Home /News /knowledge /

डेंगू में इस तरह की दवाइयों का गलती से न करें सेवन, वरना...

डेंगू में इस तरह की दवाइयों का गलती से न करें सेवन, वरना...

डेंगू में गलती से भी पेन किलर का सेवन नहीं करना चाहिए.

डेंगू में गलती से भी पेन किलर का सेवन नहीं करना चाहिए.

Dengue Me Kaun Si Dawa Nahi Leni Chahiye: दिल्ली और एनसीआर में इन दिनों डेंगू बुखार का कहर है. बड़ी संख्या में लोग डेंगू से ग्रसित हैं. वैसे डेंगू कोई जानलेवा बीमारी नहीं है. लेकिन लापरवाही भारी पड़ सकती है.

    दिल्ली और एनसीआर में इन दिनों डेंगू बुखार का कहर है. बड़ी संख्या में लोग डेंगू से ग्रसित हैं. वैसे डेंगू कोई जानलेवा बीमारी नहीं है. अगर आप सावधान रहें तो आसानी से इस बीमारी से घर पर भी ठीक हो सकते हैं. यहां सावधानी का मतलब यह है कि आप खुद डॉक्टर न बनें. खुद या मेडिकल स्टोर की सलाह पर कोई दवा न लें.

    दरअसल, डेंगू एक वायरल बुखार है. इसके कोई स्पेशफिक इलाज मौजूद नहीं है. हमारा शरीर खुद इसके वायरस से लड़ता है और वह खुद इससे निजात दिलाता है. इसके लिए आपको भरपूर तरल पदार्थ का सेवन करना चाहिए.

    गलती से भी न करें ये काम
    डेंगू में बुखार के कारण मरीज के शरीर में दर्द और अन्य पेशानियां होती हैं. इसके लिए वे ब्रुफेन (Brufen) या कॉम्बीफ्लैम (Combiflam) जैसे पेन किलर का सहारा लेते हैं. ये पेन किलर नॉन एस्टेरॉडल एंटी इन्फ्लामेंट्री (non-steroidal anti-inflammatory) दवाइयां होती हैं. डेंगू में इन दवाइयों का सेवन जानलेवा हो सकता है. इसके सेवन से आपके पेट में रक्त का स्राव हो सकता है.

    क्यों नहीं लेना चाहिए पेन किलर
    डॉक्टरों के मुताबिक डेंगू बुखार के शुरुआती लक्षणों में शरीर में दर्द का होना आम बात है. अधिकतर लोग इस लक्षण की वजह से इसे वायरल फीवर समझ बैठते हैं. इस कारण वे कॉम्बीफ्लेम (Combiflam) और ब्रुफेन (Brufren) जैसी दवाइयां ले लेते हैं. दरअसल, डेंगू बुखार में हमारे रक्त में प्लेटलेट्स की संख्या लगातार गिरती रहती है.

    इन दवाइयों के कारण प्लेटलेट्स और तेजी से गिरता है, जो आपके लिए जानलेवा हो सकता है. डॉक्टर्स बुखार या बॉडी पेन में केवल और केवल पैरासेटामॉल (paracetamol) और क्रोसिन (Crocin) लेने की सलाह देते हैं वो केवल और केवल डॉक्टर के सुझाव पर.

    दरअसल, डेंगू के वायरस हमारे शरीर में रक्त में प्लेटलेट्स को प्रभावित करते हैं. प्लेटलेट्स रक्त को जमाने (Clotting) यानी रक्त स्राव को रोकने का काम करते हैं. दूसरी तरफ पेन किलर यानी नॉन एस्टेरॉडल एंटी इन्फ्लामेंट्री (non-steroidal anti-inflammatory) दवाइयां भी रक्त को जमने से रोकने का काम करती हैं. इस तरह अगर डेंगू बुखार में पेन किलर का सेवन कर लिया तो एक तरह आपने वायरस का काम आसान कर दिया.

    अगर आपने पेन किलर का सेवन कर लिया और आपको रक्त स्राव होने लगा तो इस स्थिति को ‘डेंगू शॉक सिंड्रोम’ कहा जाता है. मरीज के इस स्टेज में पहुंचने पर उसे तुरंत आईसीयू में भर्ती करवाना पड़ता है.

    आयरन और प्रोटीन युक्त खाना खाइए
    डेंगू से उबरने के लिए प्रोटीन और आयरन से भरपूर खाना खाना चाहिए. दिन में तीन से पांच लीटर तक पानी पीना चाहिए. इससे आपका इम्यून सिस्टम मजबूत होगा और आप जल्दी हेल्दी महसूस करेंगे.

    Tags: Dengue alert, Dengue fever

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर