• Home
  • »
  • News
  • »
  • knowledge
  • »
  • बिल गेट्स को क्यों लगता है, मिसाइल नहीं Virus से लड़ा जाएगा अगला युद्ध

बिल गेट्स को क्यों लगता है, मिसाइल नहीं Virus से लड़ा जाएगा अगला युद्ध

बिल गेट्स ने फोन के मामले में अपनी पसंद बताई है.

बिल गेट्स (Bill Gates) ने साल 2015 में दुनिया को वायरस (Virus) के खतरे से सावधान रहने को चेताया था. तब से वे लगातार कह रहे हैं कि दुनिया को खतरा मिसाइल से ज्यादा बायोटेरेरिज्म (Bioterrorism) से है.

  • Share this:

    पिछले एक साल से कोरोना वायरस (Corona Virus) ने जिस तरह से दुनियाभर में खलबली मचाई है, वह वाकई चिंताजनक है. माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) के सहसंस्थापक और समाजसेवी बिल गेट्स गेट्स (Bill Gates) ने साल 2015 में ही दुनिया को महामारी ( Pandemic) के प्रति चेताया था. उस समय का वह वीडियो एक बार फिर वायरल हो गया है जिसमें गेट्स ने कहा था कि अगला युद्ध (Next War) मिसाइल (Missiles) या न्यूक्लियर (Nuclear) नहीं बल्कि वायरस (Virus) से लड़ा जा सकता है.

    भविष्यवाणी को लेकर अच्छा महसूस नहीं करते
    कोविड-19 महामारी का पूर्वानुमान कोई भी नहीं लगा पाया था, लेकिन अब गेट्स का अनुमान कुछ मायनों में सही साबित हो रहा है. हाल में गेट्स ने लोकप्रिय यूट्यूब चैनल वेरिटासियमम पर डेरेक मुलर से वीडियो कॉल पर बातचीत के दौरान बताया कि वे अपनी भविष्यवाणी को लेकर अच्छा महसूस नहीं करते हैं.

    क्या कहा था गेट्स ने
    इस महामारी ने साबित कर दिया है कि एक वायरस ही पूरी दुनिया से मानव प्रजाति को खत्म करने के लिए काफी हो सकता है. साल 2015 में अगला संकट, हम तैयार नहीं शीर्षक वाले टेट टॉक में बिलगेट ने कोविड-19 जैसे ही सक्षम वायरस के फैलने के बारे में बात की थी और इस  बात पर जोर भी दिया था कि दुनिया को इस तरह के हालात से निपटने के लिए अच्छे से तैयार होने की जरूरत है.

    मिसाइल नहीं वायरस होंगे हत्यारे
    गेट्स ने कहा था कि यदि कोई चीज एक करोड़ से ज्यादा लोगों को अगले कुछ दशकों में मार देगी तो वह युद्ध नहीं बल्कि एक बहुत ही संक्रामक वायरस होगा. उन्होंने कहा कि यह मिसाइल्स नहीं बल्कि सूक्ष्मजीवी होंगे. इस वीडियो ने मार्च 2020 में लोगों का ध्यान खींचा था जब कोविड-19 महामारी ने दुनिया भर को रोक कर रख दिया था.

    , Bill Gates, Corona Virus, Covid-19, Covid-19 Pandemic, Next war, Bio terrorism, Microsoft, Pandemic, Prophecy,

    कोविड-19 महामारी (Covid-19 Pandemic) ने गेट्स (Bill Gates) की आशंका सही साबित की है कि लोग मिसाइल से कम वायरस से ज्यादा मरेंगे.. सांकेतिक फोटो (pixabay)

    पहले भी कह चुके हैं ऐसा
    ऐसा नहीं है कि बिल 2015 में ही यह कह कर खामोश हो गए थे. वे इसके बाद भी दुनिया को वायरस के खतरे से आगाह करते रहे हैं. साल 2017 में भी गेट्स ने रेडिट में फैंस के सवालों के जवाब देते हुए कहा था कि वे जैविक उपकरणों को लेकर चिंतित हैं जिन्हें बायोटेरेरिस्ट उपयोग कर सकते हैं.

    लॉकडाउन के कारण पैदा हुई साफ हवा ने गर्म कर दी हमारी पृथ्वी, जनिए कैसे

    नहीं रुकेगी बीमारी
    संयोग की बात है कि गेट्स ने कोविड-19 जैसी बीमारी के खतरे की ही आशंका व्यक्त की थी. 2017 में ही गेट्स ने टेलीग्राफ को बताया था कि एक फ्लू का स्ट्रेन बनाना, न्यूक्लियर युद्ध के मुकाबले ज्यादा आसान है. एक बार बीमारी फैलने के  बाद लोगों को मारने में नहीं रुकेगी.

    Bill Gates, Corona Virus, Covid-19, Covid-19 Pandemic, Next war, Bio terrorism, Microsoft, Pandemic, Prophecy, Climate Change,

    बिलगेट्स (Bill Gates) ने महामारी (Pandemic) के साथ ही जलवायु परिवर्तन (Climate Change) के प्रकोप के लिए तैयार रहने को कहा है. (फोटो: सोशल मीडिया)

    बहुत आसान है ये
    गेट्स ने कहा था कि जीवविज्ञान की तरक्की से आतंकवादियों के लिए स्मालपॉक्स यानि चेचक को फैलाना आसान हो गया है जो एक बहुत ही मारक संक्रमण है खास तौर से उन इलाकों में जहां प्रतिरोधी क्षमता खत्म सी हो गई है. इसी लिए ज्यादा जोखिम प्राकृतिक महामारी या किसी जैवआंतकी घटना से फैले संक्रमण से है.

    Global Wamring के लिए केवल इंसानी गतिविधियां ही हैं जिम्मेदार- शोध

    यह आशंका भी
    बिल की आशंका कोविड-19 महामारी ने सही साबित की है. इस अभी तक 23 लाख लोग इससे मर चुके हैं. उन्होंने कहा था कि हवा में तेजी से फैलने वाली बीमारी 3 करोड़ लोगों को एक साल में ही मार सकती है. गेट्स ने अपने ब्लॉग में लिखा था कि साल 2060 में जलवायु परिवर्तन एक महामारी की तरह खतरनाक हो जाएगा और पांच गुना ज्यादा मारक होगा.उन्होंने इसके लिए भी तैयार रहने को कहा था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज