Home /News /knowledge /

तकनीक इस्तेमाल में भारतीय पुलिस से कितनी आगे है चीन की पुलिस

तकनीक इस्तेमाल में भारतीय पुलिस से कितनी आगे है चीन की पुलिस

स्मार्ट चश्मा से लैस चाइनीज पुलिस

स्मार्ट चश्मा से लैस चाइनीज पुलिस

चीन की पुलिस ने कुछ दिनों पहले एक स्मार्ट चश्मा पहना था, जिसकी मदद से उसने अब तक बड़े पैमाने पर अपराधियों की धरपकड़ की है. ये चश्मा फिलहाल भारतीय पुलिस के लिए दूर की कौड़ी है. आइए जानते हैं कि तकनीक से लैस होने में चीनी पुलिस भारतीय पुलिस से कितनी आगे है

अधिक पढ़ें ...
    चीन में पुलिस ने कुछ समय पहले संदिग्ध अपराधियों के चेहरे की पहचान के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से लैस धूप का चश्मा पहनना शुरू कर दिया है. चीन की पुलिस का पहनावा हाईटेक हो चुका है अगर उसकी तुलना भारत की पुलिस से की जाए तो वो अभी उससे काफी पीछे है. धूप का जो चश्मा खासतौर पर चीन की पुलिस पहन रही है, उसे खासतौर पर ईजाद किया गया है. ये चश्मा हाथ में एक डिवाइस से जुड़ा होता है, जो संदिग्धों के आंतरिक डेटाबेस को स्कैन करता है.

    चश्मे ने कराईं कई गिरफ्तारियां 
    इस चश्मा तकनीक से चीन में अब तक तमाम अपराधियों की गिरफ्तारी हो चुकी है. इस चश्मे में इस्तेमाल किए गए आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस ने चीनी पुलिस का काम आसान कर दिया है. चीन ने वैसे पिछले दिनों कई ऐसे काम किये हैं, जिससे वो अपने लोगों की गतिविधियों को ट्रैक कर सके.

    चीन में पहले से ही लगभग 17 करोड़ सीसीटीवी कैमरे हैं - जिनमें से कई पहले से चेहरे की पहचान वाली तकनीक से लैस हैं. चीन का दावा है कि उसके पास "दुनिया का सबसे बड़ा कैमरा निगरानी नेटवर्क" है. जिसे वो अभी और बड़ा कर रहा है. ऐसी तकनीक के फायदे और नुकसान दोनों हैं लेकिन भारत के पास अभी तक ऐसी कोई तकनीक नहीं है.

    चीन की पुलिस के पास खास हेलमेट
    भारत और चीन की पुलिस में और भी कई फर्क हैं. भारत में जहां पुलिस वाले खाकी या नीले रंग की टोपी पहनते हैं, तो चीन में ई कैमरे से लैस टोपी पुलिस को दी जाती है ताकि बेहतर नज़र रखी जा सके. इसमें पूरा घटनाक्रम रिकॉर्ड होता रहता है. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस वाला चश्मा अब चीन कई शहरों में इस्तेमाल में ला रहा है. चीन में पुलिस के पास जो हेलमेट हैं वह गोलियां तक झेल जाने की क्षमता रखता है.

    India vs China Police

    चीनी पुलिस ऑटोमैटिक पिस्तौल से लैस
    भारतीय पुलिसवालों के पास आमतौर पर डंडे रहते हैं. हां, दिल्ली पुलिस को अब रिवाल्वर मिलने लगी है. चीन में पुलिस को ऑटोमैटिक पिस्तौल दी जाती है, जिसकी रेंज ज़्यादा दूर तक होती है.



    ऑटोमेटिक स्कूटर्स का इस्तेमाल
    चीनी पुलिस आटोमेटिक स्कूटर्स का इस्तेमाल करती है, जो मल्टीपरपज होती हैं, इसमें कई ऐसी सुविधाएं होती हैं, जो उन्हें पुलिस कंट्रोल रूम से जोड़ती है.



    इसमें सुरक्षा के भी कई उपकरण लगे होते हैं. भारत में आम मोटरसाइकिल पर ही पुलिस शोहदों का पीछा करती है. चीनी पुलिस सुपर बाइक का इस्तेमाल करती है, इन बाइक पर चीनी पुलिस हरदम अलर्ट रहती है और तेज़ कार्रवाई करती है. पिछले दिनों दिल्ली पुलिस को अत्याधुनिक बाइक और यूनिफार्म देने की बात हुई थी लेकिन उसका क्रियान्वयन कब तक होगा, ये नहीं पता.



    ये भी पढ़ें :-

    अब नए कंपोस्ट तरीके से दुनियाभर में होगा अंतिम संस्कार
    कोरोना का इलाज करते-करते इस डॉक्टर ने गंवा दी जान, बन गया है हीरो
    क्या है कम्बाला रेस, जहां बार-बार टूट रहे हैं यूसेन बोल्ट के रिकॉर्ड
    जापान में सालाना होता है एक खास 'नग्न उत्सव', मंदिर में जुटते हैं हजारों लोग
    शिवाजी महाराज की वो महान खूबियां, जिनकी बदौलत वो छत्रपति कहलाए
    भारत के इन इलाकों को हिट कर सकती है पाकिस्तानी क्रूज मिसाइल, जानें कितनी ताकतवर है राड-2undefined

    Tags: Artificial Intelligence, China, India and china, India china, Police

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर