आप सिगरेट पीकर फेंक देते हैं, तो ऐसे कुपोषित होते हैं पौधे

धूम्रपान करना आपकी सेहत के लिए तो हानिकारक है ही, पौधों और पर्यावरण के लिए भी खतरनाक है. आप जो सिगरेट पीकर फिल्टर फेंक देते हैं, वो पौधों के लिए धीमा ज़हर साबित होता है. जानें एक नयी वैज्ञानिक स्टडी क्या कहती है.

News18Hindi
Updated: July 21, 2019, 12:29 PM IST
आप सिगरेट पीकर फेंक देते हैं, तो ऐसे कुपोषित होते हैं पौधे
सिगरेट बट. प्रतीकात्मक तस्वीर.
News18Hindi
Updated: July 21, 2019, 12:29 PM IST
ज़्यादातर लोगों का मानना है कि सिगरेट बट यानी सिगरेट में कश लगाने के छोर पर जो फिल्टर लगा होता है, वो कचरा नहीं होता और मिट्टी में आसानी से अपने आप रिसाइकिल हो जाता है. इस विश्वास के चलते ज़्यादातर लोग ये समझ ही नहीं पाते कि उनकी फेंकी हुई सिगरेट और उसके बट से पौधों को कितना नुकसान होता है. एक ताज़ा रिसर्च में पता चला है कि ऐसा करना इसलिए ठीक नहीं है क्योंकि इससे पौधों के विकास पर बुरा असर पड़ता है और पर्यावरण को अच्छा खासा नुकसान होता है.

पढ़ें : अब दुनिया पर मंडरा रहा है इस जानलेवा बीमारी का डर

यूके स्थित एंगिला रस्किन यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने अपनी रिसर्च में पाया कि धरती पर सबसे सामान्य रूप से पाए जाने कचरे सिगरेट बट कैसे पौधों की ग्रोथ पर बुरा असर डाल रहे हैं. ईकोटॉक्सिकोलॉजी एंड एनवायरनमेंटल सेफ्टी नाम के विज्ञान पत्र में प्रकाशित हुई ये पहली स्टडी है, जिसने सिगरेट बट से पौधों को होने वाले नुकसान का मुद्दा उठाया है और आंकड़ों के आधार पर ये साबित किया है. आप भी समझें कि कैसे और किस हद तक सिगरेट बट पौधों के लिए नुकसानदायी हैं.

जड़ों की मोटाई घटती है और तनों की लंबाई

सिगरेट बट जब मिट्टी में फेंक दिए जाते हैं, तो इससे मिट्टी की गुणवत्ता बढ़ाने वाले जीवाणुओं और कीटाणुओं के ज़रिए होने वाली प्रक्रियाएं घट जाती हैं. इसका असर ये होता है कि पौधों के तने की लंबाई 27-28 फीसदी तक घट जाती है. साथ ही, पौधों की जड़ों का वज़न 57 फीसदी तक कम रह जाता है और घास के लिहाज़ से, अंकुरण का विकास 10 फीसदी तक अवरुद्ध होता है.

ज़रूरी जानकारियों, सूचनाओं और दिलचस्प सवालों के जवाब देती और खबरों के लिए क्लिक करें नॉलेज@न्यूज़18 हिंदी

smoking threats, how smoking harmful, cigarette smoking effects, environmental pollution, plastic waste problems, स्मोकिंग के नुकसान, स्मोकिंग के खतरे, सिगरेट स्मोकिंग असर, पर्यावरणीय प्रदूषण, प्लास्टिक कचरा
दुनिया में हर साल करीब 4.5 ट्रिलियन सिगरेट बट कचरे के तौर पर फेंक दिए जाते हैं.

Loading...

धरती पर कितना है ऐसा कचरा?
एक अनुमान के मुताबिक पूरी दुनिया में हर साल करीब 4.5 ट्रिलियन सिगरेट बट कचरे के तौर पर फेंक दिए जाते हैं. हमारे ग्रह पर फैल रहे प्लास्टिक प्रदूषण का ये सबसे ज़्यादा फैलता हुआ कचरा है. शोध करने वाले डॉ डेनियल ग्रीन का कहना है कि चारे के लिए खास तौर से इस्तेमाल होने वाली दो प्रजातियों व्हाइट क्लोवर और रेग्रास पर शोध किए गए जिनमें पाया गया कि सिगरेट बट से इनकी ग्रोथ पर खासा असर पड़ रहा है. ये प्रजातियां बायोडायवर्सिटी यानी जैव विविधता, परागण और नाइट्रोजन स्थिरीकरण के लिए महत्वपूर्ण हैं.

सिगरेट बट क्यों हैं खतरनाक?
ज़्यादातर सिगरेट बट में सेल्यूलोज़ ऐसिटेट फाइबर से बने फिल्टर लगे होते हैं और ये अवयव बायोप्लास्टिक का एक स्वरूप हैं. पर्यावरण में अपने आप रिसाइकिल होने में इन्हें काफी समय लगता है. बाकी प्लास्टिक की तरह दशकों या सदियों का समय नहीं, लेकिन सालों का तो लगता ही है. इसलिए, इन्हें खतरनाक कचरा माना जा सकता है, खास तौर से पौधों के लिए तो बेशक. सिगरेट पीकर फेंकी गई हो, या ​बगैर पिए, ये बट मिट्टी के लिए समान रूप से नुकसानदायक होते हैं. शोधकर्ताओं ने जिन बगीचों में शोध के लिहाज़ से नज़र रखी, वहां कई जगह एक वर्गमीटर के दायरे में 100 से ज़्यादा फेंके हुए सिगरेट बट पाए गए, जो वाकई चिंताजनक है कि लोग इसे कचरा नहीं समझ रहे हैं. अभी इस बारे में शोधों का सिलसिला जारी है.

यह भी पढ़ें-
क्या 50 साल पहले आर्मस्ट्रॉन्ग ने सच में चांद पर सुनी थी अज़ान?
मामूली बुखार पर भी टेस्ट जरूर कराएं, चिकनगुनिया हो सकता है...
First published: July 21, 2019, 12:29 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...