लाइव टीवी

कोरोना वायरस से अर्थव्यवस्था पर बुरा असर, क्या भारत भी होगा प्रभावित?

News18Hindi
Updated: January 29, 2020, 10:31 AM IST
कोरोना वायरस से अर्थव्यवस्था पर बुरा असर, क्या भारत भी होगा प्रभावित?
कोरोना वायरस का चीन की अर्थव्यवस्था पर बुरा असर होगा

चीन (China) दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था (World's second largest economy) है. विशेषज्ञ बता रहे हैं कि चीन की अर्थव्यवस्था में आई गिरावट का असर दुनियाभर पर पड़ेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 29, 2020, 10:31 AM IST
  • Share this:
चीन (China) से फैले कोरोना वायरस (Corona Virus) की चपेट में दुनियाभर के कई देश आ चुके हैं. चीन में इस बीमारी की चपेट में आकर मरने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है. चिंता की एक बात ये भी है कि कोरोना वायरस की वजह से चीन के साथ दुनियाभर की अर्थव्यवस्था प्रभावित हो सकती है. अर्थव्यवस्था को लेकर अभी साफ-साफ आंकड़ा तो नहीं दिया जा रहा है, लेकिन इतना बताया जा रहा है कि इससे चीन के साथ दुनियाभर की अर्थव्यवस्था प्रभावित होगी.

चीन दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है. विशेषज्ञ बता रहे हैं कि चीन की अर्थव्यवस्था में आई गिरावट का असर दुनियाभर पर पड़ेगा. अगर चीन अपने संभावित विकास दर को हासिल करने में नाकाम रहता है तो दुनियाभर में स्लोडाउन आएगा. भारत भी अपने गिरते विकास दर से चिंतित है. ऐसे में ग्लोबल स्लो डाउन का असर यहां भी देखने को मिल सकता है.

सार्स महामारी से हुआ था बड़ा आर्थिक नुकसान
इसके पहले भी महामारी फैलने की वजह से दुनिया की अर्थव्यवस्था प्रभावित हो चुकी है. 2002-2003 में चीन में सीवियर एक्यूट रेसपेरेट्री सिंड्रोम यानी सार्स ने भयानक कहर बरपाया था. चीन की अर्थव्यवस्था पर इसका बड़ा बुरा असर पड़ा था.

एक आंकड़े के मुताबिक सार्स महामारी की वजह से चीन का विकास दर 1.1 से लेकर 2.6 पॉइंट तक प्रभावित हुआ था. कोरोना वायरस अगर सार्स जितनी बड़ी महामारी साबित होती है तो चीन एक बार फिर संकट में घिर सकता है. 2002-03 के वक्त दुनिया की अर्थव्यवस्था एकदूसरे पर उतना निर्भर नहीं थी, जितना आज है. अगर आज उस वक्त जैसे हालात पैदा होते हैं और चीन की विकास दर उस हद तक प्रभावित होती है तो दुनिया पर भी इसका उतना ही नकारात्मक असर पड़ेगा.

coronavirus can affect the world economy badly will india also be affected
कोरोना वायरस की वजह से वर्ल्ड इकोनॉमी भी प्रभावित हो सकती है


चीन के शेयर बाजार पर पड़ा असरचीन में कोरोना वायरस का नकारात्मक असर दिखना शुरू भी हो गया है. चीन के शेयर बाजार इससे प्रभावित हुए हैं. चीन के शेन्जेन और शंघाई स्टॉक मार्केट में 3.52 और 2.75 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है. चीन में नए साल की छुट्टियां मनाई जा रही है. अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले नकारात्मक असर को कम करने के लिए अगले सोमवार तक के लिए छुट्टियां बढ़ा दी गई हैं.

ट्रांसपोर्ट से लेकर मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर पर असर
चीन के जिस वुहान प्रांत से कोरोना वायरस फैला है. उसे चीन का ट्रांसपोर्ट हब माना जाता है. कोरोना वायरस के फैलने से रोकने के लिए वहां कई तरह के प्रतिबंध लग गए हैं. ऐसे में वहां की ट्रांसपोर्ट इंडस्ट्री प्रभावित हुई है. चीन पूरी दुनिया के लिए मैन्युफैक्चरिंग हब है. ट्रांसपोर्ट पर रोक का असर इस इंडस्ट्री पर भी पड़ेगा. अगर ये लंबे वक्त तक रहता है तो चीन का मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर भी प्रभावित होगा.

चीन में इस वक्त नए साल की छुट्टियां चल रही हैं. इस समय वहां दुनियाभर के पर्यटक पहुंचते हैं. लेकिन कोरोना वायरस की वजह से पर्यटकों ने चीन की यात्रा स्थगित कर दी है. छुट्टियों के मौके पर चीन के लोग भी विदेशों में घूमने जाते हैं. एक आंकड़े के मुताबिक चीन के करीब 70 लाख लोगों ने विदेश जाने का प्लान बनाया था. अब इसमें 2019 के मुकाबले करीब 40 फीसदी की कमी दर्ज की जा रही है.

coronavirus can affect the world economy badly will india also be affected
2002-03 में सार्स महामारी की वजह से चीन को हुआ था बड़ा आर्थिक नुकसान


अर्थव्यवस्था को कितना नुकसान पहुंचाएगा कोरोना वायरस
अभी पूरे तौर पर ये नहीं बताया जा रहा है कि चीन की अर्थव्यवस्था कोरोना वायरस की वजह से कितना प्रभावित होगी. लेकिन मोटे तौर पर अनुमान लगाया जा रहा है कि जिस तरह से वायरस फैल रहा है. इसकी वजह से चीन की विकास दर 0.5 से लेकर 1 फीसदी तक प्रभावित हो सकती है. अगर 1 फीसदी का भी नुकसान होता है तो ये करीब 136 बिलियन डॉलर के करीब होगी. ये बहुत बड़ा नुकसान होगा.

2002-03 में जिस वक्त चीन में सार्स महामारी फैली थी, उस दौरान चीन की अर्थव्यवस्था को करीब 18 बिलियन डॉलर का नुकसान उठाना पड़ा था. एक अनुमान के मुताबिक दुनियाभर की अर्थव्यवस्था को करीब 40 अरब डॉलर का नुकसान हुआ था. कोरोना वायरस अभी सार्स की तरह की महामारी बनकर नहीं टूटी है. अगर कोरोना वायरस की बीमारी तेजी से फैलती है तो नुकसान काफी बड़ा होने वाला है.

ये भी पढ़ें:

चाइल्ड पॉर्नोग्राफी पर चिंताजनक रिपोर्ट, देश में बन रहे हैं हजारों अश्लील वीडियो

कोरोना वायरस : आखिर चीन से ही क्यों फैलती हैं नई-नई महामारियां

लाला लाजपत राय ने रखी थी पहले स्वदेशी बैंक की नींव

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 29, 2020, 10:03 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर