लाइव टीवी

जानिए ई-सिगरेट बैन से मोदी सरकार को कैसे हुआ फायदा?

News18Hindi
Updated: September 20, 2019, 1:30 PM IST
जानिए ई-सिगरेट बैन से मोदी सरकार को कैसे हुआ फायदा?
सरकार को ई-सिगरेट बैन के पहले ही दिन एक हजार करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ

मोदी सरकार (Modi Government) ने ई-सिगरेट (e cigarette) पर पूरी तरह से बैन लगा दिया है. बुधवार को पहले ही दिन के बैन में सरकार को एक हजार करोड़ का फायदा पहुंचा. पढ़िए ई-सिगरेट पर बैन के फायदे का गणित...

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 20, 2019, 1:30 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. मोदी सरकार (Modi Government) ने ई-सिगरेट (e cigarette) पर बैन लगा दिया है. अब ई-सिगरेट इंपोर्ट करना, बिक्री करना या उसे रखना कानूनन अपराध है. सरकार ने इस कदम के पीछे लोगों की सेहत का हवाला दिया है. केंद्र सरकार ने कहा है कि लोगों के स्वास्थ्य के मद्देनजर ये कदम उठाया जा रहा है. लेकिन क्या सच में ऐसा ही है?

थोड़ा गहराई से पड़ताल करने पर पता चलता है कि ई-सिगरेट पर बैन लोगों के स्वास्थ्य से ज्यादा सरकार की अपनी सेहत के लिए अच्छा है. सरकार ने सोच समझ कर ये फैसला लिया है और इसमें लोगों की सेहत के नुकसान से ज्यादा सरकार का अपना फायदा छिपा है. ई-सिगरेट बैन का सीधा फायदा सरकार को होगा.

e cigarette

बैन के पहले ही दिन सरकार को 1 हजार करोड़ का फायदा

सरकार की दो तंबाकू कंपनियों में शेयर हैं. बाजार में लिस्टेड दो कंपनियों- आईटीसी लिमिटेड और वीएसटी इंडस्ट्रीज लिमिटेड में सरकार ने अपने पैसे लगा रखे हैं. ई-सिगरेट बैन होने का फायदा तंबाकू उत्पाद बेचने वाली इन कंपनियों को होगा. इन कंपनियों के फायदे में आने से सरकार को सीधा आर्थिक लाभ मिलेगा.

इसके गणित को इस बात से समझा जा सकता है कि जैसे ही केंद्र सरकार ने ई-सिगरेट पर बैन का ऐलान किया. शेयर बाजार में तंबाकू कंपनियों के शेयर में उछाल देखी गई. तंबाकू कंपनियों के शेयर धड़ाधड़ बढ़ने लगे. सिर्फ बुधवार के शेयर मार्केट की हलचल से सरकार को एक हजार करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ है. ये मुनाफा तंबाकू कंपनियों की शेयर की कीमतों में उछाल की वजह से हुआ.

e cigarette

Loading...

एक दिन में तंबाकू उत्पादन बनाने वाली कंपनियों के शेयर में उछाल

सिर्फ बुधवार को कुछ तंबाकू कंपनियों के शेयर में 9 फीसदी तक का उछाल देखा गया. बाजार में लिस्टेड तंबाकू उत्पाद बेचने वाली कंपनी आईटीसी में सरकार के शेयर हैं. आईटीसी में सरकार की हिस्सेदारी 28.64 फीसदी की है. बुधवार को इसके शेयरों में 1.03 फीसदी की उछाल देखी गई.

बुधवार को प्रति शेयर 2.45 रुपए की बढ़त दर्ज हुई. बुधवार मार्केट बंद होने पर आईटीसी के शेयर 239.60 रुपए रहे.

आईटीसी में यूनिट ट्रस्ट ऑफ इंडिया की हिस्सेदारी 7.96 फीसदी की है. जबकि लाइफ इंश्योरेंस ऑफ इंडिया यानी एलआईसी की हिस्सेदारी करीब 16.32 फीसदी है. इस हिस्सेदारी से भी सरकार को ही मुनाफा पहुंचेगा.

e cigarette

सरकारी इंश्योरेंस कंपनियों के हैं तंबाकू उत्पादन बनाने वाली कंपनियों में शेयर

इसके अलावा जनरल इंश्योरेंस ऑफ इंडिया यानी जीआईसी, न्यू इंडिया इंश्योरेंस और ओरियंटल इंश्योरेंस की भी आईटीसी में कुल 4.36 फीसदी की हिस्सेदारी है. बुधवार के कारोबार में इन कंपनियों को करीब 859 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ है. इन सभी कंपनियों का संचालन सरकार के पास है. यानी फायदा सरकार को ही पहुंचा.

इसी तरह से तंबाकू उत्पादन बनाने वाली कंपनी वीएसटी इंडस्ट्री के शेयर में बुधवार को 58.15 रुपए की बढ़त देखी गई. इसके शेयर 3,560 रुपए पर बंद हुए. वीएसटी में न्यू इंडिया इंश्योरेंस कंपनी की 1.53 फीसदी की हिस्सेदारी है. बुधवार के कारोबार से वीएसटी के शेयर्स में जो उछाल आया उसकी वजह से न्यू इंडिया इंश्योरेंस को 137.07 करोड़ रुपए का फायदा हुआ. ये पैसा आखिरकार सरकार के खाते में ही गया.

ये भी पढ़ें: जानें कैसे पाकिस्तान के लड़ाकू विमानों को धूल चटाएगा तेजस
ये Howdy Modi प्रोग्राम है क्या, क्यों है पूरी दुनिया की नजर
रिसर्च का खुलासा: मौत के 1 साल बाद तक चलता रहता है शरीर
क्या पैदल चलने वालों के लिए भी है कानून, क्या हैं उनके पास अधिकार?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नॉलेज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 19, 2019, 1:23 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...