लाइव टीवी

इटली के खूबसूरत पहाड़ी कस्बे में भी बंगले बिकाऊ एक लीटर पेट्रोल के दाम में

News18Hindi
Updated: January 22, 2020, 11:22 AM IST
इटली के खूबसूरत पहाड़ी कस्बे में भी बंगले बिकाऊ एक लीटर पेट्रोल के दाम में
इटली के एक और गांव ने एक डॉलर में एक बंगला खरीदने की पेशकश दी है

पिछले दिनों आपने पढ़ा कि इटली के कई गांवों में खूबसूरत घर एक डॉलर से दस डॉलर के बीच बिक रहे हैं. बहुत से लोगों ने ये घर खरीदे भी. अब इटली में पहाड़ पर बसे एक और खूबसूरत कस्बे में एक डॉलर यानि केवल 70 रुपए में आलीशान घर और बंगले बिकाऊ हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 22, 2020, 11:22 AM IST
  • Share this:
हम लोगों ने कुछ समय पहले पढ़ा था कि इटली के कुछ खाली पड़े गांवों में लोगों को बसाने के मकसद से एक डॉलर से दस डॉलर में घर बिक रहे हैं. कुछ गांवों में तो लोगो को मुफ्त में घर देने की पेशकश की गई है. बशर्ते कि घर में आने वाली दंपत्ति वहां कम से कम पांच से दस साल रहे. अब इटली के एक और खूबसूरत कस्बे में ऐसी ही पेशकश की गई है.
जिस दौर में घर और प्रापर्टी के रेट लगातार आसमान की ओर जा रहे हों, उसमें ये पेशकश हैरान करने वाली है. खासकर तब जबकि घर पुराने तो हों लेकिन खूबसूरत हों और उनके आसपास का कैनवॉस भी उतना ही सुंदर लगने वाला हो. अब इटली के जिस कस्बे में घर केवल एक डॉलर यानि केवल 70 रुपए में बिकाऊ हैं. वो चाहते हैं कि कुछ नए परिवार या दोस्तों का ग्रुप वहां आए. साथ ही कई प्रापर्टीज खरीदकर वहां रहे.
जैसा कि आप तस्वीरों में देख रहे होंगे कि ये कस्बा कितना खूबसूरत लग रहा है. इसका नाम बिसासिया है. ये इटली के दक्षिणी हिस्से कैंपानिया का इलाका है. यहां करीब 90 घर खाली पड़े हैं. बाजार में इसकी कीमत एक यूरो है. दरअसल इटली में गांव जितनी तेजी से खाली हो रहे हैं. उसके मद्देनजर स्थानीय निवासी इन इलाकों में लोगों को बेहद सस्ते में बुलाकर इसे आबाद करना चाहते हैं.

पहाड़ी पर बसा ये कस्बा बेहद खूबसूरत है. यहां सीमित घर हैं लेकिन ज्यादातर खाली पड़े हैं




यहां घर खरीदने पर क्या होगी सहूलियत
इटली के अन्य कस्बों में जहां खाली मकान सस्ते में बेचे जा रहे हैं, वहां समय सीमा में घर में निवेश कर उसे बेहतर करने और लंबे समय तक वहां रहने की बात है लेकिन बैसासिया में ऐसी कोई शर्त नहीं है कि आप कब तक पुराने मकान को खरीदने के बाद रेनोवेट करें या उसकी मरम्मत कराएं.
बैसासिया की एक खास ये भी है कि जब यहां के लोग बेहतर अवसर की तलाश में ये जगह छोड़कर दूसरे स्थानों पर गए तो इस संपत्ति को पूरी तरह स्थानीय अधिकारियों के हवाले कर गए.इसलिए यहां मकान लेने वालों को किसी तरह के कानूनी दांवपेच में फंसने की गुंजाइश भी नहीं है.

इस कस्बे में आप एक डॉलर यानि केवल 70 रुपया देते ही घर में जाकर रह सकते हैं. इसमें मालिकाना हक के लिए कोई कानूनी दावपेच भी नहीं है


हालांकि ऐसी शिकायतें इटली के उन गांवों-कस्बों से आई हैं, जहां लोगों ने एक डॉलर या एक यूरो में मकान खरीद लिए लेकिन फिर वो मालिकाना हक के लिए मूल मालिक के साथ कानूनी दांवपेच में फंस गए.

कलात्मक तौर पर बनाया गया कस्बा
लिहाजा बैसासिया के अधिकारी लोगों को ऑफर कर रहे हैं यहां आइए, मकान या बंगला खरीदिए और फिर तेजी के साथ कानूनी प्रक्रिया भी पूरी कर लीजिए. कहीं कोई दिक्कत ही नहीं है.
बैसासिया नाम की ये जगह आमतौर पर कलात्मक तौर पर बनाई गई थी. इसमें लकड़ी का इस्तेमाल ज्यादा है. लेकिन इसके खाली होते जाने की दो वजहें हुईं. पहली लोग यहां से बेहतर अवसरों की तलाश में निकले तो कभी लौटे ही नहीं और दूसरी ये कि यहां कई भूकंप आते रहे हैं. हालांकि पिछला भूकंप 1980 में आया था.

इस कस्बे का नाम बैसीसिया है. इसका कैनवस बहुत खूबसूरत है. ये पहाड़ और हरियाली से घिरा हुआ कलात्मक तौर पर बनाया गया कस्बा है


गांव के लोग मेहनती और दोस्ताना
इस कस्बे को लोग जेंटल कस्बे के तौर पर भी जानते हैं. यहां के लोग हमेशा शिष्टाचार से भरे और मेहमानों का स्वागत करने के लिए जाने जाते रहे हैं. वो कड़ी मेहनत करने वाले भी रहे हैं. यहां के मेयर कहते हैं कि हम चाहते हैं कि ये जगह फिर गुलजार हो.

ये है इस कस्बे की हालत. जहां बहुत कम लोग रह गए हैं. इसलिए यहां के अधिकारी चाहते हैं कि कुछ नए लोग परिवार और ग्रुप्स में यहां आएं, जिससे ये जगह गुलजार हो सके.


इसी तरह इटली में सिसिली का एक कस्बा बिवोना में भी घर एक डॉलर में बिक रहे हैं. यहां के स्थानीय लोगों को भी काफी दोस्ताना और मस्त रहने वाला जाता है. ऐसा भी कहा जा सकता है.

ये भी पढ़ें 
इस महाराजा के पास था अपना प्लेन और 44 रोल्स रॉयस कारें, हिटलर ने भी दी थी एक कार
अब ठीक हो सकेंगे किसी भी तरह के कैंसर रोगी, नई रिसर्च से जगी आस
3 राजधानियां बनाकर अमरावती की 'प्रतिष्ठा' कम करना चाहते हैं जगनमोहन!
चीन के छिपाने की वजह से ज्यादा गंभीर होकर फैल रही रहस्यमय बीमारी
रोज खाने वाली वो डायट जो आपको रखेगी हमेशा स्वस्थ
गणतंत्र के 70 साल : हम क्यों संविधान लिखने वाले बीएन राऊ को भूल गए?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 22, 2020, 5:51 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर