अपना शहर चुनें

States

कौन है वो महिला, जिसके कंट्रोल में है आसाराम का 10,000 करोड़ का धार्मिक साम्राज्य

भारतीश्री
भारतीश्री

आसाराम के 400 से ज्यादा आश्रम देश-विदेश में फैले हैं और अब दो करोड़ से ज्यादा लोग उनके अनुयायी हैं, इसके अलावा उनके पास कई जगह जमीनें और शेयर्स हैं

  • Share this:
आसाराम बापू जोधपुर जेल में आजीवन कारावास की सजा काट रहे हैं. बेटा नारायण साईं को भी सूरत की अदालत ताउम्र कैद की सजा सुना चुकी है. ऐसे में आखिर कौन चला रहा है आसाराम का 10,000 करोड़ का धार्मिक साम्राज्य. फिलहाल जो खबरें आ रही हैं, वो बता रही हैं कि अब ये पूरा साम्राज्य एक महिला संभाल रही है, जो उनकी बेटी है.

उनका नाम भारतीश्री है. उन्होंने पिछले एक साल में आसाराम बापू के ट्रस्ट, देश-विदेश में फैले आश्रमों और अन्य गतिविधियों पर पकड़ मजबूत कर ली है.

एक साल में ये भी स्पष्ट हो गया है कि ना तो आसाराम का जेल से बाहर आना आसान है और ना ही उनके बेटे नारायण साईं का. लेकिन इन दोनों के बगैर भी आसाराम के देश-विदेश में फैले 400 से ज्यादा आश्रमों में गतिविधियां सामान्य तरीके से चल रही हैं.



दो सगी बहनों से आसाराम और नारायण साईं सालों करते रहे रेप, काले कारनामों की पूरी कहानी
लगातार आश्रमों के दौरे करती हैं
भारतीश्री लगातार सक्रिय रहती हैं. तमाम आश्रमों के दौरे करती हैं. उन्होंने एक साल के भीतर उस संत श्रीआसारामजी ट्रस्ट का काम देखना भी शुरू कर दिया है, जो असल में आसाराम के धार्मिक साम्राज्य को नियंत्रित करता है. इसका मुख्यालय अहमदाबाद में है. चूंकि वो लंबे समय से आश्रम का कामकाज देख रही हैं, लिहाजा उसके बारे में वो पर्याप्त जानती हैं.

नाटकीय तरीके से देती हैं प्रवचन 
भाग्यश्री महंगी कारों का इस्तेमाल करती हैं. अहमदाबाद के बाबा आसाराम के आश्रम परिसर के अंदर प्रवचन और आरती स्थल में शामिल होती हैं. भक्तों की भीड़ उन्हें घेरे रखती है. 44 साल की भारती वो नाटकीय तरीके प्रवचन देती हैं. नाचती हैं, गाती हैं.

फूलों से उसी तरह श्रृंगार करती हैं, जैसा उनके पिता करते थे. आश्रम की आरती संबंधी गतिविधियां रोजाना यूट्यूब पर डाली जाती हैं.

बताया जाता है कि पिछले एक साल में भारती ने आसाराम बापू के आश्रमों में अपनी पकड़ मजबूत की है


भीड़ जुटाने में माहिर हैं 
भारतीश्री वो सबकुछ करती हैं, जो भीड़जुटाने में पारंगत संत किया करते हैं. वह हाथ उठाकर भीड़कर को उत्साहित करने की कोशिश करती हैं. प्रवचन से पहले संगीत में वो खुद बीच बीच में गाती हैं. थिरकती हैं. फिर परिपक्वता के साथ प्रवचन करती हैं. प्रवचन करते समय वो मंजी हुई प्रवचनकर्ता लगती हैं. आसाराम के भक्तों की माने तो भारती का प्रवचन बेहद सम्मोहित करने वाला होता है.

गिरफ्तार भी हो चुकी हैं 
भारतीश्री और उनकी मां लक्ष्मीदेवी को भी पुलिस ने तब गिरफ्तार किया था, जब सूरत में एक साध्वी ने नारायण साईं के खिलाफ रेप का आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज की थी. हालांकि बाद में उन्हें रिहा कर दिया गया.

आसाराम बापू के बेटे नारायण साईं ने कैसे खड़ा किया 5000 करोड़ का धार्मिक साम्राज्य

कई तरह के आरोप भी लग चुके हैं
हालांकि भारतीश्री पर भी ये आरोप लगे थे कि भारती ही वो शख्स थीं, जो आसाराम के कहे अनुसार लड़कियों को आश्रम से उनके पास भेजती थीं. एक पूर्व साधक अमृत प्रजापति ने आरोप लगाया था कि आसाराम भारती को फोन करते थे. वो गाड़ी से लड़कियां लाती थीं. हालांकि भारती ने हमेशा इन आरोपों का खंडन किया.

भारतीश्री को भी उस समय पुलिस ने गिरफ्तार किया था, जब सूरत की दो बहनों ने आसाराम और नारायण साईं पर रेप का आरोप लगाया था


कब जुड़ीं पिता के आध्यात्मिक साम्राज्य से 
सत्तर के दशक में आसाराम बापू ने का साम्राज्य आध्यात्म खड़ा किया था. फिर आसाराम की भक्ति के कारोबार को आगे बढ़ाने के लिए उनके बेटे नारायण साईं आ गए. इतना ही काफी नहीं था.

जल्द ही भारती भी इससे जुड़ गईं. 15 दिसंबर 1975 को जन्मी भारती ने महज 12 साल की उम्र में दीक्षा ली थी. फिर चौदह साल तक ध्यान और योग किया. बताया जाता है कि वो एम कॉम तक पढ़ी हैं.

शादी नहीं चल पाई
भारती की शादी 1997 में डॉक्टर हेमंत से हुई थी. लेकिन ये शादी लंबी चल नहीं पाई. फिर तलाक हो गया. जिसके बाद भारती पिता के साम्राज्य में महिला आश्रमों का कामकाज देखनी लगीं. साथ में प्रवचन भी करने लगीं.

बेटा ही नहीं आसाराम बापू भी रेप मामले में भोग रहा है सजा, कई सालों से सलाखों के पीछे
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज