1885 में बनी थी कांग्रेस : 135 साल, 5 युग और 60 पार्टी अध्यक्ष

कांग्रेस की वर्तमान अध्यक्ष सोनिया गांधी. (File Photo)

कांग्रेस की वर्तमान अध्यक्ष सोनिया गांधी. (File Photo)

Congress Foundation Day : भारत की सबसे पुरानी राजनीतिक पार्टी जब अपनी खोई हुई साख, आधार और लोकप्रियता के साथ ही स्थायी अध्यक्ष की तलाश में है, तब जानिए कि भारत के कितने दिग्गज नेता और व्यक्तित्व इसकी कमान संभाल चुके हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 28, 2020, 8:53 PM IST
  • Share this:

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (Indian National Congress) की स्थापना 1885 में 28 दिसंबर को ही हुई थी, जब बॉम्बे में कांग्रेस का पहला अधिवेशन (Bombay Conference) इसी तारीख को शुरू हुआ था. इतिहास के पन्नों से यह तो याद रहता है कि रिटायर्ड ब्रिटिश अधिकारी एओ ह्यूम (A.O. Hume) की कोशिशों के बाद कांग्रेस का जन्म हुआ था, लेकिन क्या आपको कांग्रेस के पहले अध्यक्ष (First president of Congress) का नाम याद रहता है? क्या यह याद रहता है कि तबसे कांग्रेस के अब तक कितने अध्यक्ष रहे?

पिछले करीब एक साल से कांग्रेस में अध्यक्ष पद को लेकर काफी बहस और गतिरोध रहा. राहुल गांधी के अध्यक्ष पद से हटने के बाद 'नेहरू गांधी परिवार' के बाहर के किसी नेता को यह ज़िम्मेदारी सौंपने की चर्चाओं के बीच सोनिया गांधी को फिर यह दायित्व संभालना पड़ा. फिर भी इसे अस्थायी भूमिका ही माना जा रहा है और कांग्रेस अपने अध्यक्ष की तलाश में है. इन स्थितियों के बीच जानिए कि 135 साल के इतिहास वाली पार्टी के अहम युगों में किस किसने पार्टी की कमान संभाली.

ये भी पढ़ें :- अहम बदलाव और खास रिकॉर्ड अपने नाम करने वाले नेता थे अरुण जेटली

Youtube Video

1. शुरुआती युग : कांग्रेस का पहला अध्यक्ष कौन था?

लॉर्ड डफरिन उस वक्त भारत में ब्रिटेन के वायसराय थे, जब कांग्रेस बनी. 25 दिसंबर 1885 को पूना में पार्टी का पहला सम्मेलन तय हुआ था, लेकिन बाद में इसे बॉम्बे गोकुलदास तेजपाल संस्कृत कॉलेज के हॉल में 28 से 31 दिसंबर के बीच आयोजित किया गया. कांग्रेस के पहले सेशन में 72 सदस्य शामिल थे और अध्यक्ष वोमेशचंद्र बनर्जी थे. बनर्जी ने बाद में 1892 में कांग्रेस के इलाहाबाद अधिवेशन की अध्यक्षता भी की थी.

history of congress, congress presidents list, sonia gandhi news, history of gandhi family, कांग्रेस का इतिहास, कांग्रेस अध्यक्ष लिस्ट, सोनिया गांधी न्यूज़, गांधी परिवार का इतिहास
महात्मा गांधी, सरदार पटेल, नेताजी और जवाहरलाल नेहरू.



पारसी समुदाय के बुद्धिजीवी, शिक्षाविद, व्यापारी और समाज सुधारक दादा भाई नौरोजी 1886 और 1893 में कांग्रेस के अध्यक्ष रहे. 1887 में बदरुद्दीन तैयबजी तो 1888 में जॉर्ज यूल कांग्रेस के पहले अंग्रेज़ अध्यक्ष बने. 1889 से 1899 के बीच विलियम वेडरबर्न, सर की उपाधि पाने वाले फिरोज़शाह मेहता, आनंदचार्लू, अल्फ्रेड वेब, राष्ट्रगुरु सुरेंद्रनाथ बनर्जी, आगा खान के अनुयायी रहमतुल्लाह सयानी, स्वराज का विचार देने वाले वकील सी शंकरन नायर, बैरिस्टर आनंदमोहन बोस और सिविल अधिकारी रोमेशचंद्र दत्त कांग्रेस अध्यक्ष रहे.

ये भी पढ़ें :- साथी हों या विरोधी, कैसे जेटली को मिलता रहा सबका प्यार-सबका साथ?

इसके बाद हिंदू समाज सुधारक सर एनजी चंदावरकर, कांग्रेस के संस्थापकों में शुमार दिनशॉ एडुलजी वाचा, बैरिस्टर लालमोहन घोष, सिविल अधिकारी एचजेएस कॉटन, गरम दल व नरम दल में पार्टी के टूटने के वक्त गोपाल कृष्ण गोखले, वकील रासबिहारी घोष, शिक्षाविद मदनमोहन मालवीय, बीएन दार, सुधारक राव बहादुर रघुनाथ नरसिम्हा मुधोलकर, नवाब सैयद मोहम्मद बहादुर, भूपेंद्र नाथ बोस, ब्रिटेन के हाउस ऑफ लॉर्ड्स में पहले भारतीय सदस्य बने एसपी सिन्हा, एसी मजूमदार, पहली महिला कांग्रेस अध्यक्ष एनी बेसेंट, सैयद हसन इमाम और भारतीय राजनीति में नेहरू परिवार के पूर्वज मोतीलाल नेहरू 1900 से 1919 के बीच कांग्रेस अध्यक्ष रहे.

2. 'गांधी युग' में कांग्रेस के अध्यक्ष

साल 1915 में अफ्रीका से लौटकर भारत आए मोहनदास करमचंद गांधी का प्रभाव राजनीति और कांग्रेस की विचारधारा व आंदोलन तय करने में 1920 के आसपास से साफ दिखना शुरू हुआ जो गांधी के जीवन के कुछ बाद भी रहा. 1920 से भारत की आज़ादी यानी 1947 के बीच इस युग को माना जाए तो इस युग में पहले कांग्रेस अध्यक्ष पंजाब केसरी लाला लाजपत राय थे, जिन्होंने 1920 के कलकत्ता अधिवेशन की अध्यक्षता की.

ये भी पढ़ें :- क्या आपको याद है आतंकी उमद सईद शेख और पर्ल हत्याकांड?

इसके बाद स्वराज संविधान बनाने में अग्रणी रहे सी विजयराघवचारियार, जामिया मिल्लिया के संस्थापक हकीम अजमल खान, देशबंधु चितरंजन दास, मोहम्मद अली जौहर, भारत रत्न और कवि, पत्रकार, शिक्षाविद मौलाना अबुल कलाम आज़ाद कांग्रेस के अध्यक्ष रहे. 1924 में बेलगाम अधिवेशन की अध्यक्षता महात्मा गांधी ने की और यहां से कांग्रेस के ऐतिहासिक स्वदेशी, सविनय अवज्ञा और असहयोग आंदोलनों की नींव पड़ी. गांधी का प्रभाव उनके अध्यक्ष न रहने पर भी बना रहा.

history of congress, congress presidents list, sonia gandhi news, history of gandhi family, कांग्रेस का इतिहास, कांग्रेस अध्यक्ष लिस्ट, सोनिया गांधी न्यूज़, गांधी परिवार का इतिहास
न्यूज़18 क्रिएटिव

फिर सरोजिनी नायडू, मद्रास के एडवोकेट जनरल रहे एस श्रीनिवास अयंगर, मुस्लिम लीग के अध्यक्ष रहे मुख्तार अहमद अंसारी, गांधी के अनुयायी जवाहरलाल नेहरू वास्तव में 1929 में पहली बार कांग्रेस अध्यक्ष बने थे लेकिन चुने नहीं गए थे बल्कि मोतीलाल नेहरू के प्रभाव के चलते बने थे. सरदार वल्लभभाई पटेल, नेली सेनगुप्ता, राजेंद्र प्रसाद, नेताजी सुभाषचंद्र बोस और गांधी के अनुयायी जेबी कृपलानी भारत को आज़ादी मिलने तक कांग्रेस अध्यक्ष रहे.

3. कांग्रेस का नेहरू युग

1948 और 49 में पट्टाभि सीतारमैया कांग्रेस के अध्यक्ष रहे और यही वो साल थे जब गांधी की हत्या हो चुकी थी. गांधी का प्रभाव खैर आज तक भी भारतीय राजनीति पर है, लेकिन उनकी हत्या के बाद कांग्रेस का नेहरू युग शुरू हुआ. पहले प्रधानमंत्री बन चुके नेहरू के समय में जिस साल संविधान लागू हुआ यानी 1950 में कांग्रेस के अध्यक्ष हिंदीसेवी और साहित्यकार पुरुषोत्तमदास टंडन थे. 1951 से 1954 तक खुद नेहरू अध्यक्ष रहे.

ये भी पढ़ें :- केरल में कैसे स्टूडेंट्स को हाथ आ रही है सिस्टम की चाबी?

नेहरू युग में 1955 से 59 तक यूएन धेबार कांग्रेस के अध्यक्ष रहे. 1959 में पहली बार कांग्रेस अध्यक्ष बनीं इंदिरा गांधी बाद में भी कांग्रेस अध्यक्ष रहीं. 1960 से 63 तक नीलम संजीव रेड्डी, नेहरू के निधन के साल 1964 से 67 तक किंगमेकर कहे जाने वाले के कामराज कांग्रेस अध्यक्ष रहे. हालांकि नेहरू का निधन 1964 में हो चुका था, लेकिन कांग्रेस का अगला इंदिरा गांधी युग लाल बहादुर शास्त्री की मौत के बाद शुरू होता है.

history of congress, congress presidents list, sonia gandhi news, history of gandhi family, कांग्रेस का इतिहास, कांग्रेस अध्यक्ष लिस्ट, सोनिया गांधी न्यूज़, गांधी परिवार का इतिहास
न्यूज़18 क्रिएटिव

4. कांग्रेस का इंदिरा गांधी युग

साल 1966 में पहली बार देश की पहली और इकलौती महिला प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी बनीं. कामराज के साथ उनका सत्ता संघर्ष काफी चर्चित रहा. इसके बाद ही इंदिरा की लीडरशिप और 'लौह महिला' होने के सबूत मिलने लगे. इंदिरा गांधी के प्रभाव के समय में 1968-69 में निजालिंगप्पा, 1970-71 में बाबू जगजीवन राम 1972-74 तक शंकर दयाल शर्मा और 1975-77 तक देवकांत बरुआ कांग्रेस अध्यक्ष रहे.

ये भी पढ़ें :- अब तक कितने देशों में फैल चुके हैं कोरोना के नए स्ट्रेन?

1977 से 78 के बीच केबी रेड्डी ने कांग्रेस को संभाला लेकिन इमरजेंसी के बाद कांग्रेस टूटी तो 1978 में इंदिरा गांधी के नेतृत्व वाली कांग्रेस की अध्यक्ष खुद वही बनीं. एक छोटा सा वक्त छोड़ दिया जाए तो 1984 में अपनी हत्या के पहले तक इंदिरा ही अध्यक्ष रहीं. कांग्रेस ने करीब 15 साल का इंदिरा गांधी युग देखा और इसके बाद कुछ जानकार कहते हैं कि राजीव गांधी युग शुरू हुआ, लेकिन राजनीतिक प्रभावों और अवधियों को देखा जाए तो इस अगले युग को नेहरू-गांधी परिवार युग कहना ज़्यादा ठीक है.

5. कांग्रेस का गांधी परिवार युग

इंदिरा गांधी की हत्या के बाद राजीव गांधी प्रधानमंत्री भी बने और 1985 में कांग्रेस के अध्यक्ष भी. जब राजीव गांधी की हत्या हुई तब फिर कांग्रेस के सामने अध्यक्ष को लेकर संकट खड़ा हुआ क्योंकि शुरुआत में सोनिया गांधी ने सक्रिय राजनीति में आने में रुचि नहीं दिखाई थी. 1992 से 96 तक पीवी नरसिम्हाराव ने कांग्रेस का नेतृत्व किया तो 1996 से 98 तक गांधी परिवार के वफादार माने जाने वाले सीताराम केसरी ने.

history of congress, congress presidents list, sonia gandhi news, history of gandhi family, कांग्रेस का इतिहास, कांग्रेस अध्यक्ष लिस्ट, सोनिया गांधी न्यूज़, गांधी परिवार का इतिहास
न्यूज़18 क्रिएटिव

इसके बाद नाटकीय स्थितियों में सोनिया गांधी का सक्रिय राजनीति में पदार्पण हुआ और 1998 से 2017 तक करीब 20 सालों तक सोनिया ही कांग्रेस की अध्यक्ष रहीं. राहुल गांधी को 2017 में पार्टी की कमान सौंपी गई, लेकिन 2019 के आम चुनावों में बड़ी हार के बाद राहुल ने अध्यक्ष पद छोड़ने की पेशकश की और कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष गांधी परिवार के बाहर के नेता को होना चाहिए. तबसे कार्यवाहक अध्यक्ष के तौर पर फिर सोनिया ने पार्टी को संभालने की कोशिश की है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज