लाइव टीवी

लॉकडाउन में बढ़ गए हैं लोगों की दाढ़ी और बाल, क्या इससे बढ़ेगा कोरोना का खतरा?

News18Hindi
Updated: May 18, 2020, 10:35 PM IST
लॉकडाउन में बढ़ गए हैं लोगों की दाढ़ी और बाल, क्या इससे बढ़ेगा कोरोना का खतरा?
क्या लंबी दाढ़ी और बालों की वजह से कोरोना वायरस का खतरा बढ़ जाता है?

लॉकडाउन (Lockdown) की वजह लोग बढ़ी हुई दाढ़ी और बाल (Long hairs and beard) के साथ सोशल मीडिया (Social Media) पर खूब तस्वीरें डाल रहे हैं. ऐसे में ये भी सवाल उठे हैं कि क्या इनसे कोरोना वायरस का खतरा भी बढ़ सकता है? आइए जानते हैं, क्या एक्सपर्ट्स की राय

  • Share this:
इस वक्त फिल्मी कलाकारों से लेकर आम लोग तक बढ़े हुए दाढ़ी और बाल के साथ सेल्फी सोशल मीडिया पर शेयर कर रहे हैं. ऐसी तस्वीरों से सोशल अटा पड़ा है. इसे लेकर लोगों के मन में ये भी सवाल आते हैं कि क्या लंबी दाढ़ी और बालों की वजह से कोरोना वायरस का खतरा बढ़ जाता है? इसका जवाब सीधे तौर पर तो ना है लेकिन कुछ एक्सपर्ट्स का मानना है कि लंबे बाल और बढ़ी हुई दाढ़ी की वजह से कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा कुछ प्रतिशत तो बढ़ ही जाता है. आइए जानते हैं कैसे...

बढ़े हुए बालों से है खतरा?
पहले बात करते हैं बढ़े हुए बालों की. कोरोना वायरस में लंबे लॉकडाउन के दौरान लोगों के बाल काफी बडे़ हो गए हैं. कुछ लोगों ने इसके इलाज के लिए या सिर शेव कर लिया है और बड़ी संख्या में लोग सैलून खुलने का इंतजार कर रहे हैं. हालांकि लंबे बालों और कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर सीधे तौर पर अब तक कोई स्टडी नहीं हुई है.





एक्पर्ट्स का मानना है कि जब तक आप सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का सही तरीके से पालन कर रहे हैं तब तक आपको बालों को लेकर चिंता करने की जरूरत नहीं है. लेकिन एक्सपर्ट्स बार-बार बालों में हाथ लगाने से परहेज करने की बात जरूर कहते हैं. मान लीजिए कि आस-पास किसी संक्रमित व्यक्ति खांसी या छींक की वजह से बालों पर वायरस आ जाता है तो भी आप घर पर वापस जाकर उन्हें धुल सकते हैं. लेकिन बालों में बार-बार हाथ लगाने की वजह से ये आपके हथेलियों में आ सकते हैं. इसलिए एक्सपर्ट्स का कहना है कि आपको बड़े बालों से घबराने की जरूरत नहीं है. लेकिन उन्हें बार-बार हाथ नहीं लगाना चाहिए.



बढ़ी हुई दाढ़ी से क्या है रिस्क
साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक बढ़ी हुई दाढ़ी को लेकर एक्सपर्ट्स में पहले से भी बहस चलती रही है. अमेरिका की पेंसिलवेनिया यूनिवर्सिटी में डर्मिटोलॉजी की प्रोफेसर Dr Carrie Kovarik के मुताबिक बढ़ी हुई दाढ़ी में बैक्टरिया होने को लेकर एक्सपर्ट्स की राय अलग-अलग रही है. उनके मुताबिक ऐसी कई रिसर्च हैं जो साबित करती हैं बढ़ी हुई दाढ़ी में ज्यादा जर्म्स और बैक्टरिया का खतरा होता है, बजाए क्लीन शेव रहने के. अगर किसी इन्फेक्टेड जगह को छूने के बाद अगर कोई अपनी बढ़ी हुई दाढ़ी में हाथ लगाता है, तो जर्म या बैक्टरिया वहां रह जाता है. ऐसा कोरोना वायरस के साथ भी संभव है. हालांकि ये क्लीन शेव स्कीन के साथ भी संभव है लेकिन क्लीन शेव स्कीन को साबुन से धुलने पर इसके पूरी तरह साफ हो जाने की संभावनाएं ज्यादा हैं.

दाढ़ी की अलग-अलग स्टाइल पर खतरे
अमेरिका के नेशनल पब्लिक हेल्थ इंस्टीट्यूट सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) ने 35 स्टाइल की एक लिस्ट जारी की थी जिसमें बताया गया था कि दाढ़ी रखने से मास्क पहनने में परेशानी होती है और वो पूरी तरह स्किन को छू नहीं पाता है. पूरी तरह से स्किन फिट मास्क न होने के कारण शरीर में बैक्टीरिया प्रवेश कर सकते हैं और कोरोना वायरस का खतरा बढ़ सकता है.



दाढ़ी से मास्क पहनने में दिक्कत
बफ़ेलो वीए मेडिकल सेंटर के डॉक्टर थॉमस रुसो और बफ़ेलो मेडिकल स्कूल में स्टेट यूनिवर्सिटी ऑफ़ न्यूयॉर्क के संक्रामक लोगों के प्रमुख ने बताया कि वर्तमान के हालातों में बिना मास्क के बाहर नहीं जाना चाहिए. वहीं, जिन लोगों के चेहरे पर घनी दाढ़ी है, उन्हें मास्क पहनने में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ा सकता है. दाढ़ी के ऊपर मास्क लगाने से यह ढ़ाली हो पड़ सकती है और वायरस आपके शरीर में प्रवेश कर सकता है.

यह भी पढ़ें:

कोरोना वायरस से कैसे लड़ेगा आपका शरीर, Genes करते हैं इसका फैसला

हवा में कैसे फैलता है कोरोना वायरस, Fluid Dynamics से इसे समझिए

तेजी से हो सके कोरोना वैक्सीन ट्रायल, इसके लिए रूस में खास चूहे होंगे तैया
First published: May 18, 2020, 9:57 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading