लाइव टीवी

चमगादड़ से आया है कोरोना वायरस, 1 साल पहले ही किया गया था अलर्ट

News18Hindi
Updated: January 30, 2020, 4:24 PM IST
चमगादड़ से आया है कोरोना वायरस, 1 साल पहले ही किया गया था अलर्ट
एक नई रिपोर्ट से पता चला है कि कोरोना वायरस चमगादड़ की वजह से फैला है.

एक रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि कोरोना वायरस (Coronavirus) सबसे पहले चमगादड़ (bat) में पाया गया. इसके पहले कहा जा रहा था कि कोरोना वायरस सांप (Snake) के जरिए ह्यूमन बॉडी में आया और संक्रमण से फैलने की वजह से इसने महामारी का रूप ले लिया.. है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 30, 2020, 4:24 PM IST
  • Share this:
चीन (China) के वुहान (Wuhan) शहर से फैले कोरोना वायरस (Coronavirus) को लेकर रोज नई खबरें आ रही है. इस वायरस से फैली बीमारी को लेकर अब एक नई रिपोर्ट सामने आई है. इस रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि कोरोना वायरस चमगादड़ (bat) की वजह से फैली है. इसके पहले कहा जा रहा था कि कोरोना वायरस सांप के जरिए ह्यूमन बॉडी में आया और संक्रमण से फैलने की वजह से इसने महामारी का रूप ले लिया है. कोराना वायरस का संक्रमण एक आदमी से दूसरे आदमी में तेजी से फैलता गया.

सीएनएन के मुताबिक पर्यावरण और स्वास्थ्य पर काम करने वाली एक गैरसरकारी संस्था से जुड़े एक डॉक्टर ने बताया है कि अगर आप कोरोना वायरस के जेनेटिक सिक्वेंस को गौर से देखेंगे तो ये चमगादड़ के करीब दिखता है. बुधवार को चाइनीज सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेशन की स्टडी में भी बताया गया है कि अब तक के जो डाटा मिले हैं, उसके मुताबिक कोरोना का वायरस पहले चमगादड़ में देखा गया है.

चीन के वैज्ञानिकों ने एक साल पहले दी थी 'महामारी' फैलने की चेतावनी
चमगादड़ से फैलने वाली बीमारियों को लेकर चीन में लगातार रिसर्च चल रही है. यहां तक की चीन के वैज्ञानिकों ने एक साल पहले ही ये चेतावनी दे दी थी कि चीन में चमगादड़ के जरिए कोरोना वायरस फैल सकता है. खास बात ये है कि ये चेतावनी भी वुहान के वैज्ञानिकों ने ही जारी की थी.

coronavirus outbreak bat may be source of virus scientists alerted china one year ago
चीन में कोरोना वायरस की वजह से अब तक 170 मौतें हो चुकी हैं


एक साल पहले छपी एक रिपोर्ट में वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी के वैज्ञानिकों ने बताया था कि चमगादड़ से फैलने वाला कोरोना वायरस का प्रकोप चीन में कहर बरपा सकता है. वैज्ञानिकों ने कहा था कि चीन का वातावरण कोरोना वायरस के फैलने में मददगार है. उन्होंने ये भी कहा था कि ये महामारी का रूप लेने वाला है लेकिन वो ये बताने में असमर्थ थे कि कब और कहां से इस वायरस का खतरा पैदा होगा.

कोरोना वायरस को लेकर अलग-अलग दावेवैज्ञानिकों ने सार्स से संबंधित 50 तरह के कोरोना वायरस के चमगादड़ में पाए जाने की पुष्टि कर चुके थे. ऐसे चमगादड़ पूरे चीन में मिले थे. खासकर चीन के युन्नान प्रांत के लोगों के शरीर में सार्स कोरोना वायरस पाए गए थे. हालांकि सैंपलिंग के दौरान वायरस से संक्रमित लोगों में सांस से संबंधित किसी तरह की बीमारी नहीं मिली थी.

coronavirus outbreak bat may be source of virus scientists alerted china one year ago
इसके पहले कहा जा रहा था कि कोरोना वायरस सांप से ह्यूमन बॉडी में पहुंचा


चाइनीज सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल के एक वैज्ञानिक ने बताया है कि डाटा इस बात की ओर इशारा करता है कि चमगादड़ से कोरोना का वायरस दूसरे जानवर में फैला उसके बाद ये ह्यूमन बॉडी तक पहुंचा. हालांकि वैज्ञानिकों का ये भी कहना है कि दिसंबर महीने में वुहान के सीफूड मार्केट या कहीं और एक भी चमगादड़ बेचा या पाया नहीं गया. इस दौरान चमगादड़ हाइबरनेशन (शीतनिद्रा) में चले जाते हैं. चीन के वुहान में दिसंबर के आखिरी दिनों में सबसे पहले कोराना वायरस का पता चला था

वहीं लंदन में कोरोना वायरस पर रिसर्च कर रहे वैज्ञानिकों का कहना है कि ये अभी शुरुआती दौर है. ठीक-ठीक कुछ भी नहीं कहा जा सकता. कुछ रिपोर्ट्स बताती हैं कि सांप और चमगादड़ दोनों में कोरोना वायरस पाए गए. दोनों में पाए गए वायरस एकजैसे थे. वही वायरस फिर ह्यूमन बॉडी में पाए गए.

ये भी पढ़ें:

कोरोना वायरस: चीन के शहर वुहान से ऐसे एयरलिफ्ट किए जाएंगे भारतीय
बापू की हत्या पर ऐसे हुई थी कोर्ट में सुनवाई, नाथूराम गोडसे ने खुद लड़ा था केस
क्या PK कभी जेडीयू के 'वफादार' थे? हमेशा सवालों के घेरे में रही उनकी भूमिका
ऐसा है कोरोना वायरस को फैलाने वाला चीन का शहर वुहान, फंसे हैं इतने भारतीय छात्र
कोरोना वायरस से अर्थव्यवस्था पर बुरा असर, क्या भारत भी होगा प्रभावित?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 30, 2020, 4:24 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर