दिल्ली की हवा फिर से क्यों प्रदूषित होने वाली है?

राजधानी रायपुर (Raipur) में AQI लेवल 180 रहा.

राजधानी रायपुर (Raipur) में AQI लेवल 180 रहा.

दिल्ली (Delhi) का आसमान साफ है. लेकिन अगले कुछ दिनों में यहां वायु प्रदूषण (Air Pollution) का स्तर बढ़ने वाला है. अगले कुछ दिनों में दिल्ली की हवा बदलने वाली है...

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 3, 2019, 10:34 AM IST
  • Share this:

दिल्ली (Delhi) के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind kejriwal) कोपेनहेगेन में ये बताने वाले हैं कि दिल्ली की हवा को उन्होंने कैसे साफ किया और उन्हें ऐसा करने में क्या चुनौतियां पेश आईं. कोपेनहेगेन में प्रदूषण (Air Pollution) की समस्या को लेकर हो रहे एक आयोजन में दुनियाभर के 20 ऐसे नेता शामिल हो रहे हैं, जिन्होंने अपने मेगाशहरों में प्रदूषण की समस्या से निपटने के लिए काम किया है. अक्टूबर को दूसरे हफ्ते में ये आयोजन होने जा रहा है. लेकिन हो सकता है कि जब अरविंद केजरीवाल प्रदूषण से निपटने में अपनी सरकार का गुणगान कर रहे हों, दिल्ली की हवा प्रदूषित हो चुकी हो.

दिल्ली की आबो-हवा बदलने वाली है. दिल्ली ने साफसुथरा आसमान बहुत दिनों तक देख लिया. अब एक बार फिर दिल्ली के आसमान पर प्रदूषण की चादर बिछने वाली है. मौसम विभाग ने बताया है कि बुधवार को दिल्ली में हवा की क्वालिटी संतोषजनक थी. लेकिन शुक्रवार तक ये मॉडरेट कैटेगरी यानी मध्यम स्तर की होने वाली है. दिल्ली की हवा में फिर से प्रदूषण का जहर घुलने वाला है.

क्यों होने वाली है हवा प्रदूषित?



दिल्ली के लोग पिछले दिनों साफ आसमान की तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर कर रहे थे. पिछले कुछ वर्षों के दौरान ऐसा पहली बार हुआ था कि दिल्ली का आसमान इतना साफ सुथरा दिख रहा था. अरविंद केजरीवाल ने अखबारों में विज्ञापन देकर दिल्ली में प्रदूषण की समस्या खत्म करने का श्रेय लूटने लगे. लेकिन अगले कुछ दिनों में ही ये हालात बदलने वाले हैं. मौसम विभाग ने बताया है कि ऐसा हवा बहने की दिशा में बदलाव की वजह से होने वाला है.
शुक्रवार तक दिल्ली में हवा का रुख बदलकर उत्तरपश्चिम का हो जाएगा. पश्चिमी और उत्तरपश्चिमी हवा दिल्ली की हवा को जहरीला बना देती है. इस हवा की वजह से पश्चिमी इलाकों में पराली जलाने की वजह से पैदा हुआ धुंआ दिल्ली की आसमान पर छा जाता है और दिल्ली की हवा प्रदूषित हो जाती है.

delhi air pollution air quality to start dipping by 5 october smoke dust blowing over
दिल्ली में वायु प्रदूषण

पंजाब और हरियाणा में इन दिनों बड़े पैमाने पर पराली जलाई जाती है. जिसका धुंआ हवा बहने की दिशा में फैलता जाता है. पिछले दिनों हवा के रुख की वजह से दिल्ली का आसमान साफ था. लेकिन अब हवा का अपना रुख बदल लेने की वजह से जल्दी ही हालात बदलने वाले हैं.

दिल्ली की हवा में किस स्तर का होगा प्रदूषण?

दिल्ली की हवा फिर से खराब होने वाली है. हालांकि हवा की क्वालिटी की जांच करने वाली संस्था एयर क्वालिटी एंड वेदर फॉरकास्टिंग एंड रिसर्च (SAFAR) ने कहा है कि अगले एक हफ्ते के दौरान हवा में प्रदूषण का स्तर बहुत ज्यादा नहीं होगा. हवा का रुख बदलने के बावजूद एक्यूआई लेवल में फिलहाल ज्यादा बदलाव नहीं देखा जाएगा. सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड (CPCB) और SAFAR ने बुधवार को एक्यूआई लेवल 90 से 71 के बीच बताया है. हवा का ये स्तर संतोषजनक माना जाता है.

कैसे होती है हवा की क्वालिटी की जांच?

हवा के क्वालिटी की जांच एयर क्वालिटी इंडेक्स यानी एक्यूआई लेवल से की जाती है. अगर एक्यूआई 0 से 50 के बीच होता है तो ऐसी हवा को अच्छा माना जाता है. 51 से 100 के बीच के एक्यूआई को संतोषजनक, 101 से 200 के बीच एक्यूआई को मॉडरेट यानी मध्यम, 201 से 300 के बीच को खराब और 401 से 500 के बीच को बेहद खराब माना जाता है.

delhi air pollution air quality to start dipping by 5 october smoke dust blowing over
दिल्ली में प्रदूषण एक बड़ी समस्या है

बताया जा रहा है कि 5 अक्टूबर से दिल्ली के हवा की क्वालिटी मॉडरेट होने वाली है. इस दौरान पूरब से बहने वाली हवा उत्तर और उत्तरपश्चिम की तरफ से बहने लगेगी. ये हवा पंजाब और हरियाणा से जहरीला धुंआ लेकर आएगी. सेटेलाइट इमेज से पता चला है कि पंजाब और हरियाणा के कुछ इलाकों में पराली जलाई जा रही है. लेकिन पिछले कुछ दिनों से आग वाले एरिया में ज्यादा वृद्धि नहीं देखी गई है.

अक्टूबर के दूसरे हफ्ते से बढ़ेगा प्रदूषण

मौसम विभाग के मुताबिक अगले एक दो दिनों में तो ज्यादा अंतर देखने को नहीं मिलेगा. लेकिन 5 अक्टूबर तक पश्चिमी हवा की वजह से दिल्ली की हवा में प्रदूषण महसूस किया जा सकेगा. अक्टूबर के दूसरे हफ्ते में प्रदूषण का स्तर ज्यादा बढ़ जाएगा. मौसम विभाग को अंदेशा है कि पूरबी हवाओं, साइक्लोन और मॉनसून के लौटते वक्त होने वाली बारिश पर भरोसा है. यही दिल्ली को प्रदूषण के जहर से बचा पाएगी.

ये भी पढ़ें: शी जिनपिंग से मुलाकात के लिए पीएम मोदी ने महाबलीपुरम को क्यों चुना?

'वर्मा' से 'शास्त्री' कैसे बने पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर?

जब कार खरीदने के लिए लाल बहादुर शास्त्री ने PNB बैंक से लिया था लोन

कभी लालू यादव ऐसे बिहार के बाढ़ पीड़ितों का मजाक उड़ाते थे

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज