जानिए खगोलविदों में ब्रह्माण्ड की उम्र को लेकर कितनी बनी सहमति

ब्रह्माण्ड (Universe) की उम्र को लेकर हुई गणनाओं में अंतर में अब कुछ तालमेल होता दिख रहा है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)

ब्रह्माण्ड (Universe) की उम्र को लेकर हुई गणनाओं में अंतर में अब कुछ तालमेल होता दिख रहा है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)

एटाकामा कॉस्मोलॉजी टेलीस्कोप (ACT) के आंकड़ों से ब्रह्माण्ड (Universe) की उम्र का नया आंकलन ब्रह्माण्ड की उम्र पर सहमति बनने के आसार बता रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 6, 2021, 4:11 PM IST
  • Share this:
हमारा ब्रह्माण्ड (Universe) कितना पुराना है, इस बात का पता हमारे खगोलविद उन्हें मिले सबसे पुरानी प्रकाशीय और अन्य तरंगों से लगाते हैं खगोलविद लंबे समय से ब्रह्माण्ड की उम्र पर एकमत नहीं हो पा रहे थे. लेकिन अब खगोलविदों ने अब इन तरंगों का फिर से अवलोकन और अध्ययन किया है और ताजा शोध ने ब्रह्माण्ड की उम्र को लेकर इस विवाद को नई दिशा दी है जिससे ब्रह्माण्ड की उम्र 13.77 अरब साल होने पर सहमति हो सकती है.

ACT का उपयोग

जर्नल ऑफ कॉस्मोलॉजी एंड एस्ट्रोपार्टिकल फिजिक्स में प्रकाशित शोध के लिए शोधकर्ताओं ने अपने अवलोकन के लिए चीली के आटाकाम पर्वतों के रेगिस्तान में नेशनल साइंस फाउंडेशन के आटाकामा कॉस्मोलॉजी टेलीस्कोप (ACT) का उपयोग किया. उन्होंने गणना की नई सटीकता को छूते हुए पाया कि ब्रह्माण्ड 13.77 अरब साल पुराना है. इसमें 4 करोड़ साल ऊपर नहीं हो सकता है.

इस मानक से मेल खाना
एसीटी की यह गणना ब्रह्माण्ड का मानक मॉडल से मेल खाती है. इसी प्रकाश के मापन यूरोपीय स्पेस एजेंसी के प्लैंक सैटेलाइट ने भी दिए थे. साल 2019 कि गैलेक्सी की गतिविधियों के आधार ब्रह्माण्ड की उम्र का अनुमान लगाया गया था.  तब शोधकर्ताओं ने बताया था कि ब्रह्माण्ड की उम्र का जितना अनुमान प्लैंक की टीम ने लगाया था वह उससे करोड़ों साल कम हो सकती है.

दोनों मॉडल के मान विश्वसनीय

इस विषमता के कारण ब्रह्माण्ड के एक दूसरे मॉडल का प्रस्ताव दिया गया. इससे यह समस्या हुई की लोगों को लगने लगा कि एक आंकलन में गलतियां हो सकती हैं. शोध में शामिल शोधकर्ता सिमोन आयोला का कहना है कि अब शोधकर्ताओं को ऐसा जवाब मिल गया है जहां प्लैंक और एसीटी में सहमति हो सकती है. इससे पता चलता है कि दोनों शोध विश्वसनीय हैं.



Universe, Age of universe, ACT, Plank Satellite, Hubble constant, Galaxy measurement, CMB,
फिलहाल ज्यादातर खगोलविद ब्रह्माण्ड की उम्र (Age of Universe) 13.77 अरब साल की बताई जा रही है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)


दो मानों में साम्यता

ब्रह्माण्ड की उम्र यह भी बताती है कि ब्रह्माण्ड कितनी तेजी से बढ़ रहा है. इसकी गणना हबल कॉन्स्टेंट से की जाती है. एसीटी के आंकलन सुझाते हैं कि हबल कॉन्स्टेंट का मान 67.6 किलोमीटर प्रति सेंकेड प्रति मेगापार्सेक है. इसका मतलब है कि एक मेगपार्सेक (यानि 32.6 लाख प्रकाशवर्ष) दूर कोई वस्तु ब्रह्माण्ड के विस्तार के कारण हमसे 67.6 प्रति सेकेंड की दर से हमसे दूर जा रही है.

जानिए क्यों खास है नासा के हबल की ली गई आइंस्टीन रिंग तस्वीर

यह बड़ा अंतर

वहीं प्लैंक सैटेलाइट टीम ने हबल कॉन्स्टेंट का मान 67.4 किलोमीटर प्रति सेंकेड प्रति मेगापार्सेक है लेकिन ये दोनों ही मान गैलेक्सी आंकलन से निकाले गए हबल कॉन्स्टेंट के मान, 74 किलोमीटर प्रति सेंकेड प्रति मेगापार्सेक, से कहीं ज्यादा था.

Universe, Age of universe, ACT, Plank Satellite, Hubble constant, Galaxy measurement,
वैज्ञानिकों का मानना है कि दुनिया अब ब्रह्माण्ड (Universe) की नई खोज की कगार पर है. (तस्वीर: NASA ESA and R. Sahai)


अलग-अलग मानों का अर्थ

ब्रह्माण्ड के कई स्थानीय मापन लगातार हबल कॉन्स्टेट के ज्यादा ही मान निकालते रहे. लेकिन यह पहली  बार दो स्वतंत्र कॉस्मिकमाइक्रोवेव बैकग्राउंड (CMB) संगत हबल कॉन्स्टेंट मान निकले हैं. दो प्राथमिक शोधपत्रों क सहलेखक माइकल नेमैक ने कहा, “हबल कॉन्स्टेंट को लेकर स्थानीय और इन मापनों में बढ़ते तनाव से पता चलता है कि हम कॉस्मोलॉजी में ऐसी खोज की कगार पर हैं जो ब्रह्माण्ड के काम करने की हमारी समझ को बदल सकती है.

कैसे और क्यों मरते हैं तारे, इस बारे में वैज्ञानिकों को मिले और सुराग

माइलकल के मुताबिक जिस तरह से एसीटी और अन्य वेधशाला के काम बता रहे हैं, यह CMB के हमारे मापन की होती बेहतरी को भी दर्शाती है. बहराल, भविष्य में बेहतर मापन हमें ब्रह्माण्ड की ज्यादा साफ तस्वीर दिखा सकेंगे. ऐसे में नेमैक का अनुमान केवल समय की बात रह जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज