Home /News /knowledge /

कोरोना का इलाज करते-करते इस डॉक्टर ने गंवा दी जान, बन गया है हीरो

कोरोना का इलाज करते-करते इस डॉक्टर ने गंवा दी जान, बन गया है हीरो

लियु झिमिंग की मृत्यु के बाद सोशल मीडिया पर उन्हें श्रद्धांजलि देने वालों की बाढ़ गई है.

लियु झिमिंग की मृत्यु के बाद सोशल मीडिया पर उन्हें श्रद्धांजलि देने वालों की बाढ़ गई है.

चीन के स्थानीय मीडिया में प्रकाशित खबरों के मुताबिक लियु झिमिंग (Liu Zhiming) कोरोना वायरस (Corona Virus) के इलाज में दिन-रात काम कर रहे थे.

    चीन में कोरोना वायरस (Corona Virus) सिर्फ मरीजों की ही नहीं उन डॉक्टरों की भी जिंदगियां लील रहा है जो दिन-रात इलाज कर रहे हैं. वायरस का इन्फेक्शन मरीजों से डॉक्टरों में फैल रहा है. कई डॉक्टर कोरोना वायरस के शिकार हो चुके हैं. 7 डॉक्टरों ने अपनी जान गंवा दी है. मंगलवार को वुहान शहर (Wuhan) के एक अस्पताल के डायरेक्टर ने कोरोना वायरस से दम तोड़ दिया. लियु झिमिंग नाम के इस डॉक्टर की मौत के बाद ट्विटर पर लोग बड़ी संख्या में श्रद्धांजलि दे रहे हैं. लोग लियु झिमिंग को याद करके भावुक हो रहे हैं. ट्विटर पर अस्पताल का एक वीडियो चल रहा है जिसमें लियु का पार्थिव शरीर ले जा रही गाड़ी के पीछे अस्पताल के कर्मचारी रो रहे हैं.

    कौन थे लियु झिमिंग
    लियु झिमिंग वुहान के वुचांग अस्पताल के डायरेक्टर थे. वो किसी चीनी अस्पताल के पहले डायरेक्टर हैं जिसने कोरोना वायरस से जान गंवाई है. अभी तक कोरोना वायरस की वजह से 6 अन्य स्वास्थ्यकर्मी जान गंवा चुके हैं. लियु की मौत की खबर शुरुआत में लोकल मीडिया ने दी लेकिन बुधवार सुबह होते-होते ये खबर ट्विटर के टॉप ट्रेंड में शामिल हो गई. दुनियाभर में उनकी चर्चा हो रही है.

    लियु झिमिंग सातवें डॉक्टर हैं जिन्होंने कोरोना वायरस से जान गंवाई है.


    जिंदगियां बचाते रहे लियु
    चीन के स्थानीय मीडिया में प्रकाशित खबरों के मुताबिक लियु झिमिंग कोरोना वायरस के इलाज में दिन-रात काम कर रहे थे. वो अस्पताल में ही रहते थे. घर आना-जाना छोड़ दिया था. एक के बाद एक मरीजों को दम तोड़ते देखने के बावजूद लियु कोशिशों में लगे थे कि कैसे इन्फेक्टेड लोगों को रोग से बाहर निकाला जाए. लगातार लोगों की जिंदगियां बचाते रहे लियु कब खुद इसकी गिरफ्त में आ गए इसका अंदाजा वो नहीं लगा पाए. करीब हफ्ते भर पहले उनकी तबीयत खराब हुई और फिर उन्हें भी अस्पताल में ही भर्ती करा दिया गया. जहां मंगलवार को उनकी मौत हुई.

    लियु की मौत से याद आए ली वेनलियांग
    लियु की मौत ने चीन को कोरोना वायरस के खतरे से आगाह करने वाले डॉक्टर ली वेनलियांग की मौत याद दिला दी. दरअसल ली वेनलियांग ने दिसंबर महीने में ही कोरोना वायरस के खतरे के प्रति आगाह किया था. लेकिन चीनी प्रशासन ने उनका मुंह बंद करा दिया और सलाह पर ध्यान नहीं दिया. ये शायद चीन की सबसे बड़ी गलती थी. 7 फरवरी को खुद ली वेनलियांग की मौत भी कोरोना वायरस के इन्फेक्शन से ही हो गई.

    दो दिनों में ये दूसरा मामला है जब बिहार के गया से कोरोना वायरस का संदिग्ध मिला है

    मास्क और अन्य मेडिकल उपकरणों की कमी
    चीन के डॉक्टर इस समय दोहरी मार से जूझ रहे हैं. एक तरफ तो उन्हें घंटों तक बिना रुके लोगों को बचाना होता है दूसरी तरफ उनके लिए मेडिकल उपकरणों की भी कमी है. डॉक्टर लगातार डिमांड कर रहे हैं कि उन्हें मास्क और दूसरे उपकरण जल्द से जल्द मुहैया कराए जाएं लेकिन कमी बनी हुई है. न्यू यॉर्क टाइम्स में प्रकाशित एक खबर के मुताबिक अस्पतालों में डॉक्टर पूरे दिन में सिर्फ एक बार स्पेशल वार्ड से बाहर निकलते हैं क्योंकि वो जितनी बार निकलेंगे उन्हें स्पेशल किट उतनी बार बदलनी पड़ेगी.
    ये भी पढ़ें:

    भारत के इन इलाकों को हिट कर सकती है पाकिस्तानी क्रूज मिसाइल, जानें कितनी ताकतवर है राड-2
    हिजाब पहनने और दाढ़ी रखने पर भी मुसलमानों को डिटेंशन सेंटर में डाल रहा चीन
    40 साल पहले एक उपन्यास ने की थी चीन में कोराना वायरस की भविष्यवाणी
    जम्मू-कश्मीर के सोशल मीडिया यूजर्स पर क्यों लगा UAPA, जानें कितना सख्त है कानून
    क्यों खुद को अच्छा हिंदू मानते थे महात्मा गांधी लेकिन किस बात को मानते थे दोषundefined

    Tags: China, Corona Virus

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर