लाइव टीवी

क्या भ्रष्टाचार के कारण वेनिस में आई बाढ़ और डूब रहा है ये खूबसूरत शहर?

News18Hindi
Updated: November 18, 2019, 12:59 PM IST
क्या भ्रष्टाचार के कारण वेनिस में आई बाढ़ और डूब रहा है ये खूबसूरत शहर?
हाई टाइड की वजह से वेनिस शहर में प्रशासन ने इमरजेंसी घोषित कर दी है.

इटली (Italy) का वेनिस (Venice) शहर पर्यटन का वैश्विक केंद्र है. हर साल दुनियाभर से लाखों सैलानी इस शहर की खूबसूरती और ऐतिहासिकता का लुत्फ उठाने आते हैं. लेकिन इस समय ये शहर संकट में है. बीते एक सप्ताह के भीतर तीसरी बार ज्वार (हाई टाइड) के कारण शहर में इमरजेंसी घोषित कर दी गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 18, 2019, 12:59 PM IST
  • Share this:
इटली (Italy) का वेनिस (Venice) शहर पर्यटन का वैश्विक केंद्र है. हर साल दुनियाभर से लाखों सैलानी इस शहर की खूबसूरती और ऐतिहासिकता का लुत्फ उठाने आते हैं. लेकिन इस समय ये शहर संकट में है. बीते एक सप्ताह के भीतर तीसरी बार ज्वार (हाई टाइड) के कारण शहर में इमरजेंसी घोषित कर दी गई है. शहर की पुरानी इमारतों को लगातार क्षति पहुंच रही है. तस्वीरें बयां कर रही हैं कि कैसे शहर को खूबसूरत बनाने वाला पानी अब इसे बदहाली के हाल पर पहुंचा रहा है. बताया जा रहा है कि 1966 के बाद करीब 50 वर्षों बाद शहर इस तरह की भयावह स्थिति का सामना कर रहा है. जलस्तर सामान्य से करीब 74 इंच ऊपर पहुंच गया है.

पूरे देश में भारी बारिश का असर
दरअसल सिर्फ वेनिस ही नहीं इटली के कई शहर इस समय भारी बारिश के कारण मुश्किलों से जूझ रहे हैं. इटली की सबसे लंबी नदी पो में जलस्तर सामान्य से करीब डेढ़ मीटर तक ऊंचा हो गया है. प्रशासन इस पर लगातार निगाहे बनाए हुए है. कई शहरों में खेती बर्बाद हो चुकी है और आम आदमी के लिए तबाही जैसे हालात हैं. देश के तकरीबन सभी बड़े नेता सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स के जरिए लोगों से संयमित और सावधान रहने की अपील कर रहे हैं.

क्यों मशहूर है वेनिस शहर

वेनिस शहर करीब 118 छोटे टापुओं पर स्थित है. ये टापू नहरों के माध्यम से एक दूसरे से जुड़े हुए हैं. इन्हें आपस में जोड़ने और परिवहन की व्यवस्था के लिए करीब 400 ओवर ब्रिज हैं. ये सभी टापू इटली की दो सबसे बड़ी नदियों पो और पाइवे के बीच स्थित हैं. शहर का नाम यहां के मूल निवासी 'वेनेटी' समुदाय के नाम पर पड़ा है. यहां की आबादी करीब 26 लाख है. वेनिस को सिटी ऑफ वाटर, सिटी ऑफ मास्क्स, सिटी ऑफ ब्रिजेज़, फ्लोटिंग सिटी के उपनामों से भी जाना जाता है. शहर में पुनर्जागरण काल के दौरान कला का एक बड़ा मूवमेंट चला था जिसका असर यहां की इमारतों पर देखा जा सकता है.

(तस्वीर विकीपीडिया से साभार)
(तस्वीर विकीपीडिया से साभार)


वेनिस की इमारतें स्थापत्य का बेहतरीन नमूनाज्वार के कारण वेनिस की ऐतिहासिक इमारतों की लगातार क्षति हो रही है. इसे लेकर लोग सोशल मीडिया पर प्रतिक्रियाएं भी दे रहे हैं. ज्वार की इस भयावह स्थिति ने शहर की ऐतिहासिक इमारतों के सामने अस्तित्व का संकट खड़ा कर दिया है. वेनिस शहर की मशहूर ऐतिहासिक इमारतों में बैसिलिया डि सैन मार्को (चर्च), पेगी गगेनहीम म्यूजियम, सैंट मार्क्स कैंपेनाइल घंटाघर, पुंटा डेला डोगाना म्यूजियम, बिब्लियोटेका नैजियोनेल लाइब्रेरी गिनी जाती हैं.

तो डूब जाएगा ये खूबसूरत शहर...
इटैलियन नेशनल एजेंसी फॉर न्यू टेक्नोलॉजीज़, एनर्जी एंड सस्टेनेबल इकॉनोमिक डेवलपमेंट ने 2017 में अपनी रिपोर्ट में चेतावनी दी थी कि अगर क्लाइमेट चेंज की स्थिति यही रही तो एक सदी के भीतर वेनिस शहर पानी के भीतर समा जाएगा. एजेंसी ने चेतावनी जारी की थी कि हमें वैश्विक जलवायु परिवर्तन को लेकर मिशन के स्तर पर काम करना होगा तभी ऐसे हालात से निपटा जा सकता है.

क्यों हो रही है आलोचना
डूबते वेनिस शहर को लेकर स्थानीय लोगों में बहुत गुस्सा है. आलोचकों का आरोप है कि प्रशासन ने टूरिज्म इंडस्ट्री को बढ़ावा देने के लिए कई खतरनाक समझौते किए हैं. पर्यावरण को लेकर बनाई गई नीतियों को ताक पर रखा गया है जिसकी वजह से वेनिस शहर अस्तित्व के संकट से जूझ रहा है. कहा जा रहा है कि जलवायु परिवर्तन से पड़ने वाले बुरे असर से बचाव के लिए प्रशासन ने ठोस उपाय नहीं किए.



बचाव के उपायों में देरी जिम्मेदार!
वेनिस शहर की मौजूदा स्थितियों के लिए वहां के प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है. उन प्रोजेक्ट्स में धड़ल्ले से भ्रष्टाचार हुआ जो शहर को इस मुसीबत से बचा सकते थे. बीते करीब 15 सालों से वेनिस में मोबाइल हाइड्रोलिक बैरियर सिस्टम तैयार किया जा रहा है जिससे शहर को भयानक हाई-टाइड से बचाया जा सके. लेकिन ये प्रोजेक्ट अव्यवस्था और भ्रष्टाचार की वजह से पूरा नहीं हो पा रहा है. साल 2014 में शहर के मेयर को भ्रष्टाचार के लिए गिरफ्तार भी किया गया था. कई पर्यावरण विज्ञानियों और एक्टिविस्ट्स में इस प्रोजेक्ट को लेकर संदेह भी है.

'वी आर हियर' संस्था की डायरेक्टर जेन दा मोस्टो ने अंग्रेजी चैनल सीएनएन न्यूज को बताया है, 'आखिर हमें इस तरह के प्रोजेक्ट में भरोसा क्यों करना चाहिए. ये प्रोजेक्ट 2003 में शुरू हुआ था और इसे 2011 में पूरा हो जाना था. अब 2019 आ चुका है लेकिन अभी तक इसके पूरा होने में संदेह है. मेरा सोचना है कि इसे जितना जल्द हो सके पूरा होना चाहिए. शहर को अब इसकी सबसे ज्यादा जरूरत है.' वेनिस शहर के वर्तमान मेयर लीगी ब्रगनारो ने संभावना जाहिर की है कि हम इस प्रोजेक्ट को 2021 तक पूरा कर लेंगे.

ये भी पढ़ें:
जापान की इस टेक्नोलॉजी से प्रदूषण से मिलेगा हमेशा के लिए छुटकारा

#HumanStory: 'अब्बू की उम्र का शौहर मिला, पिटने और साथ सोने में फर्क नहीं था'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 18, 2019, 12:12 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर