हैं. मुमकिन है कि स्कैनर जिसे पूर्व-हिस्पैनिक काल की संरचना बता रहा हों, वह औपनिवेशिक काल का कोई अवशेष हो.

ये भी पढ़ें: 

भारत छोड़कर पाकिस्तान गए जूनागढ़ के नवाब की ऐसी हो गयी थी हालत

हर बार जाड़ों में ही क्‍यों उत्‍तर भारत की हवा होने लगती है जहरीली

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 20, 2019, 7:20 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...