लाइव टीवी

चीन का 330 फीट ऊंचा एयर प्यूरिफायर, जिसने शुद्ध कर दी पूरे शहर की हवा

News18Hindi
Updated: November 15, 2019, 5:12 PM IST
चीन का 330 फीट ऊंचा एयर प्यूरिफायर, जिसने शुद्ध कर दी पूरे शहर की हवा
चीन का सबसे बड़ा एयर प्यूरीफायर (छाया सौजन्यः साउथ चाइना मार्निंग पोस्ट)

चीन का एक शहर है झियान. यहां कुछ समय पहले तक वायु प्रदूषण एक गंभीर समस्या थी. लेकिन 330 मीटर ऊंचे टॉवर के बनने के बाद अब यहां लोग शुद्ध हवा में सांस लेने लगे हैं

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 15, 2019, 5:12 PM IST
  • Share this:
सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली सरकार से कहा है कि वायु प्रदूषण की भीषण समस्या से निपटने के लिए उसे कई इलाकों में एयर प्यूरिफायर टॉवर बनाना चाहिए. चीन ने करीब दो साल पहले ऐसा ही एक टॉवर झियान शहर में लगाया था. इस शहर में वायु प्रदूषण एक गंभीर समस्या थी लेकिन एयर प्यूरिफायर के बनने के बाद हवा साफ हो गई. ये दुनिया सबसे बड़ा प्यूरीफायर भी है.

झियान शहर चीन के शांक्शी प्रांत में है. यहां बना एयर प्यूरिफायर टॉवर 330 फीट ऊंचा है. दुनिया में इतना बड़ा प्यूरिफायर और कहीं नहीं है. इसे चीन के दिमाग की उपज भी कह सकते हैं.

पूरे शहर की हवा साफ रखने की क्षमता
ये पूरे शहर की हवा को साफ करने की क्षमता रखता है. ये रोज एक करोड़ घनमीटर हवा को साफ करता है. इसके लगने के बाद शहर की साफ हवा की स्थिति में बहुत सुधार हुआ है. इस शहर की स्थिति इस एयर प्यूरिफायर लगने से पहले ये थी कि शहर का शख्स हवा में 21 सिगरेट के बराबर विषैले तत्व हवा के साथ पी रहा था.

वैज्ञानिक ही इसका पूरा कामकाज देखते हैं. ये जब से लगाया गया है तब से दस किलोमीटर के रेंज की हवा को साफ रखता है. केवल यही नहीं ये प्यूरिफायर टॉवर हवा की गुणवत्ता में सुधार के साथ-साथ स्मॉग को भी 15 से 20 प्रतिशत तक कम करता है.

ये दुनिया का सबसे बड़ा एयर प्यूरिफायर भी है (छाया सौजन्यः साउथ चाइना मार्निंग पोस्ट)


सारी प्रणाली सौर ऊर्जा से नियंत्रित
Loading...

टॉवर की सारी कार्य प्रणाली सौर ऊर्जा से नियंत्रित है. इसलिए इसको बाहर से कोई बिजली नहीं दी जाती. ये सूरज से मिलने वाली ऊर्जा से खुद ब खुद काम करता है. जो खबरें हैं, उसके अनुसार इसके रिजल्ट्स को लेकर चीन की साइंस एकेडमी के वैज्ञानिक संतुष्ट हैं.

वैज्ञानिक कहते हैं कि अभी तो ये शुरुआत है. इस टॉवर से आने वाले समय में और बेहतर रिजल्ट मिलने लगेंगे. वैज्ञानिक आने वाले समय इसकी क्षमता और ऊंचाई दोनों बढाएंगे ताकि ये 30 किलोमीटर रेंज की हवा को साफ रख सके. यानि अगर ऐसा प्यूरिफायर किसी छोटे शहर में लगा दिया जाए तो आराम से पूरे शहर को हेल्दी हवा देता रहेगा.

दो साल में बना प्रोजेक्ट

कभी ये हाल था कि इस शहर में सर्दियों के दौरान इतना ज्यादा प्रदूषण होता था कि लोगों का सांस लेना दुश्वार हो चुका था. मुख्य तौर पर इस शहर का हीटिंग सिस्टम कोयला आधारित था. इस प्रोजेक्ट को 2015 में शुरू किया गया और दो साल के भीतर इसे पूरा कर लिया गया.

भविष्य में ये प्यूरिफायर 30 किलोमीटर रेंज की हवा को पूरी तरह साफ रखेगा (छाया सौजन्यः साउथ चाइना मार्निंग पोस्ट)


वैसे बीजिंग में भी चीन ने इसी तरह का एक विशाल स्मॉग टॉवर बनवाया है. ये केवल बिजली से चलता है हालांकि इसकी क्षमता उतनी नहीं है, जितनी शांक्शी प्रांत के इस झियान शहर के टॉवर की.

झियान शहर के लोग महसूस करने लगे हैं कि अब जाड़े के दौरान जिस हवा में वो सांस ले रहे हैं, वो बेहतर है और इससे वो खुद में अच्छा फील कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें - मुफ्त इलाज के लिए कैसे बनेगा आप का आयुष्मान कार्ड
जापान की इस टेक्नोलॉजी से प्रदूषण से मिलेगा हमेशा के लिए छुटकारा
क्यों खास होती हैं किन्नरों की तालियां, आम लोग नहीं कर पाते ऐसा
आदिवासी लोकनायक बिरसा मुंडा ने जब खुद को घोषित किया था भगवान 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 15, 2019, 5:11 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...