क्या अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव से एक दिन पहले पृथ्वी से टकराएगा Asteroid?

क्या अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव से एक दिन पहले पृथ्वी से टकराएगा Asteroid?
दो साल पहले दिखा यह क्षुद्रग्रह 2 नवंबर को पृथ्वी के पास से गुजरेगा. (तस्वीर: नासा)

अमेरिका (US) में राष्ट्रपति चुनाव (Presidential Election) से एक दिन पहले एक क्षुद्रग्रह (Asteroid) पृथ्वी के पास आएगा, इसके बारे में कई लोग आशंकित हैं कि यह पृथ्वी से टकराएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 23, 2020, 2:50 PM IST
  • Share this:
पृथ्वी (Earth) की ओर हर साल कई क्षुद्रग्रह (Asteroids) आते हैं. इनमें से कुछ पृथ्वी के पास से गुजर जाते हैं तो कुछ उससे दूर. कई बार लोगों को आशंका होती है कि कहीं कोई क्षुद्रग्रह पृथ्वी से टकरा तो नहीं रहा है. ऐसी ही एक आशंका इस साल नवंबर में पृथ्वी की ओर आ रहे क्षुद्रग्रह के बारे में है. एक आशंका के मुताबिक इस बार अमेरिका (US) में राष्ट्रपति चुनाव (President Election) के समय यह क्षुद्रग्रह पृथ्वी की ओर ही नहीं बल्कि अमेरिका की ओर आ रहा है.

क्या है यह क्षुद्रग्रह
यह खगोलीय पिंड 2018VP1 है जो पृथ्वी की ओर बढ़ रहा है. यह पृथ्वी की ओर बढ़ रहा है. और यह अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के एक दिन पहले यानि कि 2 नवंबर 2020 को पृथ्वी के सबसे पास होगा. नासा के जेट प्रपल्शन लैबोरेटरी पर सेंटर फॉर नियर अर्थ ऑबजेक्ट स्टडीज ने दावा किया है कि 0.0002 किमी यानी केवल 6.5 फुट के व्यास के इस क्षुद्रग्रह का पृथ्वी पर गहरा असर नहीं होगा.

क्या है इसके पृथ्वी टकराने की संभावना
यह क्षुद्रग्रह साल 2018 में कैलीफोर्निया के पालोमार ऑबजर्वेटरी में सबसे पहले खोजा गया था.  इसके पृथ्वी पर तीन तरह से टकराव हो सकते हैं, लेकिन नासा के 21 अवलोकनों के आधार पर अनुमान लगाया गाया है कि इसके पृथ्वी से टकराने के केवल .041 प्रतिशत संभावना है.



राष्ट्रपति चुनाव का संयोग
अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव पहले से ही एक चुनौती साबित हो रहे हैं. कोविड-19 महामारी से जूझ रहे देश में सबसे बड़ा यही सवाल है कि लोग मतदान के दिन कैसे वोट देने के लिए वोटिंग सेंटर तक जाएंगे. इस बार के चुनाव में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का मुकाबला जो बिडेन से है.





कितनी दूर से गुजरने का अनुमान है इसका
वहीं स्पेस रिफरेंस के मुताबिक 2018VP1 क्षुद्रग्रह पृथ्वी के पास से गुजरगा और उसकी दूरी 419,130 किलोमीटर दूरी होगी. उस समय उसकी गति 9.711 किलोमीटर प्रति सेकंड होगी.  वहीं इसी नासा के तीन संभावित इंपैकट आंकलन इससे भी अधिक दूरी की बात कर रहे हैं.

खरबों डॉलर के asteroid का अन्वेषण करेगा नासा, जानिए क्यों है ये इतना कीमती

तो क्या पृथ्वी से टकराएगा यह पिंड
इस क्षुद्रग्रह के पृथ्वी से टकराने की संभावना नहीं है यहां तक कि इसे पर्याप्त रूप से खतरनाक क्षुद्रग्रह की श्रेणी में भी नहीं रखा गया है. कम्प्यूटर सिम्यूलेशन प्रोग्राम इस क्षुद्रग्रह के रास्ते का जैसा अनुमान लगा रहे हैं, उससे कहीं से भी यह नहीं लगता कि भविष्य में हमारे ग्रह से इसके टकराने की कोई संभावना है. पिछले बार इसे 16 नवंबर 2018 को देखा गया था.

इस महीने गुजरा था यह बड़ा क्षुद्रग्रह
इसी महीने की शुरुआत में एक फुटबॉल मैदान के आकार का 2009 PQ1 नाम का क्षुद्रग्रह पृथ्वी के पास से गुजरा था. 190 मीटर लंबा और 84 मीटर चौड़ा यह पिंड तब पृथ्वी और चंद्रमा के बीच की दूरी के सात गुना ज्यादा दूरी से गुजरा था.

यह क्षुद्रग्रह चूका था नासा की नजर से
वहीं इसी महीने एक और  2020 QG नाम का एक छोटा सा कार के आकार का क्षुद्रग्रह पृथ्वी के सबसे पास गुजरा था जिसे नासा पहचान नहीं सका था. इस क्षुद्रग्रह को भारत के आईआईटी बॉम्बे के दो छात्रों ने खोजा था.  2020 QG पृथ्वी के सबसे पास से गुजरने का नया रिकॉर्ड भी बनाया था.

खगोलविदों ने गुरू ग्रह के पास ढूंढी ऐसी चट्टान जो बदल जाएगी धूमकेतू में

तो फिर आशंका क्यों
बेशक दुनिया में किसी भी चीज की गारंटी नहीं है.लेकिन ऐसे ही ख्याल कई लोगों में आशंकाएं भर देते हैं. इसी के चलते कई लोगों को लगता है कि क्षुद्रग्रह जब भी पृथ्वी की ओर आते हैं तो वे धरती से टकराने वाले हैं. जबकि हकीकत यह है की छोटे मोटे क्षुद्रग्रह अगर पृथ्वी तक आ भी गए तो वे वायुमंडल में घुसने के बाद सतह पर पहुंचने से पहले ही जल चुके होंगे. पृथ्वी की सतह पर पहुंच तबाही मचाने के लिए क्षुद्रग्रह को बहुत बड़ा होना होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज