कोरोना वायरस: एकदूसरे से मिलने पर अभिवादन के तौर-तरीके बदल रहे दुनिया भर के देश

कोरोना वायरस के कारण दुनिया भर के देशों ने एकदूसरे से मिलने पर अभिवादन के पारंपरिक तौर-तरीकों से तौबा कर ली है.
कोरोना वायरस के कारण दुनिया भर के देशों ने एकदूसरे से मिलने पर अभिवादन के पारंपरिक तौर-तरीकों से तौबा कर ली है.

कोरोना वायरस (Corona Virus) अब तक 76 देशों को अपनी चपेट में ले चुका है. अब तक दुनिया भर में 90 हजार से ज्‍यादा लोग इससे प्रभावित हुए हैं. ये वायरस एकदूसरे से हाथ मिलाने, गले लगाने या किस करने से भी फैल रहा है. ऐसे में दुनिया भर के लोग एकदूसरे के अभिवादन का तरीका (Way of Greeting) भी बदल रहे हैं. जानते हैं किस देश ने अभिवादन का कौन सा नया तरीका अपनाया है...

  • Share this:
नई दिल्‍ली. चीन के हुवेई प्रांत के वुहान (Wuhan) शहर से शुरू हुए कोरोना वायरस (Corona Virus) की दहशत के कारण दुनिया भर के देश लोगों से मिलने के तौर-तरीकों (Greeting) में बदलाव कर रहे हैं. हाल में जर्मनी का एक वीडियो काफी चर्चा में आया. जर्मनी (Germany) में कोरोना वायरस के 200 से ज्‍यादा केस मिले हैं. हाल में एक बैठक के लिए जर्मनी के शीर्ष नेता इकट्ठे हुए थे. इस दौरान जर्मनी के गृह मंत्री होर्स्ट सीहोफर (Horst Lorenz Seehofer) ने चांसलर एंजेला मर्केल (Angela Markel) से हाथ मिलाने से इनकार कर दिया था. उन्‍होंने दूर से ही हेलो बोलकर अभिवादन किया. इस पर मर्केल मुस्‍करा दीं और उन्‍होंने हवा में हाथ हिला दिया. आइए जानते हैं कि किस देश ने अपने पारंपरिक तरीके से तौबा कर अभिवादन का कौन सा तरीका अपनाया है....

चीन के लोग अपने ही दोनों मिलाकर कर रहे हैं दोस्‍तों का अभिवादन
कोरोना वायरस की शुरुआत चीन (China) से हुई. चीन में 80 हजार से ज्‍यादा लोग इसकी चपेट में हैं. अकेले चीन में 3,012 लोगों की मौत हो चुकी है. चीन ने इसकी भयावहता को देखते हुए कई इलाकों में हाईअलट जारी कर दिया. बीजिंग शहर में लाल रंग के बड़े-बड़े होर्डिंग्‍स पर लिखा गया है कि एकदूसरे से हाथ ना मिलाएं. इसकी जगह अभिवादन के लिए अपने ही दोनों हाथों को आपस में मिलाएं. यही नहीं, चीन के लोगों को अभिवादन के पांरपरिक तौर-तरीके छोड़कर नए तरीके से हेलो करने को भी कहा जा रहा है. चीन में लोग अब हैंडशेक के बजाय फुटशेक को तव्‍वजो दे रहे हैं.

पीएम मोदी का होली कार्यक्रम रद्द, नेतन्‍याहू ने दी नमस्‍ते की सलाह
भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने दिल्‍ली-एनसीआर में कोरोना वायरस की आहट के बाद होली पर हर साल होने वाला अपना कार्यक्रम रद्द कर दिया है. दिल्‍ली सरकार ने भी विज्ञापन देकर लोगों को मिलते वक्‍त गले लगाने, किस करने या हाथ मिलाने से परहेज करने की सलाह दी है. लोग हाथ मिलाने के बजाय दूर से हेलो या नमस्‍ते करते नजर आ रहे हैं. इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्‍याहू (Benjamin Netanyahu) ने भी देशवासियों को अभिवादन का भारतीय तरीका अपनाते हुए नमस्‍ते (Namaste) करने की सलाह दी है. उन्‍होंने कहा कि इससे कोरोना वायरस को फैलने से रोका जा सकता है.



हाथ मिलाने या डबल चीक किस के बजाय दूर से हेलो कर रहे फ्रांसीसी
फ्रांस (France) के लोग एक-दूसरे को हाथ और गले मिलकर या डबल चीक किस करके वेलकम करते हैं. कोरोना वायरस का डर ही है कि फ्रांस के लोगों ने इन तरीकों को छोड़कर एकदूसरे को दूर से ही हेलो कहना शुरू कर दिया है. वहां के लोगों का कहना है कि आंखों में आंखें डालकर भी सम्‍मान व प्यार जाहिर किया जा सकता है. ब्राजील (Brazil) के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने सुझाव दिया है कि पारंपरिक ड्रिंक शिमारो (Chimarrao) पीते वक्त लोग अपनी स्ट्रॉ शेयर ना करें. साथ ही अपने जानने वालों को 'किस' नहीं करने और हाथ नहीं मिलाने की सलाह दी गई है. वहींं, जापान (Japan) के लोग हाथ मिलाने के बजाय एकदूसरे से मिलने पर अभिवादन के अपने पारंपरिक तरीके को तव्‍वजो दे रहे हैं. इसमें लोग एकदूसरे से मिलने पर झुककर नमस्‍ते करते हैं.

स्‍पेन ने मदर मैरी की प्रतिमा को किस करने पर लगा दी है पाबंदी
यूरोपीय देश स्पेन (Spain) में मदर मैरी की प्रतिमा को 'किस' करने की सदियों पुरानी परंपरा भी कोरोना वायरस के चलते बदल दी गई है. स्पेन में हर साल 12 अप्रैल से ईस्टर फेस्टिवल (Easter Festival) शुरू हो जाता है. कोरोना वायरस के कारण इस बार अभी से मदर मैरी की प्रतिमा को किस करने पर बैन लगा दिया गया है. वहीं, रोमानिया (Romania) में हर साल मार्टिसर फेस्टिवल धूमधाम से मनाया जाता है. इस दौरान लोग एकदूसरे को फूल देकर किस करते हैं. रोमानिया की सरकार ने इस बार फेस्टिवल में किस करने पर पाबंदी लगा दी है. लोगों को सुझाव दिया गया है कि इस बार सिर्फ फूल बांटे.

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए फ्रांस में डबल चीक ि‍किस पर पाबंदी लगा दी गई है.


ईरान में अब तक 92 की मौत, लोगों को सावधानी बरतने का सुझाव
पोलैंड (Poland) में परंपरा के तहत कई लोग एक ही ब्रेड शेयर करते हैं. वह इसे हाथ से तोड़ने के बजाय सीधे मुंह से खा लेते हैं. अब इस परंपरा में बदलाव किए गए है. यहां के लोगों को चर्च में आते और जाते हुए पवित्र पानी से हाथ धोने के बजाय सिर्फ क्रॉस का साइन बनाने को कहा गया है. ईरान (Iran) तक पहुंच चुके कोरोना वायरस ने वाइस प्रेसिडेंट मासूम्हे इब्तेकार को भी चपेट में ले लिया है. ईरान में अब तक 2,300 से ज्‍यादा लोग इससे प्रभावित हो चुके हैं. यहां 92 लोगों की मौत हो चुकी है. ऐसे में लोगों को सावधानी बरतने के लिए कहा जा रहा है.

न्‍यूजीलैंड में नाक दबाने और यूएई में नाक जोड़कर मिलने पर रोक
न्यूजीलैंड (New Zealand) की सदियों पुरानी परंपरा माओरी पर भी इस वायरस के कारण रोक लगा दी गई है. इसमें लोग मिलने पर एकदूसरे की नाक दबाते हैं. अब लोगों को हिदायत दी जा रही है कि स्वागत करते हुए सिर्फ माओरी गीत सुनाएं. यूनाइटेड अरब अमीरात (UAE) और कतर जैसे देशों में लोग नाक से नाक जोड़कर एकदूसरे का स्वागत करते है. अब उन्हें दूर से ही एकदूसरे को मिलने के लिए कहा जा रहा है. चीन, फ्रांस, ब्राजील, जर्मनी, स्‍पेन, रोमानिया, पोलेंड, ईरान, न्‍यूजीलैंड, ऑस्‍ट्रेलिया, कतर, अमेरिका, इजरायल में हाथ मिलाने पर पूरी तरह रोक लगा दी गई है. ऑस्‍ट्रेलिया में मिलने पर एकदूसरे की पीठ या कंधा थपथपाने का चलन शुरू किया गया है.

ये भी पढ़ें:

साहसी पायलट बीजू पटनायक न होते तो जम्‍मू-कश्‍मीर पर होता पाकिस्‍तान का कब्‍जा

कोरोनावायरस: इंफेक्‍शन से बचाव में बहुत ज्‍यादा कारगर नहीं है फेस मास्‍क!

कपड़े पर 9 घंटे और मोबाइल पर 9 दिन तक जिंदा रह सकता है कोरोना वायरस
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज