लाइव टीवी

Coronavirus: यूरोप की सबसे बड़ी थोक मंडी रजीस इंटरनेशनल में बनाया गया मुर्दाघर

News18Hindi
Updated: April 4, 2020, 3:25 PM IST
Coronavirus: यूरोप की सबसे बड़ी थोक मंडी रजीस इंटरनेशनल में बनाया गया मुर्दाघर
पेरिस के थोक बाजार में बनए गए अस्‍थायी मुर्दाघर में 1,000 ताबूत रखे जा सकते हैा.

पूरी दुनिया में कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण हर दिन हजारों मौतें हो रही हैं. कई देशों में मरने वालों के अंतिम संस्‍कार (Funeral) की चुनौती पेश आ रही है. अमेरिका (US) ने रेफ्रिजरेटेड ट्रकों को ही मुर्दाघरों में तब्‍दी कर दिया तो फ्रांस (France) में एक थोक मंडी को ही मॉर्चुरी (Mortuary) में बदल दिया गया है.

  • Share this:
कोरोना वायरस (Coronavirus) पूरी दुनिया में फैलकर अब तक 11,19,744 लोगों को संक्रमित कर चुका है. इनमें 59,245 लोगों की मौत हो चुकी है. इक्‍वाडोर में हालात इतने खराब हो गए हैं कि लोग लाशों को सड़क पर ही छोड़ रहे हैं. इक्वाडोर में 30 लाख की आबादी वाले ग्वायाकिल में अब तक 3,500 से ज्‍यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं. हालात इतने खराब हैं कि अस्पताल नए मरीजों को नहीं ले रहे. वहीं, बिना इलाज दम तोड़ने वाले मरीजों के अंतिम संस्कार के लिए भी जगह नहीं है. परिजन और अस्पताल ही शवों को सड़क किनारे रख रहे हैं. ये सिर्फ इक्‍वाडोर के एक शहर की सच्‍चाई नहीं है. इस समय दुनिया भर में लाशों को रखने के लिए सार्वजनिक स्‍थानों को मुर्दाघरों (Makeshift Mortuary) में तब्‍दील किया जा रहा है. फ्रांस (France) और अमेरिका (US) ने इसकी पहले से ही तैयारी कर ली है.

अस्‍थायी मुर्दाघर में रखे जा सकेंगे 1,000 ताबूत
अमेरिका ने रेफ्रिजरेटेड ट्रकों को मुर्दाघरों में तब्‍दील किया है तो फ्रांस में यूरोप की सबसे बड़ी थोक मंडी रजीस इंटरनेशनल के एक हॉल को इस काम के लिए रेफ्रिजरेट कर दिया है. पेरिस के दक्षिण में मौजूद इस मंडी में अस्‍थायी मुर्दाघर बना रहा है. इस जगह पर 1,000 ताबूत रखे जाएंगे. हालांकि, इसके बाद भी इस बाजार में मछली, मीट और सब्जियां बिकती रहेंगी. डीडब्‍ल्‍यू की रिपोर्ट के मुताबिक, संक्रमण के कारण मरने वालों की संख्‍या बढ़ रही है. ऐसे में शवों को रखने के लिए ज्यादा जगह की जरूरत होगी. बता दें कि इस मुर्दाधर में 3 अप्रैल से शव रखे जाने शुरू कर दिए गए हैं. परिवार और दोस्त 6 अप्रैल से मरने वालों को श्रद्धांजलि देने भी आ सकेंगे. पुलिस चीफ दिडियर ललमॉन्ट ने बताया कि फ्रांस में पेरिस में संक्रमण का सबसे ज्यादा असर हुआ है. उन्‍होंने आशंका जताई कि आने वाले हफ्तों में हालात ज्‍यादा खराब होंगे.

न्‍यूयॉर्क में रेफ्रिजरेटेड ट.रकों को अस्‍थायची मुर्दाघरों में बदल दिया गया है.




फ्रांस में 15 अप्रैल के बाद भी जारी रहेगा लॉकडाउन


दिडियर ने बताया कि यह अस्थायी मुर्दाघर मेन मार्केट से अलग बनाया गया है. यहां लाए गए ताबूतों को मार्केट से होते हुए कब्रिस्तान या फ्रांस के बाहर ले जाया जाएगा. 575 एकड़ के क्षेत्र में फैले इस बाजार में 15,000 लोग काम करते हैं. बता दें कि फ्रांस में अब तक 82,165 लोग संक्रमित हो चुके हैं, जिनमें 6,507 लोगों की मौत हो चुकी है. फ्रांस के प्रधानमंत्री एडवर्ड फिलिप कह चुके हैं कि लॉकडाउन 15 अप्रैल से आगे भी जारी रह सकता है. अब फ्रांस में स्मार्टफोन बारकोड लॉन्च किए जा रहे हैं ताकि लोगों को ट्रैक करना और जुर्माना लगाना आसान हो सके. वहीं, न्यूयॉर्क के कई हॉस्पिटलों में टेंट और रेफ्रिजरेटेड ट्रक पर मुर्दाघर बनाए गए हैं.

इटली में अंतिम संस्‍कार के लिए शवों की वेटिंग लिस्‍ट बनानी पड़ रही है.


भारत में शव दफनाने को जारी किए हैं दिशानिर्देश
अमेरिका में इसी तरह अस्‍थायी मुर्दाघर 9/11 हमले के बाद भी तैयार किए गए थे. दरअसल, संक्रमण को आगे फैलने से रोकने के लिए शवों को अलग मुर्दाघरों में रखने की कोशिश की जाती है. इटली (Italy) और स्‍पेन (Spain) में भी हालात इतने खराब हो गए थे कि लोगों को अंतिम संस्‍कार के लिए इंतजार करना पड रहा था. यहां अंतिम संस्‍‍कार की वेटिंग लिस्‍ट बनानी पडी थीा. भारत (India) में भी ऐसी मौत के बाद पोस्टमॉर्टम नहीं किए जा रहे हैं. देश में शवों को दफनाने के लिए गाइडलाइनंस भी जारी किए गए हैं. बता दें कि अमेरिका में हालात हर दिन खराब होते जा रहे हैं. यहां अब तक 2,77,522 लोग संक्रमित हो चुके हैं. इनमें 7,403 लोगों की मौत हो चुकी है. भारत में अब तक 2,902 लोग कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं. इनमें गंभीर संक्रमण के कारण 68 लोगों की मौत हो चुकी है.

ये भी देखें:

आज का इतिहास: रानी लक्ष्‍मीबाई को झांसी छोड़कर जाना पड़ा था काल्‍पी से ग्‍वालियर

Coronavirus: आईआईटी रुड़की ने बनाया कम कीमत वाला पोर्टेबल वेंटिलेटर, जानें खासियत

क्या वाकई उत्तर कोरिया में नहीं फैला कोरोना वायरस, जानें क्या है सच्चाई

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 4, 2020, 3:06 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading