विराट कोहली के सामने आखिर क्यों नहीं ठहरते पाकिस्तानी कप्तान सरफराज़

एक ओर टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली का पर्सनालिटी कांफिडेंट और एग्रेसिव है तो दूसरी ओर सरफराज का पूरा व्यक्तित्व ही दबा दबा लगता है. अगर दोनों के खेल को देखें तो विराट दमदार खेल के सामने पाक कप्तान की कोई तुलना ही नहीं

Sanjay Srivastava | News18Hindi
Updated: June 17, 2019, 12:56 PM IST
विराट कोहली के सामने आखिर क्यों नहीं ठहरते पाकिस्तानी कप्तान सरफराज़
विराट कोहली बनाम सरफराज अहमद
Sanjay Srivastava
Sanjay Srivastava | News18Hindi
Updated: June 17, 2019, 12:56 PM IST
भारत ने वर्ल्ड कप के सबसे ज्यादा चर्चित मुकाबले में पाकिस्तान को 89 रनों से जिस तरह हराया है. उसकी चुभन पाकिस्तान में महसूस की जाने लगी है. पाकिस्तान में ट्विटर पर ऐसे संदेशों की बाढ़ आ गई है कि सरफरार को वापस भेजो. वैसे ये देखना रोचक होगा कि कप्तान विराट कोहली के सामने कहां ठहरते हैं पाकिस्तान के कप्तान सरफराज अहमद

कोहली बॉस लगते हैं लेकिन सरफराज
सच बात तो यही है कि विराट कोहली का कद सरफऱाज से इतना बड़ा है कि वो हर बात में उनके आगे बौने ही नजर आते हैं. मैदान पर जब दोनों उतरते हैं तो जरा बॉडी लेंग्वेज पर गौर करिएगा - कोहली साफतौर पर बॉस लगते हैं लेकिन सरफराज को देखकर क्या महसूस होता है. क्या आपको वाकई उनमें कप्तान सरीखी पर्सनालिटी नजर आती है क्या. उनकी पर्सनालिटी आमतौर पर दबी हुई लगती है. हालांकि कोहली उम्र में सरफराज से दो साल छोटे ही हैं. सरफराज की उम्र 32 साल है.

बहुत पीछे हैं पाकिस्तान क्रिकेट कप्तान

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली का कद एक क्रिकेटर के तौर पर पाकिस्तानी कप्तान सरफराज अहमद से बहुत बड़ा है. कोहली ने खुद को लगातार साबित किया है. वो दुनिया के टॉप बल्लेबाजों में शुमार होते हैं. वन-डे से लेकर टेस्ट मैचों तक उनकी कप्तानी और खेल दोनों का कोई जवाब नहीं. सरफराज कप्तान से लेकर क्रिकेटर तक के रूप में उनसे खासे पीछे हैं.

विराट कोहली लगते हैं कि वो टीम के बॉस हैं लेकिन सरफराज के लिए तो कतई ऐसा नहीं कहा जा सकता


कोहली के पूरे कंट्रोल में रहती है टीम लेकिन..
Loading...

कप्तान के रूप में विराट का पूरा नियंत्रण भारतीय टीम पर है. सरफराज के साथ ऐसा नहीं कह सकते. वर्ल्ड कप के मैचों में ही देख लीजिए. पाकिस्तान की खिलाड़ियों पर वो विकेट के पीछे से खीझते रहते हैं और लगता है टीम के खिलाड़ी उनकी परवाह ही नहीं करते. वर्ल्ड कप में लड़खड़ाती हुई टीम यही कह रही है.

जानें उन 3 क्रिकेटरों की कहानी, जो भारत और पाकिस्तान दोनों टीमों से खेले

फैसला लेने की ताकत
जब भारत के खिलाफ मैच में सरफराज ने टॉस जीतकर पहले बॉलिंग का फैसला लिया तो हर कोई हैरान रह गया. विकेट के नेचर के लिहाज से भी और मौसम के लिहाज से भी. क्योंकि ये शुरू से साफ था कि जो टीम पहले बैटिंग करेगी, वो ज्यादा फायदे में रहेगी. और यही हुआ भी. वहीं विराट कोहली अब मैच्योर कप्तान होते जा रहा हैं. वो बेशक एग्रेसिव हैं लेकिन उन्हें टीम में धोनी और रोहित शर्मा जैसे ऐसे खिलाड़ियों की राय भी मिलती है, जो कप्तान के रूप में खुद को साबित कर चुके हैं या कर रहे हैं.

सरफराज ने जब टॉस जीतने के बाद बैटिंग नहीं लेकर बॉलिंग करने का फैसला किया तो हर किसी को हैरानी हुई


विराट बेस्ट तो सरफराज आसपास भी नहीं
इसमें तो कोई शक ही नहीं कि भारतीय कप्तान विराट कोहली आज की तारीख में दुनिया के बेस्ट बल्लेबाजों में हैं. चाहे आप रणनीति की बात करें या फिर शाट सेलेक्शन या फिर तेजी से रन बनाने की, हर मामले में विराट काफी आगे हैं. वर्ल्ड कप में अब तक सरफराज और उनकी टीम की बैटिंग सवालों के घेरे में है. भारतीय टीम के साथ कोहली के बारे में तो कोई ऐसा कह ही नहीं सकता. कोहली खुद जबरदस्त फॉर्म में हैं और अच्छी बैटिंग कर रहे हैं.

वन -डे मैचों में कोहली
230 मैच         11020 रन          59.56 औसत       41 शतक और 51 अर्द्धशतक      183 सर्वोच्च स्कोर

वन-डे मैचों में सरफराज
110 मैच         2243 रन             34.50 औसत       02 शतक और 11 अर्धशतक       105 रन सर्वोच्च

कोहली की तो वाह-वाह
इस वर्ल्ड कप में कप्तान के रूप में सरफराज लगातार आलोचनाओं के घेरे में हैं. उन्हें वापस पाकिस्तान भेजने की मांग होने लगी है. बल्ले से भी वो सफल नहीं की आलोचनाएं हुई हैं. वो जिस तरह कप्तानी कर रहे हैं, जिस तरह फील्ड सजाते हैं, बैटिंग करते हैं और उनकी फिटनेस जैसी है- इन सभी बातों पर वो निशाने पर हैं.
इसके उलट विराट कोहली ने भारतीय टीम को अब तक सारे मैच जिताए हैं. उनकी कप्तानी को लोग वर्ल्ड कप में ना केवल बेहतर पा रहे हैं बल्कि उनकी रणनीतियों औऱ कप्तानी की तारीफ भी कर रहे हैं.

कोहली एग्रेसिव और कांफिडेंट कप्तान को सरफराज विकेट के पीछे खीझते रहने वाले टीम लीडर


सरफराज खीझने वाले तो कोहली एग्रेसिव कप्तान
विराट कोहली अपने खिलाड़ियों की गलतियों को बर्दाश्त नहीं कर पाते. तुरंत आड़े हाथों लेते हैं. मैदान पर वो हमेशा एनर्जी से भरपूर और एग्रेसिव नजर आते हैं. वहीं सरफराज विकेट के पीछे अजीब सा मुंह बनाए रहते हैं या वहीं से टीम पर खीझते और झींकते रहते हैं. सरफराज कोई प्रेरणादायक लीडर नहीं औऱ ना ही चालाक रणनीतिकार. कोहली इसके ठीक उलटे हैं. वो खुद रन बनाते हैं, बड़ी पारियां खेलते हैं, दुनिया के बेहतरीन बल्लेबाजों में शुमार किए जाते हैं लिहाजा वो टीम के लिए प्रेरणा देने वाले लीडर हैं.

पाकिस्तान का 7वां सरेंडर: टीम इंडिया की जीत पर यह बोले देश-दुनिया के अखबार
First published: June 17, 2019, 12:56 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...