Birthday Indira Gandhi : इंदिरा के आधे बाल सफेद और आधे काले-ये नेचुरल था या स्टाइल

इंदिरा गांधी की हेयर स्टाइल बाद के बरसों में बदल गई. इसे उन्होंने खासतौर पर कराया था.
इंदिरा गांधी की हेयर स्टाइल बाद के बरसों में बदल गई. इसे उन्होंने खासतौर पर कराया था.

भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी (Indira Gandhi) का आज जन्मदिन है. इंदिरा गांधी के चित्रों में उनके सिर के आधे बाल काले और आधे एकदम सफेद नजर (Indira Gandhi Hair style)आते हैं. हालांकि ये बहुत प्रभावशाली लगते हैं लेकिन उनके बालों का ये रंग हमेशा चर्चा का विषय भी रहा कि ऐसा कैसे है. जानिए इसके बारे में

  • News18India
  • Last Updated: November 19, 2020, 12:26 PM IST
  • Share this:

अगर आप पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की इस तस्वीर को देख रहे होंगे तो इसमें उनकी बाईं ओर से आधे बाल सफेद और दाईं ओर के काले नजर आ रहे हैं. ये देखने में बहुत भव्य और प्रभावशाली लगते थे. उनकी बालों का स्टाइल इस तरह था कि ये एकदम नेचुरल लगता था लेकिन अक्सर इसे लेकर चर्चाएं देश से लेकर विदेश तक होती थीं कि उनकी बालों का ये रंग स्वाभाविक तौर पर होता चला गया या फिर उन्होंने किसी हेयरड्रेसर से इसे डिजाइन कराया है.


जब इंदिरा गांधी 1960 के दशक के बीच में प्रधानमंत्री बनी थीं तब उनके पूरे बाल काले थे. 70 के दशक में उनकी बालों के बीच कुछ लटें सफेद थीं, जो बहुत आकर्षक लगती थीं लेकिन 80 के दशक के बाद उनके बालों की सफेदी कुछ बढ़ने लगी. लेकिन कुछ यूं बढ़ी कि आधे एक ओर से बाल तो सफेद या हल्के ग्रे लगते थे और दूसरी ओर से काले.




इंदिरा गांधी जब 1966 में प्रधानमंत्री बनीं तो उनके बालों का स्टाइल इस तरह था. बाल पूरे काले थे. बस बाईं ओर नीचे से एक सुनहरे रंग की सफेद लट झलकती थी.

ये सवाल अक्सर सियासी गलियारों में भी उत्सुकता के साथ पूछा जाता था. कई बार उनसे इंटरव्यू के दौरान भी विदेशी साक्षात्कर्ताओं ने भव्य हेयरस्टाइल पर सवाल पूछे. वो अक्सर मुस्कुराकर इसे टाल देती थीं.


ये भी पढ़ें - Birthday Indira gandhi : इंदिरा के 10 बड़े फैसले, जो हमेशा याद रखे जाएंगे




कई ने इंदिरा के सिग्नेचर हेयरस्टाइल को रखने की कोशिश की
इंदिरा गांधी के इस सिग्नेचर हेयरस्टाइल को कई लोगों ने अपनाने की कोशिश की लेकिन उसमें बहुत ज्यादा सफल नहीं हो पाए. आखिर इसका राज क्या था. इसे कई साल पहले देश के जाने माने हेयरड्रेसर हबीब अहमद ने खोला. उन्होंने कोलकाता के अंग्रेजी समाचार पत्र द टेलीग्राफ से बातचीत में इसके बारे में बताया.

पहली बार फ्रांस में बालों को खास डिजाइन कराया था
उन्होंने बताया कि इंदिरा के 99 फीसदी बाल ग्रे थे लेकिन सिर के बालों का कुछ हिस्सा छोड़कर वो बाकी बालों को काले रंग में डाई कराती थीं. पहली बार उन्होंने ऐसा फ्रांस में कराया. फिर देश में ये जिम्मा हेयर ड्रेसर हबीब को मिला. वो बेहतरीन हेयरड्रेसर थे और देश के जाने-माने जावेद हबीब के पिता. बाद में उन्होंने देश में अपना हेयरड्रेसिंग का एंपायर भी फैलाया.


ये भी पढ़ें - कोविड-19 की नई लहर : कैसे भारत, अमेरिका और यूरोप फिर हैं चपेट में?


उनका कहना था कि वो कई बार दो हफ्ते में एक बार इंदिरा बालों को टचअप करते थे. हालांकि कई बार उससे जल्दी भी. ये क्रम 1984 में उनकी हत्या तक जारी रहा.




जब देश में 1980 में लोकसभा चुनाव हुए और इंदिरा गांधी को भारी जीत मिली, तब उनके बालों की स्टाइल कुछ यूं थी. सफेद सुनहरे बालों की कुछ लटें बीच में थीं और बाकी बाल काले.


बाल कर्ली थे इसलिए ये स्टाइल उनपर फबता था
हालांकि इंदिरा गांधी का हेयरस्टाइल पूरी तरह फ्रेंच क्रिएशन था. गले के पास और ऊपर ज्यादा. ये उनके ऊपर ज्यादा फबते थे क्योंकि बाल कर्ली थे.

दरअसल हबीब अहमद एक जमाने से उस परिवार से हैं, जो बड़े बड़े नेताओं के बालों को स्टाइल देता रहा है. हबीब अहमद के पिता जवाहरलाल नेहरू और लार्ड माउंटबेटन के निजी हेयरस्टायलिस्ट थे. इसी के चलते इंदिरा उन्हें लंबे समय से जानती थीं. जब इंदिरा गांधी फ्रांस में पहली बार खास तरीके से अपने बालों को स्टाइल कराकर लौटीं तो उन्हें भारत में एक खास हेयरस्टायलिस्ट की जरूरत थी, जो उसे बरकरार रख पाए.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज