Home /News /knowledge /

ये है सबसे अधिक माइलेज देने वाली कार, एक किलो फ्यूल में चलती है 250 KM

ये है सबसे अधिक माइलेज देने वाली कार, एक किलो फ्यूल में चलती है 250 KM

टोयोटा ने हाइड्रोजन से चलने वाली कार बाजार में उतार दी है.

टोयोटा ने हाइड्रोजन से चलने वाली कार बाजार में उतार दी है.

Toyota's Hydrogen Car Mirai: लगातार महंगे हो रहे पेट्रोल और डीजल और स्वच्छ ऊर्जा की मांग ने दुनिया को वैकल्पिक ईंधन के बारे में सोचने पर मजबूर कर दिया है.

    Toyota’s Hydrogen Car Mirai: लगातार महंगे हो रहे पेट्रोल और डीजल और स्वच्छ ऊर्जा की मांग ने दुनिया को वैकल्पिक ईंधन के बारे में सोचने पर मजबूर कर दिया है. अभी तक कार कंपनियां इलेक्ट्रिक कार की ओर बढ़ रही हैं लेकिन इलेक्ट्रिक कार की अपनी सीमाएं हैं. इस कारण इसको पूरी तरह से जीवाश्म ईंधन यानी पेट्रोल-डीजल का विकल्प नहीं माना जा रहा है.

    इस बीच दुनिया एक प्रमुख कार कंपनी टोयोटा ने हाईड्रोजन आधारित कार का परीक्षण किया है. इस कार की सबसे बड़ी खासियत यह रही कि एक बार ईंधन भरवाने के बाद इसने 845 माइल यानी 1360 किमी का सफर पूरा किया. यह अपने आप में एक रिकॉर्ड है. टोयोटा के दावे को गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड (Guinness World Record) में शामिल किया गया है.

    इलेक्ट्रिक कार की कमियां
    इलेक्ट्रिक कारों को जीवाश्म ईंधन का विकल्प बताया जा रहा है. लेकिन अभी तक कि जितनी भी इलेक्ट्रिक कारें बनी हैं वो एक बार चार्ज करने के बाद करीब 500 किमी तक की दूरी तय करती हैं. इसके बाद ऐसी कारों को चार्ज करने के लिए चार्जिंग स्टेशन की व्यवस्था करना सबसे बड़ी बाधा है. दूसरी बाधा इन कारों को चार्ज में करने लगने वाला समय है.

    हाइड्रोजन एक बेहतर विकल्प
    अभी तक हाइड्रोजन ईंजन को विकल्प के रूप में नहीं देखा जा रहा है. दरअसल, अभी तक हाईड्रोजन का उत्पादन बहुत महंगा पड़ता है. इसी महंगाई की वजह से इसे एक उचित विकल्प के रूप में नहीं देखा गया. लेकिन नई तकनीक की मदद से हाइड्रोजन उत्पादन की लागत लगातार कम हो रही है. भारत में ही निजी क्षेत्र की सबसे बड़ी पेट्रोलियम कंपनी रिलायंस पेट्रोलियम के मालिक मुकेश अंबानी ने कहा था कि अगले एक दशक के भीतर हाइड्रोजन उत्पादन की लागत एक डॉलर प्रति किलो के स्तर पर आ सकती है.

    ऐसे किया गया परीक्षण
    टोयोटा ने इसी साल 23 और 24 अगस्त को इस कार का परीक्षण किया था. इस कार को पेशेवर चालकों वायने जर्ड्स (Wayne Gerdes) और बॉल विंगर (Bob Winger) ने चलाया. इस कार के टैंक को केवल पांच मिनट में हाइड्रोजन से भर दिया गया. यह यात्रा कैलिफोर्निया के टोयोटा टेक्निकल सेंटर से शुरू हुई. मिराई कार ने इस बार हाइड्रोजन भरने के बाद 1360 किमी का सफर तय किया.

    250 किमी का माइलेज
    टोयोटा ने बताया कि उसकी हाइड्रोजन ईंधन वाली कार ने 260 किमी प्रति किलो की माइलेज दी. कार ने कुल 1360 किमी की दूरी तय करने में 5.65 किलो हाइड्रोजन की खपत की. इतने ईंधन में कार को दो दिनों तक चलाया गया.

    वर्ष 2016 में टोयोटा मिराई (Toyota Mirai) को लांच किया गया था. यह कंपनी की पहली प्यूल सेल इलेक्ट्रिक वेहिकल (fuel cell electric vehicle) यानी हाइड्रोजन ईंधन से चलने वाली कार थी. उत्तरी अमेरिका में यह कार खुदरा बिक्री के लिए उपलब्ध है. लेकिन, कंपनी ने एक बार ईंधन भरने के बाद इस कार द्वारा तय की गई दूरी के मामले में एक रिकॉर्ड बनाया है.

    Tags: Hydrogen, Toyota

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर