लाइव टीवी

देश को मिली पहली अंडर वॉटर मेट्रो, ये 5 बातें इसे बनाती हैं खास

News18Hindi
Updated: February 13, 2020, 7:02 PM IST
देश को मिली पहली अंडर वॉटर मेट्रो, ये 5 बातें इसे बनाती हैं खास
कोलकाता को हावड़ा से जोड़ने वाली अंडरवाटर मेट्रो आज से होगी शुरू

कोलकाता मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (KMRC) अपने ईस्ट-वेस्ट प्रोजेक्ट (East-West Corridor) के तहत अंडरवाटर मेट्रो टनल बनाकर तैयार कर चुका है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 13, 2020, 7:02 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. देश की पहली मेट्रो सेवा शुरू कर इतिहास रचने वाले कोलकाता शहर ने आज एक और रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है. कोलकाता में आज शाम पहली अंडर वॉटर मेट्रो की शुरुआत की गई है. कोलकाता मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (KMRC) अपने ईस्ट-वेस्ट प्रोजेक्ट (East-West Corridor) के तहत अंडरवाटर मेट्रो टनल बनाकर तैयार कर चुका है. कोलकाता की हुगली नदी के नीचे बनाई गई यह टनल कोलकाता को हावड़ा से जोड़ेगी.

कोलकाता मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (KMRC) अपने ईस्ट-वेस्ट प्रोजेक्ट (East-West Corridor) के तहत अंडरवाटर मेट्रो टनल बनाकर तैयार कर चुका है. अब बस लोगों को इस टनल में सफर करने का इंतजार है. प्रथम चरण में यह मेट्रो साल्टलेक सेक्टर पांच से साल्टलेक स्टेडियम के बीच 5.3 किमी तक दौड़ेगी. आइए जानते हैं इस मेट्रो में क्या होगा खास.

डेढ़ घंटे का सफर 13 मिनट में होगा पूरा
इस मेट्रो का निर्माण दो फेज में किया जा रहा था. कोलकाता मेट्रो का ईस्ट-वेस्ट प्रोजेक्ट करीब 16 किलोमीटर लंबा है जो सॉल्ट लेक स्टेडियम से हावड़ा मैदान तक फैला है. सड़क मार्ग से इस दूरी को तय करने में अभी तक डेढ़ घंटे का समय लगा करता था लेकिन इस मेट्रो के आने के बाद इस सफर को केवल 13 मिनट में पूरा कर लिया जाएगा.

स्वचालित होगी कोलकाता की आधुनिक मेट्रो
सॉल्ट लेक स्टेडियम से हावड़ा मैदान तक चलने वाली अंडर वॉटर मेट्रो की खास बात ये है कि इसमें ड्राइवर नहीं होगा. हालांकि अभी शुरुआत में इस मेट्रो को ड्राइवरों द्वारा ही चलाया जाएगा. दूसरे फेज का काम खत्म करने के बाद इसे पूरी तरह से स्वचालित कर दिया जाएगा.

Kolkata Metro, Piyush Goyal, Under Water Metro, Kolkata, Metro,
कोलकाता मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने ईस्ट-वेस्ट प्रोजेक्ट के तहत अंडरवाटर मेट्रो टनल बनाकर तैयार कर चुका है.


अभी छह स्टेशनों पर दौड़ेगी मेट्रो
इस मेट्रो का निर्माण दो फेज में किया जा रहा था. कोलकाता मेट्रो का ईस्ट-वेस्ट प्रोजेक्ट करीब 16 किलोमीटर लंबा है जो सॉल्ट लेक स्टेडियम से हावड़ा मैदान तक फैला है. पहला फेज सॉल्ट लेक सेक्टर-5 से सॉल्ट लेक स्टेडियम​ के बीच 5.5 किमी लंबा है इस लाइन पर सेक्टर-5, करुणामयी, सेंट्रल पार्क, सिटी सेंटर, बंगाल केमिकल और साल्टलेक स्टेडियम मेट्रो स्टेशन मौजूद हैं. अंडरग्राउंड मेट्रो का दूसरा फेज 11 किलोमीटर लंबा है.

तीन स्तर का सुरक्षा कवच पानी के रिसाव को रोकेगा
इस सुरंग को बनाने में रूस और थाइलैंड के विशेषज्ञों से सलाह ली गई है. वहीं सुंरग के पानी का रिसाव रोकने के लिए दुनिया की सबसे बेहतरीन तकनीक का इस्तेमाल किया गया है. इसे पानी के रिसाव से बचाने के लिए 3 स्तर के सुरक्षा कवच बनाए गए हैं. इस सुरंग में 80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से मेट्रो ट्रेन दौड़ पाएगी.

न्यूनतम किराया मात्र पांच रुपये रखा गया
कोलकाता में आज से दौड़ने वाली इस मेट्रो का किराया काफी कम है. इस मेट्रो से सफर कर रहे यात्रियों को एक स्टेशन से दूसरे स्टेशन जाने के लिए मात्र पांच रुपये देने होंगे. बताया जा रहा है कि दो किलोमीटर तक के लिए पांच रुपये, पांच किलोमीटर तक 10 रुपये, 10 किलोमीटर तक 20 रुपये और फिर अंतिम स्टेशन तक के लिए यात्रियों को 30 रुपये चुकाने होंगे.

इसे भी पढ़ें :-

अस्पताल की लापरवाही से मुस्लिम महिला का हिंदू परिवार ने कर दिया अंतिम संस्कार
अंडर वॉटर मेट्रो के उद्घाटन में नहीं दिया गया ममता बनर्जी को न्योता

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 13, 2020, 3:46 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर