लाइव टीवी

कौन है वो ब्रिटिश प्रिंस, जो जनता की नजरों में हीरो से हुआ जीरो

News18Hindi
Updated: November 21, 2019, 5:49 PM IST
कौन है वो ब्रिटिश प्रिंस, जो जनता की नजरों में हीरो से हुआ जीरो
राजकुमार एंड्र्यू गंभीर आरोपों का सामना कर रहे हैं.

ब्रिटेन का शाही राजघराना (British Royal Family) इस वक्त गंभीर आरोपों का सामना कर रहा है. महारानी एलिजाबेथ (द्वितीय) और प्रिंस फिलिप के बेटे प्रिंस एंड्र्यू (Prince Andrew, Duke of York) यौन शोषण के गंभीर आरोप से गुजर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 21, 2019, 5:49 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. ब्रिटेन का शाही राजघराना (British Royal Family) इस वक्त गंभीर आरोपों का सामना कर रहा है. महारानी एलिजाबेथ (द्वितीय) और प्रिंस फिलिप के बेटे प्रिंस एंड्र्यू (Prince Andrew, Duke of York) यौन शोषण के गंभीर आरोप का सामना कर रहे हैं. इन आरोपों के बाद महारानी एलिजाबेथ ने उन्हें ड्यूक ऑफ यॉर्क के पद से हटाते हुए राजसी दायित्वों को तत्काल छोड़ने के लिए कहा है.

खुद प्रिंस एंड्रूय ने भी एक पब्लिक लेटर जारी कर कहा है कि जेफरी इप्स्टीन के साथ उनकी दोस्ती दुर्भाग्यपूर्ण है. 59 वर्षीय एंड्रयू ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय (Queen Elizabeth II) के दूसरे बेटे और शाही गद्दी के आठवें दावेदार हैं.

दरअसल एंड्रयू पर आरोप है कि उन्होंने अमेरिकी फाइनेंसर जेफरी इप्स्टीन से दोस्ती रखी. बीबीसी को दिए साक्षात्कार में एंड्रयू ने स्वीकार किया कि नाबालिगों (Minors) को वेश्यावृत्ति (Prostitution) में धकेलने के दोषी करार दिए जाने के बाद भी इप्स्टीन से दोस्ती कायम रखना उनकी बड़ी भूल थी. इप्स्टीन की मौत इस साल अगस्त में अमेरिकी हिरासत में हो गई थी.

इसके अलावा राजकुमार एंड्रयू (Prince Andrew) पर वर्जीनिया रॉबर्ट्स नाम की महिला ने आरोप लगाया है कि राजकुमार से संबंध बनाने के लिए उसे मजबूर किया गया था. लेकिन ये आरोप एक अमेरिकी जज ने 2015 में दबा दिए थे, उन्होंने कहा था कि इस्प्टीन से जुड़े सिविल मामले में इन अश्लील बातों की जरूरत नहीं है. बकिंघम पैलेस (Buckingham Palace) ने भी बार-बार इन आरोपों से इंकार किया है. और इन्हें झूठा और बिना आधार का बताया है. वर्जीनिया बदनाम अमेरिकी फाइनेंसर जेफरी इप्स्टीन की कथित शिकार हैं. बीबीसी को दिए इंटरव्यू को प्रसारित करने से पहले जारी फुटेज में एड्रंयू कहते हुए सुनाई दे रहे हैं कि उस महिला से मुलाकात याद नहीं है.



कई बार जबरदस्ती सेक्स करने का लगाया आरोप
वर्जिनिया ग्यूफ्रे- जो कि पहले वर्जिनिया रॉबर्टस के नाम से जानी जाती थी- ने कहा था कि जब वे 17 साल की थीं तो उन्हें प्रिंस एंड्रयू के साथ सेक्स करने के लिए मजबूर किया गया था. उन्होंने कहा था कि इसके बाद उन्होंने फिर से न्यूयॉर्क (New York) और इस्प्टीन के कैरेबिया स्थित प्राइवेट द्वीप पर भी सेक्स किया था. गौरतलब है कि एंड्रयू की एक तस्वीर (Photo) सामने आई थी जिसमें उनकी बांहो में 17 वर्षीय वर्जीनिया थी और उनके पीछे इस्प्टीन की महिला मित्र गिसलैन मैक्सवेल दिखाई दे रही थी. हालांकि इसकी प्रमाणिकता को लेकर विवाद था.
Loading...

एलिजाबेथ के दुलारे बेटे के रूप में मशहूर हैं एंड्र्यू
महारानी एलिजाबेथ की तीसरी संतान 'दुलारे बेटे' के रूप में मशहूर हैं. कहा जाता है कि महारानी एलिजाबेथ अपने बच्चों में सबसे ज्यादा लगाव एंड्रूयू से ही रखती हैं. एंड्रूय ब्रिटेन की रॉयल नेवी में कमांडर के पद पर हैं. और उन्हें वाइस एडमिरल का मानद पद भी मिला हुआ है. फॉकलैंड युद्ध के समय में उन्होंने देश को अपनी सेवाएं दी हैं और कई खतरनाक मिशन का हिस्सा भी रह चुके हैं.

विवाह का खराब अनुभव
एंड्र्यू का विवाह 1986 में साराह फर्ग्यूसन के साथ हुआ था. दोनों एक-दूसरे को बचपन से जानते थे लेकिन शादी ज्यादा समय तक नहीं टिकी और विवाद के बाद साल 1996 में तलाक हो गया. एंड्र्यू और साराह के तलाक की खबरों की तब काफी मीडिया सुर्खियां मिली थीं.

इप्स्टीन के साथ दोस्ती
इप्स्टीन के साथ दोस्ती को लेकर पहली बार एंड्र्यू की आलोचना नहीं हो रही है. साल 2011 में भी इन दोनों की दोस्ती को लेकर मीडिया में काफी आलोचना हुई थी. माना जाता है कि इप्स्टीन एंड्रूय की मदद अमेरिका में व्यावसायिक संबंधों को लेकर कर रहा था. साल 2015 में भी बकिंघम पैलेस पर काफी दबाव पड़ा था कि वो एंड्र्यू और इप्स्टीन को दोस्ती को लेकर स्पष्टीकरण दे. अंग्रेजी अखबर द टेलीग्राफ ने लिखा था-आखिर प्रिंस इप्स्टीन के साथ क्या कर रहे हैं जो बाल यौन शोषक है. जिसे 2008 में एक कम उम्र बच्ची को वेश्यावृत्ति में ढकेलने की वजह से जेल जाना पड़ा था.

जेफरी इप्स्टीन
जेफरी इप्स्टीन


कौन था जेफरी इप्स्टीन
अमेरिकी फाइनेंसर जेफरी ने करियर की शुरुआत शिक्षक के तौर पर की थी लेकिन बाद में उसने बैंकिंग और फाइनेंस के पेशे की ओर रुख किया. अपनी खुद की फर्म खोलने के पहले उसने ग्लोबर इनवेस्टमेंट बैंक बेयर स्टर्न्स के साथ काम किया. उसने रईस लोगों का एक सोशल सर्किल डेवलप किया. इसी दौरान उसने कई कम उम्र लड़कियों को अपने फायदे के लिए वेश्यावृत्ति के धंधे में धकेलने का काम किया. आरोप है कि इप्स्टीन खुद इन लड़कियों से संबंध बनाता था और अपने क्लाइंट्स के साथ भी संबंध बनाने के लिए मजबूर करता था.

साल 2005 में अमेरिकी पुलिस ने उसके खिलाफ तब जांच शुरू की जब एक माता-पिता ने आरोप लगाया कि इप्स्टीन ने उनकी 14 वर्षीय लड़की का यौन शोषण किया है. 2008 में वो दोषी सिद्ध हुआ और उसे फ्लोरिडा की एक कोर्ट ने सजा सुनाई. बाद में वो वर्क रिलीज प्रोग्राम( कैदियों को भरोसे के आधार पर जेल के बाहर काम करने की छूट दी जाती है, लेकिन शाम होने पर दफ्तर के वक्त के बाद वापस जेल में आना होता है) के तहत काम करने लगा. सजा पूरी करने के बाद वो बाहर आया तो फिर इस साल 6 जुलाई को उसकी सेक्स ट्रैफिकिंग के लिए गिरफ्तारी हुई. जहां जेल में ही उसकी 10 अगस्त को मौत हो गई थी.
ये भी पढ़ें:

नहीं होता ये मुस्लिम नेता तो शायद न बन पाता JNU...

JNU विवाद: सुशील मोदी ये क्यों नहीं सोचते कि बिहार का छात्र बाहर क्यों जाता है

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 21, 2019, 4:12 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...