अपना शहर चुनें

States

जानिए क्यों रिलीज नहीं हो पाई थी प्रियंका गांधी पर बनी फिल्म?

यह फिल्म 19 साल पहले सन 2000 में बन रही थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 23, 2019, 7:59 PM IST
  • Share this:
प्रियंका गांधी वाड्रा ने आधिकारिक तौर पर राजनीति में कदम रख दिया है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रियंका को ईस्ट यूपी की कमान सौंपी है. माना जा रहा है कि यह फैसला आगामी लोकसभा चुनाव और प्रियंका गांधी की लोकप्रियता को देखते हुए लिया गया है. प्रियंका फरवरी के पहले सप्ताह में कार्यभार संभालेंगी. लेकिन उनके बारे में यह बात कम ही लोग जानते हैं कि उनके ऊपर कभी बायोपिक भी बन रही थी. वो भी आज नहीं बल्कि 19 साल पहले. मजे की बात है कि इस फिल्म में एक्ट्रेस थीं, देसी गर्ल प्रियंका चोपड़ा.

प्रियंका चोपड़ा ने बॉलीवुड में एक्ट्रेस की सफलताओं की नई इबारत लिखी है. हम सभी जानते हैं कि प्रियंका एक छोटे से शहर बरेली से निकलकर माया नगरी तक पहुंची और इसमें उनका कुछ साथ उनके मिस इंडिया के खिताब ने भी दिया, जो उन्होंने 2000 में जीता था. लेकिन यह तय है कि हुनर की जगह कोई ताज नहीं ले सकता है. बहरहाल, आज हम बताने जा रहे हैं एक ऐसे वाकये के बारे में जिसे बहुत कम लोग ही जानते हैं. अक्सर माना जाता है एक मॉडल के तौर पर काम करने वाली प्रियंका ने खिताब जीता और फिर फिल्मों में आईं. पर यह बात सही नहीं हैं.

प्रियंका को फिल्म सबसे पहले मिली थी, उसका नाम था 'गुड नाइट प्रिंसेज'. जिसके डायरेक्टर थे एटली बरार. जिस साल प्रियंका को यह फिल्म ऑफर हुई, वह साल था 2000. यानि वही साल जिस साल उन्हें मिस वर्ल्ड के खिताब से नवाजा गया. पर यह फिल्म उन्हें मिस वर्ल्ड प्रतियोगिता से पहले ही मिल गई थी. साथ ही उन्होंने प्रतियोगिता में जाने से पहले ही एक महीने की फिल्म की शूटिंग पूरी कर ली थी. जब वे प्रतियोगिता जीतकर लौटीं तो फिर से उन्होंने इसकी शूटिंग जारी रखी और फिल्म पूरी की. लेकिन इन सबके बीच सबसे ज्यादा मजे की बात यह थी कि प्रियंका की यह फिल्म प्रियंका गांधी के जीवन पर आधारित थी.




जी हां ! आप सही पढ़ रहे हैं, प्रियंका गांधी की जिंदगी पर. प्रियंका गांधी जो उस वक्त मात्र 28 साल की थीं उन पर क्यों फिल्म बन रही थी यह भी सोचने की बात है. साथ ही यह फिल्म हिंदी और इंग्लिश दोनों भाषाओं में बन रही थी. इस फिल्म में उनके साथी कलाकार पूजा बत्रा और राहुल देव थे. इसे आज बुरा कहा जाये या अच्छा पता नहीं, लेकिन यह फिल्म प्रोड्यूसर के पास पैसे न होने के चलते पूरी नहीं हो सकी.

इस तरह से प्रियंका चोपड़ा की पहली फिल्म 2002 में आई तमिल फिल्म 'तमिझन' और पहली हिंदी फिल्म 2003 में आई द 'हीरो : लव स्टोरी ऑफ अ स्पाई' हो गईं. जिसके महीने भर ही बाद आई प्रियंका की फिल्म 'अंदाज़.'

यह भी पढ़ें : एक्टिव पॉलिटिक्स में प्रियंका गांधी ने मारी एंट्री, लिख रही हैं ये किताब
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज