सृष्टि के रचयिता ब्रह्मा के नाम पर है इस खतरनाक ज्वालामुखी का नाम, जानें क्यों

सृष्टि के रचयिता ब्रह्मा के नाम पर है इस खतरनाक ज्वालामुखी का नाम, जानें क्यों
इंडोनेशिया में 141 ज्वालामुखी हैं, जिनमें से 130 आज भी एक्टिव हैं.

इंडोनेशिया (Indonesia) का सक्रिय ज्वालामुखी माउंट ब्रोमो (Mount Bromo) कई सदियों से धधक रहा है. इसका नाम भगवान ब्रह्मा (Brahma) के नाम पर है. दरअसल ब्रह्मा को स्थानीय इंडोनेशियाई भाषा में ब्रोमो कहा जाता है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
भारत इस वक्त भले ही दुनिया की सबसे ज्यादा हिंदू आबादी वाला देश हो लेकिन धार्मिक प्रतीक चिन्हों के मामले में इंडोनेशिया (Indonesia) कहीं आगे है. इस देश की नोट पर छपी भगवान गणेश की तस्वीर से लेकर अनगिनत हिंदू प्रतीक चिन्हों को इस्तेमाल किया जाता है. ऐसा ही एक प्रतीक इस देश में मौजूद सक्रिय ज्वालामुखी माउंट ब्रोमो (Mount Bromo). भगवान ब्रह्मा को स्थानीय इंडोनेशियाई भाषा में ब्रोमो कहा जाता है. इंडोनेशिया में 141 ज्वालामुखी हैं, जिनमें से 130 आज भी एक्टिव हैं. ईस्ट जावा का माउंट ब्रोमो उन्हीं में से एक है. ये हजारों वर्षों से धधक रहा है.

ब्रोमो पर्वत ईस्ट जावा में सबसे ऊंचा नहीं है लेकिन इसकी दुनिया में ख्याति सबसे ज्यादा है. ये इलाका इंडोनेशिया के सबसे मशहूर टूरिस्ट डेस्टिेशन में से एक है. इस पर्वत के आस-पास के करीब 50 गांवों में लाखों हिंदू परिवार रहते हैं. कहा जाता है कि इस पहाड़ी का नाम इन्हीं हिंदू लोगों की आस्थाओं का खयाल रखकर किया गया है. पहाड़ के सबसे पास के गांव केमोरो लवांग में हिंदू परिवार रहते हैं, जिन्हें टेंगरेस  (Tengger massif) कहा जाता है. यहां की हिंदू आबादी खुद को माजपाहित शासक का वंशज मानती है.





ब्रह्मा जी का मंदिर भी है मौजूद



हिंदू धर्म में भगवान ब्रह्मा के मंदिर बहुत कम दिखाई देते हैं. भारत में भी कहा जाता है कि सिर्फ एक ही जगह ब्रह्मा का मंदिर है वो भी राजस्थान के पुष्कर में. अगर माउंट ब्रोमो की बात करें तो यहां पर भी ब्रह्मा का मंदिर बना हुआ है. हालांकि इससे भी दिलचस्प बात यहां के ज्वालामुखी के पास लगी भगवान गणेश की मूर्ति है. स्थानीय मान्यताओं के मुताबिक ये मूर्ति यहां पर करीब सात सौ वर्षों से लगी हुई है. लोगों का अटूट विश्वास है कि ये मूर्ति इस सक्रिय ज्वालामुखी से उनकी रक्षा करती है.

इसके आस-पास का पूरा इलाका पर्वतीय है और यहां पर हिंदू समुदाय के कई बड़े त्योहार मनाए जाते हैं. इसी में एक त्योहार है यद्न्या कसादा. इस फेस्टिवल के चौदहवें दिन बड़ी संख्या में हिंदू श्रद्धालु पहाडो़ं पर जाते हैं भगवान ब्रह्मा व अन्य देवताओं की पूजा करते हैं.



इंडोनेशिया में करेंसी पर भी होती है भगवान गणेश की फोटो
इंडोनेशिया की करेंसी को रूपिया कहते हैं. वहां, 20 हजार के नोट पर भगवान गणेश की फोटो है. गणेश को इंडोनेशिया में शिक्षा, कला और विज्ञान का देवता माना जाता है. नोट पर सामने की ओर गणेश की तस्वीर, पीछे की तरफ क्लासरूम की तस्वीर है, जिसमें टीचर और स्टूडेंट्स हैं. साथ ही नोट पर इंडोनेशिया के पहले शिक्षा मंत्री हजर देवांत्रा की भी तस्वीर है. देवांत्रा इंडोनेशिया की आजादी के नायक रहे हैं. कहते हैं कुछ साल पहले इंडोनेशिया की अर्थव्यवस्था लड़खड़ा गई थी. वहां के राष्ट्रीय आर्थिक चिंतको ने काफी विचार कर बीस हजार का एक नया नोट जारी किया, जिस पर भगवान गणेश की तस्वीर को छापा गया. इंडोनेशियन नोट पर सिर्फ गणेश ही नहीं बल्कि इंडोनेशियन आर्मी का मैस्कॉट हनुमान है. वहां के एक फ़ेमस टूरिस्ट डेस्टिनेशन पर अर्जुन और श्री कृष्ण की मूर्ति लगी है.

यह भी पढ़ें:

लंबे समय से सुलझ नहीं रहा था न्यूट्रान तारे का एक रहस्य, मिला एक नया पदार्थ

Space और Covid-19 के असर में क्या है समानता, बहुत सीखने को है हमारे लिए

2 Asteroid के नमूने लेकर लौटेंगे 2 अंतरिक्ष यान, रोचक है इनका इतिहास

एक Nan device ने कराई कोशिका के अंदर की यात्रा, जानिए कैसे हुआ यह कमाल

एक अरब साल ज्यादा पुरानी हैं पृथ्वी की Tectonic Plates, जानिए क्या बदलेगा इससे
First published: June 5, 2020, 9:25 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading