Home /News /knowledge /

चीन ने बनाया फाइटर प्लेन का नया इंजन, बढ़ेगी भारत की चिंता

चीन ने बनाया फाइटर प्लेन का नया इंजन, बढ़ेगी भारत की चिंता

चीन के एयरशो में चीन का फाइटर जेट जे-10 का वेरिएंट (फोटो साभार- साउथ चाइना मार्निंग पोस्ट)

चीन के एयरशो में चीन का फाइटर जेट जे-10 का वेरिएंट (फोटो साभार- साउथ चाइना मार्निंग पोस्ट)

इस इंजन के विकास के बाद एशिया के आकाश में चीन के पांचवीं जेनरेशन के जे-20स्टेल्स फाइटर्स का सामना करना बहुत मुश्किल होगा. ये नई तकनीक चीन की वायुसेना को खासा ताकतवर बना देगी.

    चीन ने एक नया जेट इंजन बनाया है, इसके साथ ही आसमान में चीन और बड़ी ताकत बन गया है. अब वो ऐसे फाइटर बना सकेगा, जिसे बनाने में अब तक केवल रूस और अमेरिका ही सक्षम रहे हैं. चीन ने नए इंजन के साथ जे-10 फाइटर जेट को आसमान में उड़ाया और करतब दिखाए. चीन की ये तकनीक भारत के लिए चिंता की एक बड़ी वजह बन सकती है.

    साउथ मार्निंग चाइना पोस्ट के अनुसार, इन दिनों चीन का सबसे बड़ा एयर शो चल रहा है, जहां इस नए फाइटर को प्रदर्शित किया गया. कहा जा रहा है कि जे-10 फाइटर का ये नया वेरिएंट अमेरिका और रूस के वर्चस्व को टक्कर देगा.

     ये भी पढ़ें - दिल्ली में सरकार कराने वाली है बारिश, जानें क्यों?

    चीनी एयर शो इन दिनों दक्षिणी गुआंगडांग प्रांत के झुहाई में चल रहा है. शो में जे-10 वेरिएंट ने हवा में ऐसे ऐसे करतब दिखाए कि लोग हैरान रह गए. ये संभव हुआ नये डब्ल्यूएस-10 इंजन के चलते.

    बदल जाएगी अब चीन के फाइटर जेट की दुनिया
    अब इस इंजन के विकास के बाद चीन विश्व स्तरीय, भरोसेमंद और अाधुनिक फाइटर्स बना सकेगा. अखबार ने पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के एयरफोर्स लेफ्टिनेंट कर्नल के हवाले से कहा है कि इस तकनीक के विकास के बाद अब चीनी पायलट लड़ाकू विमानों को उड़ानों और ज्यादा जोखिम ले पाने में सक्षम हो सकेंगे.

    यह भी पढ़ें: भारत ने संयुक्‍त राष्‍ट्र को घेरा, कहा- सुधार करिए नहीं तो दुनिया के टुकड़े हो जाएंगे

    चीन ने हाल के बरसों में अपनी नौसेना और वायु सेना को ताकतवर किया है लेकिन फाइटर जेट के लिए आधुनिक इंजन तकनीक का विकास उसके लिए चिंता का विषय रहा है. लंबे समय से उसे अपने फाइटर्स जेट के लिए इंजन इंपोर्ट करने पड़ रहे थे.

    चीन के एयर शो 2018 में नए इंजन के साथ चीन का फाइटर जेट जे-10 (फोटो साभार- साउथ चाइना मार्निंग पोस्ट)


    इस इंजन के विकास के बाद एशिया के आकाश में चीन के पांचवीं जेनरेशन के जे-20स्टेल्स फाइटर्स का सामना करना बहुत मुश्किल होगा. ये नई तकनीक चीन की वायुसेना को खासा ताकतवर बना देगी.

    कई सालों से चीन लगा था इसके विकास पर
    चीन बहुत दिनों से इसका परीक्षण कर रहा था. परिणाम अनुकूल नहीं आ रहे थे. अब ये प्रदर्शन में सफल रहा है. इस इंजन का नाम डब्ल्यूएस-10 ताइहैंग है, इसे जे-10बी फाइटर में इस्तेमाल किया जाएगा. इस इंजन से युक्त फाइटर जेट हवा में कई ऐसे असंभव काम कर सकते हैं, जिसके बारे में सोचा भी नहीं जा सकता.

    चीन के सैन्य मामलों के जानकार सोंग झोंगपिंग कहते हैं, जे-10बी टीवीसी का प्रदर्शन जाहिर करता है कि फाइटर जेट पर चीन का नियंत्रण बेहतर हो रहा है.

    ये सिस्टम कहीं ज्यादा जटिल है लेकिन एयर शो जितने आसानी से नए इंजन के साथ जे-10 फाइटर ने कलाबाजियां दिखाईं, उससे लगता है कि चीन ने सभी समस्याओं का समाधान कर लिया है.

     ये भी पढ़ें - दुनिया के टॉप 10 मुल्क, जिनकी वैल्यू सबसे ज्यादा

    अब तक ये तकनीक केवल अमेरिका और रूस के पास थी
    अब तक इस सिस्टम का इस्तेमाल केवल अमेरिका और रूस के चुनिंदा फाइटर जेट में हो रहा था. रूस ने इसी तरह के इंजन के सुखोई-30 और उसके बाद सुखोई 35 में लगाने में सफलता हासिल की है. ये सुखोई-57 यानि पांचवें जेनरेशन के स्टेल्थ फाइटर में भी है. जहां अमेरिका ने इस तरह के टीवीसी इंजन को 1990 के दशक में विकसित करना शुरू किया, वहीं चीन इस खेल में सबसे बाद में आया. उसने 16 साल पहले इस दिशा में काम शुरू किया.

    चीन ने ये डब्ल्यूएस-10 ताइहैंग इंजन विकसित किया है, जो उसके पांचवीं जेनरेशन के लड़ाकू विमानों को गजब की ताकत देगा. ये तकनीक दुनिया में अब तक केवल रूस और अमेरिका के पास ही रही है (फोटो साभार- साउथ चाइना मार्निंग पोस्ट)


    नवंबर 2015 में चीन ने 24 सुखोई एसयू-35 खरीदने का सौदा रूस से 2.5 बिलियन डॉलर में किया था. इन विमानों की पहली खेप की अदायगी 2016 में हो भी चुकी है. वो चीन की एयरफोर्स में जबरदस्त तरीके से काम कर रहे हैं.

     ये भी पढ़ें - पीरियड्स नहीं बल्कि ये थी सबरीमाला मंदिर में महिलाओं पर रोक की वजह

    चीन का इरादा दुनिया की सबसे ताकतवर एयरफोर्स बनाने का
    पिछले साल जो रिपोर्ट्स और ऑनलाइन तस्वीरें आईं, उससे जाहिर हुआ कि चीन का जे-10 फाइटर नेट चीन निर्मित टीवीसी नोजल से युक्त होगा. अब पहली बार झुहाई एयरशो में लोगों ने चीन की इस तकनीक को देख भी लिया.

    चीन की वायु सेना (फोटो साभार- साउथ चाइना मार्निंग पोस्ट)


    चीन राष्ट्रपति जी जिनपिंग के कार्यकाल में अपनी सेनाओं का तेजी से आधुनिकीकरण कर रही है, उसकी लंबी योजना दुनिया की सबसे बड़ी ताकत के रूप में खुद को पेश करना है.

     ये भी पढ़ें - दिल्ली से पहले लंदन में छाया था सबसे खतरनाक स्मॉग

    Tags: China, China Defence budget, Fighter jet, Fighter Plane, India and china

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर