भारत ही नहीं, इन देशों के साथ भी सीमा विवादों में उलझा है चीन

भारत ही नहीं, इन देशों के साथ भी सीमा विवादों में उलझा है चीन
चीन भारत के अलावा कई पड़ोसी देशों के साथ सीमा विवाद में उलझा है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

भारत के साथ तो चीन (China) का पुराना सीमा विवाद (Border Dispute) है ही, इसके अलावा कई और पड़ोसी देशों से भी उसका सीमा विवाद है.

  • Share this:
नई दिल्ली. हाल ही में लद्दाख (Laddakh) के गलवान (Galwan) इलाके में भारत और चीनी सेना के बीच झड़प हुई. इससे एक बार फिर भारत-चीन सीमा (Indo-Chinese border) विवाद सुर्खियों में आ गया. यह कोई पहली बार नहीं है कि चीन ने भारत से सीमा मामले पर उलझने की कोशिश की है. यह साल 1962 में शुरू हुए युद्ध के बाद से बदस्तूर जारी है. लेकिन चीन का केवल भारत के साथ ही सीमा विवाद (Border dispute) नहीं हैं.

और भी देशों से है चीन का सीमा विवाद
भारत और चीन के बीच सीमा विवाद इस लिहाज से नया है कि इस बार विवाद की जगह लद्दाख का गलवान इलाका है. लेकिन ऐसा नहीं कि चीन का केवल भारत ही के साथ सीमा विवाद हो. कई और भी देश हैं जिनके साथ वह सीमा विवाद के नाम पर उलझा हुआ है. अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो भी कह चुके हैं चीन का सभी पड़ोसियों के साथ रवैया ‘दादागिरी’ वाला है. पिछले कुछ सालों से चीन का हॉन्गकॉन्ग में तानाशाही का बर्ताव माना जाता रहा है. वहीं वह ताइवान पर भी अपना दावा जताता रहा है. लेकिन उसका भूटान, नेपाल, साउथ चीन सागर, पूर्वी चीन सागर, जैसे देशों और जगहों पर भी विवादित दखल है.

भारत-चीन युद्ध पर बनी ये फिल्म क्यों नहीं हो सकी थी रिलीज, जानिए वजह
नेपाल के साथ भी है विवाद


हाल ही में नेपाल और भारत के बीच सीमा विवाद हो गया है, लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं कि उसके साथ भी चीन का सीमा विवाद है. आज से साल भर पहले नेपाल ने भारत की ओर से जारी नक्शे पर आपत्ति जताने के साथ ही चीन पर भी नेपाल में अतिक्रमण करने का आरोप लगाया था. चीन के सर्वेक्षण विभाग का आरोप था कि चीन ने नेपाल के उत्तरी जिले गुमला, रासुवा, सिंधुपालचौक और संखुवासभा पर अतिक्रमण किया है. चीन नेपाल की माउंट एवरेस्ट चोटी पर भी अपने 5 जी नेटवर्क उपकरण लगाने की तैयारी में हैं और उसे कई बहानों से चीन का हिस्सा भी बताता रहा है.

Doklam
डोकलाम विवाद भारत चीन के बीच ही नहीं भूटान चीन के बीच का विवाद भी था. (प्रतीकात्मक तस्वीर)


भूटान की वजह से भारत का हुआ विवाद
भारत और चीन की सेना के बीच साल 2017 में हुआ विवाद दरअसल भूटान के साथ ही चीन का विवाद था. आधिकारिक और कानूनी तौर पर चूंकि भारत भूटान की सीमा का रक्षक है. इसलिए यह विवाद भारतीय और चीनी सेना के बीच हो गया. डोकलाम भारत-भूटान और चीन की सीमाओं के बिंदु पर स्थित है जहां चीनी सेना ने निर्माण कार्य करना शुरू कर दिया था जिस पर भारतीय सेना ने आपत्ति जताई थी. यह विवाद 73 दिन तक चला था.

पानी छोड़ जमीन पर रहने लगीं ये मछलियां, जानिए कैसे हुआ यह गजब

पूर्वी चीन सागर
चीन के उत्तर कोरिया, दक्षिण कोरिया और जापान के साथ भी सीमा विवाद है. इन तीनों देशों के साथ उसका पीला सागर में विवाद है तो वहीं दक्षिण कोरिया और जापान के साथ पूर्वी चीन सागर पर विवाद है. इसके अलावा चीन जापान के सेंकेकु/ दियाओयू द्वीपों पर भी अपना दावा करता है. ये इलाके भी अंतरराष्ट्रीय व्यापार और सामरिक दृष्टि से अहम माने जाते हैं. जिनका इन चार देशों के अलावा दूसरे देशों पर असर होता है.

China
चीन का दक्षिण चीन सागर और पूर्वी चीन सागर परभी सीमा विवाद है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)


दक्षिण चीन सागर
दक्षिण चीन सागर में चीन पिछले कई सालों से कुछ ज्यादा ही सक्रिय है और संसाधनों से भरपूर इस इलाके में अपनी उपस्थिति दिखाने में कोई कसर नहीं छोड़ता. वह कई बार अवैध तरीके से सैन्य अभ्यास भी वहां कर चुका है और उसने कई निर्माण कार्य भी वहां किए. उसके ऐतिहासिक दावों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खारिज भी किया जा चुका है.

जानिए कैसे 12 अरब साल पुराने संकेत से पता लगी डार्क युग की रोचक कहानी

दक्षिण चीन सागर संसाधनों की लिहाज से तो महत्व रखता ही है, लेकिन उससे जरूरी बात यह है कि वह अंतरराष्ट्रीय व्यापारों का एक खास जलमार्ग है. इसके अलावा चीन के इस दावे का असर आसपास के छोटे देशों पर हो रहा है. चीन के इस रवैये का कारण उसका ताइवान, ब्रुनेई, इंडोनेशिया, मलेशिया, फिलीपींस और वियतनानम के साथ सीमा विवाद की स्थिति चल रही है. इसके अलावा चीन का दावा है कि ताइवान और उसके द्वारा नियंत्रित सभी द्वीप उसका ही हिस्सा हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading