लाइव टीवी

कश्मीर से 370 हटाने का विरोध करने वाले ब्रिटिश सांसद पर भड़के भारतीय मूल के लोग

News18Hindi
Updated: October 14, 2019, 6:30 PM IST
कश्मीर से 370 हटाने का विरोध करने वाले ब्रिटिश सांसद पर भड़के भारतीय मूल के लोग
लेबर पार्टी के नेता जेरेमी कॉर्बिन

ब्रिटेन में रह रहे भारतीयों में लेबर पार्टी के नेता के ट्वीट के बाद से भारी असंतोष फैला हुआ है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 14, 2019, 6:30 PM IST
  • Share this:
ब्रिटेन में विपक्षी पार्टी के नेता जेरेमी कॉर्बिन (Jeremy Corbyn) के एक ट्वीट ने वहां रह रहे भारतीय मूल के लोगों को काफी नाराज कर दिया है. जेरेमी का ये ट्वीट कश्मीर पर है, जो उन्होंने कांग्रेस प्रतिनिधियों से मुलाकात के बाद किया.

ब्रिटेन में ब्रेक्सिट के बाद से किसी न किसी मुद्दे तनाव बना ही हुआ है
हाल ही में लेबर पार्टी के नेता जेरेमी के एक बयान ने ब्रिटेन से लेकर भारत में तहलका मचा रखा है. जेरेमी ने बीते बुधवार वहां पर कांग्रेस के प्रतिनिधियों से मुलाकात की थी. इस दौरान कश्मीर को लेकर विस्तार से चर्चा हुई. मुलाकात के ठीक बाद जेरेमी ने एक ट्वीट करते हुए लिखा- 'भारतीय कांग्रेस पार्टी के ब्रिटिश प्रतिनिधियों के साथ बेहद सार्थक मुलाकात हुई जहां हमने कश्मीर में मानवाधिकार की स्थिति पर चर्चा की. अब हिंसा का ये चक्र खत्म होना चाहिए और शांति कायम होनी चाहिए.' इस ट्वीट के साथ ही जेरेमी ने ब्रिटेन में इंडियन ओवरसीज कांग्रेस को देख रहे नेताओं के साथ अपनी तस्वीरें भी डाली हैं.

Loading...


सरकार के आधिकारिक रुख के विपरीत विपक्ष ने पारित किया आपात प्रस्ताव
अब तक सत्ताधारी ब्रिटिश सरकार का रुख रहा है कि कश्मीर भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय मुद्दा है. भारत द्वारा आर्टिकल 370 की समाप्ति के फैसले के बाद भी ब्रिटिश सरकार की तरफ से इसे लेकर कोई नकारात्मक टिप्पणी नहीं आई लेकिन अब लेबर पार्टी के नेता का ये ट्वीट आया है.

भारत में भी ट्वीट पर गुस्सा
विपक्षी दल से मुलाकात के बाद हुए इस ट्वीट से भारत में सत्ताधारी पार्टी में गुस्सा दिखाई देने लगा. बीजेपी ने विपक्षी दल पर आरोप लगाते हुए कहा कि वे विदेशी नेताओं से अपने घर के मामलों पर चर्चा कर रहे हैं. पार्टी में विदेश मामले देख रहे विजय चौथाईवाले ने कहा कि अब ऐसी हालत हो गई कि कांग्रेस लेबर पार्टी के नातओं से सलाह मांग रही है. आरोपों के बीच विपक्षी दल की ब्रिटेन इकाई ने सफाई देते हुए कहा कि जेरेमी से मुलाकात ये साफ करने के लिए थी कि कश्मीर देश का आंतरिक मामला है. इसमें किसी भी देश की दखलंदाजी नहीं चाहिए. कांग्रेस पार्टी देश के आंतरिक विषयों पर किसी बाहरी से कभी बात नहीं करेगी.

भारतीय मूल के लोगों ने मिलकर लिखा पत्र
दूसरी ओर ब्रिटेन में रह रहे भारतीयों में लेबर पार्टी के नेता के ट्वीट के बाद से भारी असंतोष फैला हुआ है. ब्रिटिश इंडियन कम्युनिटी ऑर्गेनाइजेशन्स (British Indian Community Organisations) ने संयुक्त रूप से जेरेमी को एक पत्र लिखा, जिसमें उनका गुस्सा खुलकर झलक रहा है. इसमें ट्वीट के संदेश को एकपक्षीय करार देते हुए लोगों ने लिखा कि कश्मीर मुद्दे को यूके की घरेलू राजनीति में लाने पर समुदाय की एकता को खतरा हो सकता है. इसी साल 15 अगस्त पर इंडियन हाई कमीशन के सामने गिरफ्तारियां इसी का एक उदाहरण है.



संगठन ने कश्मीर पर पारित आपात प्रस्ताव पर गहरी चिंता जताते हुए कहा कि कश्मीर पूरी तरह से भारत और पाकिस्तान के बीच का मसला है. इस प्रस्ताव को 'ठीक से तैयार नहीं किया गया है और यह पक्षपातपूर्ण है.' पत्र में आगे लिखा गया है कि ऐसे समय में जब ब्रिटेन खुद ब्रेक्जिट के मसले पर पेरेशान है, ऐसे में यहां समुदायों के बीच और विभाजन पैदा कर हम दुनिया के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश के साथ अपने कूटनीतिक संबंधों को नुकसान पहुंचा रहे हैं.

ये भी पढ़ें:

कौन हैं अभिजीत बनर्जी और उनकी पत्नी, जिन्हें मिला अर्थशास्त्र का नोबेल प्राइज़

जब EC ने बाल ठाकरे पर लिया था एक्शन, 6 साल तक नहीं डालने दिया वोट

FATF ने ब्लैकलिस्ट किया तो पाकिस्तान की टूट जाएगी कमर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 14, 2019, 6:30 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...