लाइव टीवी

स्पेन और इटली में कोरोना से इतनी मौतें कि अंतिम संस्कार में अब वेटिंग

News18Hindi
Updated: March 27, 2020, 11:29 AM IST
स्पेन और इटली में कोरोना से इतनी मौतें कि अंतिम संस्कार में अब वेटिंग
इटली में इतनी मौतें हो रही हैं कि काफीन की कमी के साथ अंतिम संस्कार में भी वेटिंग हो गई है

इटली और स्पेन में कोरोना से कहीं कहीं इतनी ज्यादा मौते हो रही हैं कि एक साथ सबका अंतिम संस्कार किया जाना मुश्किल हो गया है. उसके लिए वेटिंग व्यवस्था शुरू कर दी गई है. परिवारजन भी जनाजे के साथ नहीं जा पा रहे हैं

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 27, 2020, 11:29 AM IST
  • Share this:
इटली और स्पेन में कोरोना वायरस से इतनी ज्यादा मौतें हो रही हैं कि वहां अंतिम संस्कार में वेटिंग लागू कर दी गई है. वहां कोरोना वायरस ने इतने लोगों की जान ले ली है कि शवों को अंतिम संस्कार एक बड़ी समस्या बन गई. यहां तक कि परिवारजन भी अंतिम संस्कार में साथ नहीं आ पा रहे हैं. कहीं जगहों पर लॉकडाउन इतना सख्त है कि परिवारजन अंतिम संस्कार में नहीं आ पा रहे हैं.

इटली के बेरगामो शहर की सड़कों पर पिछले कई दिनों से लगातार मिलिट्री के ट्रक देखे जा रहे हैं. कोरोना वायरस ने यहां इतने लोगों की जान ले ली है कि शवों को ले जाने का और कोई तरीका नहीं बचा. ट्रकों की कतार वाला वीडियो इंटरनेट पर खूब वायरल हो रहा है.
इसने जाहिर किया कि कोरोना के दौर में मौत के वक्त भी प्रियजनों का साथ मुमकिन नहीं. बेरगामो इटली का वह इलाका है जहां कोरोना का कहर सबसे ज्यादा बरपा है. एक हफ्ते में यहां 3000 लोगों की जान गई है.

अंतिम संस्कार में नहीं जा पा रहे परिवारजन



ये सभी मौतें अस्पतालों में हुईं जहां मरने वाले का हाथ थामने के लिए कोई दोस्त, कोई रिश्तेदार मौजूद नहीं था. संक्रमण के खतरे से अस्पताल में कोई मरीज से मिलने नहीं जा सकता. कई परिवारों में तो दूसरे सदस्य खुद भी क्वॉरंटीन में हैं.

इटली के कई शहरों में सेना के वाहन शवों को लेकर जा रहे हैं और कब्रिस्तान के बाहर इस तरह इंतजार करना पड़ रहा है


मौत के इस खेल में सारी शर्तें वायरस ही तय कर रहा है. इस वायरस से होने वाली मौत के बाद परिवारजन भी जनाजे से इसलिए दूर रहने की कोशिश करता है कि कहीं कोरोना का संक्रमण उसमे ना हो जाए. जिसका रिश्तेदार गुजर गया है, उसे अकेले ही शोक मनाना पड़ता है. अब तक मौत के बाद मरने वाले अंतिम संस्कार के समय एक खास तरह का सम्मान देने की परंपरा हर जगह रही है. ऐसा लगता है कि कोरोना की इस महामारी में वो भी खत्म होती जा रही है.

जनाजे के साथ जाने की इजाजत भी नहीं
इटली और स्पेन देश भर में लॉकडाउन है. ऐसे में किसी को जनाजे में भी जाने की इजाजत नहीं है. सरकार ही अंतिम संस्कार करा रही है. और मरने वालों की संख्या इतनी ज्यादा है कि अंतिम संस्कार के लिए वेटिंग लिस्ट चल रही है.

इटली में आमतौर पर परिजन अब अपने किसी की मौत के बाद जनाजे का हिस्सा नहीं बन पा रहे हैं या उन्हें इस पूरी प्रक्रिया में एक दूरी पर रखा जा रहा है


बस परिचितों की मौत के बाद लोग इतना कर रहे हैं कि कि फोन या वीडियो कॉल पर ही एक दूसरे को दिलासा दे रहे हैं. इसके अलावा और कुछ भी नहीं किया जा पा रहा है.

अखबारों या न्यूज साइट्स से पता लगता है मौत का
किसी पड़ोसी की जान चली गई, यह अब सिर्फ अखबारों या लोकल न्यूज साइट्स से ही पता चल पाता है. 13 मार्च को बेरगामो के एक एक स्थानीय अखबार में दस पेज शोक संदेशों के थे. साथ ही वहां किसी की मौत के बाद स्ट्रीट पर एक जगह बना दी गई है, जहां मरने वाले की तस्वीर के साथ उसके मरने की सूचना दी जा रही है.

ये भी पढ़ें
सांप या चमगादड़ नहीं विलुप्‍त होते इस जानवर ने संक्रमण फैला इंसानों को मुसीबत में डाला
21 दिन के लॉकडाउन से टूटेगी ट्रांसमिशन चेन, सरकार उठा सकती है ये बड़े कदम
जानें कैसे राशन की दुकानों और स्‍टोर्स से भी फैल सकता है संक्रमण, न लगाएं भीड़
जानें कैसे लोगों की जिंदगी, व्‍यवहार और सोच को स्‍थायी तौर पर बदल देगा संक्रमण

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 27, 2020, 10:46 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर