कौन थे फिरोज शाह जिनकी जगह जेटली के नाम पर होगा दिल्ली का स्टेडियम

फिरोज शाह कोटला स्टेडियम का नाम बदलकर अरुण जेटली स्टेडियम होगा
फिरोज शाह कोटला स्टेडियम का नाम बदलकर अरुण जेटली स्टेडियम होगा

दिल्ली के फिरोजशाह कोटला स्टेडियम (feroz shah kotla stadium) को तुगलक वंश के सुल्तान फिरोज शाह तुगलक के नाम पर बनाया गया था. अरुण जेटली (Arun Jaitley) ने डीडीसीए (DDCA) का अध्यक्ष रहते हुए इस स्टेडियम का कायाकल्प किया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 28, 2019, 11:44 AM IST
  • Share this:
दिल्ली के फिरोजशाह कोटला स्टेडियम (feroz shah kotla stadium) का नाम बदलकर अरुण जेटली स्टेडियम (Arun Jaitley Stadium) हो जाएगा. दिल्ली जिला क्रिकेट एसोसिएशन (DDCA) ने स्टेडियम का नाम बदलकर पूर्व वित्तमंत्री अरुण जेटली के नाम पर करने का निर्णय लिया है. 12 सितंबर को एक कार्यक्रम में स्टेडियम का नाम बदला जाएगा.

दिवंगत अरुण जेटली ने डीडीसीए का अध्यक्ष रहते हुए फिरोज शाह कोटला स्टेडियम को विश्वस्तरीय बनाया था. उसके पहले स्टेडियम की हालत अच्छी नहीं थी. 1940 तक स्टेडियम वीरान बंजर सा था. डीडीसीए के पास इतना फंड नहीं हुआ करता था कि वो स्टेडियम का कायाकल्प कर सके. लेकिन जेटली ने अपने कार्यकाल में फिरोज शाह कोटला स्टेडियम की सूरत बदल दी. डीडीसीए स्टेडियम में क्रिकेट मैच आयोजित करवाने लगी.

कैसे हुआ फिरोजशाह कोटला स्टेडियम का निर्माण



1930 के आसपास ब्रिटिश सरकार नई दिल्ली को राजधानी बना रही थी. ब्रिटिश सरकार को क्रिकेट मैचों के आयोजन के लिए स्टेडियम की जरूरत महसूस हुई. उस वक्त क्रिकेट मैच उत्तरी दिल्ली के रोशनआरा क्लब आयोजित करवाता था. ब्रिटिशर्स ने दिल्ली गेट के पास वेलिंगटन पैवेलियन में दिल्ली एवं जिला क्रिकेट एसोसिएशन का ऑफिस शिफ्ट किया.
ddca decided feroze shah kotla stadium to be renamed as arun jaitley know who is delhi sultan of tuglaq dynasty
अरुण जेटली ने फिरोज शाह कोटला स्टेडियम का कायाकल्प करवाया था


क्रिकेट स्टेडियम के पास फुटबॉल मैदान हुआ करता था, जो आज अंबेडकर स्टेडियम के नाम से जाना जाता है. उस वक्त दिल्ली फुटबॉल एसोसिएशन के पास अपना मैदान नहीं था. जबकि क्रिकेट एसोसिशन को 99 साल की लीज पर फिर फिरोज शाह कोटला स्टेडियम दिया गया था. 1948-49 में यहां पहला क्रिकेट टेस्ट मैच हुआ. इस मैदान पर मंसूर अली खान पटौदी, बिशन सिंह बेदी, एस वेंकटराघवन, सुनील गावस्कर, कपिल देव, सचिन तेंदुलकर और अनिल कुंबले जैसे क्रिकेट स्टार चमके.

कौन थे फिरोज शाह जिनके नाम पर बना क्रिकेट स्टेडियम

फिरोज शाह कोटला स्टेडियम का नाम तुलगक वंश के शासक फिरोज शाह तुगलक के नाम पर रखा गया. फिरोजशाह तुगलक का जन्म 1309 को हुआ था. फिरोज शाह तुगलक ने 1351 से लेकर 1388 तक दिल्ली पर शासन किया था. वो 45 वर्ष की उम्र में दिल्ली सल्तनत की गद्दी पर बैठे थे.

ddca decided feroze shah kotla stadium to be renamed as arun jaitley know who is delhi sultan of tuglaq dynasty
तुगलक वंश का शासक फिरोज शाह तुगलक


उन्होंने अपने शासन में चांदी के सिक्के चलाए. 1351 में ताजपोशी के बाद उन्होंने अपनी रियासत के सभी कर्जे माफ कर दिए थे. दिल्ली पर मुहम्मद बिन तुगलक के उतार चढ़ाव भरे शासन के बाद फिरोज शाह ने दिल्ली की सल्तनत संभाली थी.

फिरोज शाह तुगलक दिल्ली का पहला सुल्तान था. जिसने दिल्ली के पावर सेंटर को साउथ दिल्ली से रायसीना हिल्स के उत्तर में लेकर आया. इसके पहले दिल्ली के शासक मेहरौली फोर्ट, सिरी फोर्ट और जहांपनाह फोर्ट से शासन चलाते थे. यमुना किनारे कोटला फिरोज शाह दिल्ली की सल्तनत का केंद्र बना.

दो शताब्दी बाद मुगल शासक शाहजहां ने कोटला फिरोज शाह की बुनियाद पर शाहजहानाबाद शहर और लाल किला का निर्माण करवाया. फिरोज शाह के शासन में दो अशोक पिलर दिल्ली लाए गए थे. एक अंबाला से और एक मेरठ से. फिरोज शाह कोटला कॉम्पैलक्स में आज भी एक पिलर मौजूद है.

ddca decided feroze shah kotla stadium to be renamed as arun jaitley know who is delhi sultan of tuglaq dynasty
फिरोज शाह कोटला


फिरोज शाह ने अपने शासनकाल में कुतुब मिनार का पुनर्निर्माण करवाया था. फिरोज शाह तुगलक ने अपने बेटे फतेह खान के जन्मदिवस पर फतेहाबाद शहर की स्थापना की थी. फिरोजाबाद को इतिहासकार दिल्ली का पांचवा शहर मानते हैं. हौज खास में फिरोजशाह तुगलक का मकबरा है. फिरोजशाह ने अपने शासन के दौरान दिल्ली में कई मस्जिदें भी बनवाईं.

ये भी पढ़ें: चेक करें कि क्या आपके पास हैं ये डॉक्यूमेंट्स, तभी माने जाएंगे भारतीय नागरिक
क्या नागालैंड का अलग झंडा, अलग संविधान होगा?
कौन थे 'मित्रा'? क्यों उनके नाम से चर्चित है चांद का एक हिस्सा?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज