Home /News /knowledge /

बीमारियों के इस मौसम में डेंगू और चिकनगुनिया से कैसे संभलें

बीमारियों के इस मौसम में डेंगू और चिकनगुनिया से कैसे संभलें

मच्छरों के काटने से डेंगू, चिकनगुनिया के वायरस सक्रिय होते हैं

मच्छरों के काटने से डेंगू, चिकनगुनिया के वायरस सक्रिय होते हैं

मानसून के मौसम को बीमारियों का मौसम भी कहा जाता है, क्योंकि इसी मौसम में मच्छर, वायरस और कीड़े-मकौड़ें ज्यादा सक्रिय हो जाते हैं

    बारिश का मौसम शुरू हो गया है. ये ऐसा मौसम भी है, जिसे हमेशा से बीमारियों का मौसम कहा जाता है. इसी मौसम में सबसे ज्यादा मच्छर और कीड़े-मकौड़े पैदा होते हैं. इस समय जो मौसम चल रहा है, उसमें डेंगू, चिकनगुनिया और जीका वायरस जैसी बीमारियां भी तेजी से फैल रही है. डेंगू और चिकनगुनिया होने पर कुछ ऐसी चीजें जो आपको हरगिज नहीं करनी चाहिए.

    आमतौर पर ये सारी बीमारियां एडीज मच्छरों से फैलती हैं. इनमें आपको बुखार होता है, शरीर में लाल सफेद रंग के चकत्ते या निशान दिखने लगते हैं. हालांकि इन दोनों बीमारियों में लक्षण कई दिनों बाद ही सही तरीके से सामने आते हैं.

    इन दोनों बीमारियों में आपको ये काम नहीं करने चाहिए
    - ज्यादा मसालों वाला भोजन नहीं करें
    - ऐसा भोजन नहीं करें, जिसका पचना मुश्किल हो
    - तैलीय खाने पीने से बचे

    अपनाइए ये तरीके, बचे रहेंगे इस मौसम में आप चिकनगुनिया से...

    - मरीज को डिस्प्रीन और एस्प्रीन की गोली कभी ना दें
    - कभी खुले ऐसे स्थानों पर नहीं सोएं, जहां मच्छर हों
    - पानी को कभी घर में इकट्ठा नहीं होने दें
    - ऐसे कपड़े नहीं पहनें जिसमें हाथ पैर खुले हों

    डेंगू और चिकनगुनिया एडीज मच्छरों के काटने से ही फैलता है


    दोनों बीमारियों में ये सेवन राहत देने वाले हो सकते हैं
    हर्बल टी-अदरक और इलायची डालकर हर्बल टी राहत देगी
    नारियल पानी - खूब नारियल पानी पिएं, ये प्लेटलेट्स भी बढाएगा और ताकत भी देगा. नारियल पानी में मौजूद इलेक्ट्रोलाइट्स और मिनरल्स जैसे कई पोषक तत्व होते हैं जिससे शरीर मजबूत होता है.

    Mission Paani: सालों से राजस्थान की ऐतिहासिक बावड़ियां साफ कर रहा है ये विदेशी

    नींबू रस-शरीर में मौजूद वायरस और विषैले तत्वों को बाहर निकालने के लिए नींबू का रस पीना चाहिए. शरीर के भारीपन को कम करने और वायरस बाहर निकालने में नींबू खासा असरदार है
    अदरक का पानी-शरीर को मजबूत करने के लिए अदरक का हल्का गर्म पानी फायदेमंद होता है

    डेंगू और चिकनगुनिया दोनों बीमारियों में नारियल पानी का सेवन बहुत फायदेमंद होता है


    दलिया-शरीर को एनर्जी देने के लिए मरीज को दलिया खिलाना चाहिए. ये आसानी से पच जाता है.
    सब्जियां-सब्जियों को हल्का पकाकर या फिर उबालकर खाना चाहिए. मरीज को विटामिन, मिनिरल्स और एंटी ऑक्सिडेंट्स से भरपूर सब्जियां खानी चाहिए. जैसे टमाटर, कद्दू, गाजर, खीरा, चुकंदर इत्यादि. इससे ब्लड प्लेटलेट्स भी बढ़ती हैं और रोगी जल्दी ठीक होता है.

    जहां नदियां नहीं हैं जलस्रोत, मध्य पूर्व के उन देशों में कैसे बुझती है प्यास?
    फल-विटामिन युक्त फल देने चाहिए. इससे शरीर की प्रतिरोधी क्षमता बढ़ेगी.
    गिलोय और पपीते का रस-प्लेटलेट्स की संख्या बढ़ाने के लिए ताजे पपीते की दो पत्तियों को पीसकर जूस बनाकर पीएं. सुबह या रात में दो चम्मच पत्तों का रस भी पी सकते हैं.

    बचाव
    - घरों या आसपास पानी इकट्ठा नहीं होने दें. इसका मच्छर साफ ठहरे पानी में होता है.

    डेंगू बुखार के लक्षण
    - तेज बुखार के साथ नाक बहना, खांसी, आखों के पीछे दर्द, जोड़ों के दर्द और त्वचा पर हल्के रैश होते हैं.
    - पेट खराब हो सकता है
    - जी मितला सकता है. उल्टी भी आ सकती है
    - डेंगू बुख़ार को "हड्डीतोड़ बुख़ार" के नाम से भी जाना जाता है, पीड़ित लोगों को इतना अधिक दर्द हो सकता है
    - प्लेटलेट्स का स्तर कम होता है। दूसरा डेंगू शॉक सिंड्रोम है
    - ब्लड प्रेसर कम हो सकता है

    डेंगू से बचने के लिए मच्छरदानी का इस्तेमाल ज्यादा असरदार है


    चिकनगुनिया के लक्षण
    - तेज बुखार
    - शरीर में जगह जगह चकते बन जाते हैं
    - शरीर के जोड़ों में काफी दर्द होता है
    - सिरदर्द के साथ आंखों में भी दर्द
    - अनिद्रा तथा निर्बलता भी शामिल है

    डॉक्टरों ने ढूंढा डेंगू-चिकनगुनिया का इलाज, इस बैक्टीरिया से करेंगे ठीक

    Tags: Chikungunya, Dengue, Joint pain, The Viral fever, Zika Virus

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर