Earth Day 2021: क्या है कोरोनाकाल में इसकी अहमियत और इस साल की थीम

इस साल वर्ल्ड अर्थ डे (World Earth day) कोविड-19 महामारी के कारण डिजिटल प्रारूप में मनाया जा रहा है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock)

इस साल वर्ल्ड अर्थ डे (World Earth day) कोविड-19 महामारी के कारण डिजिटल प्रारूप में मनाया जा रहा है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock)

वर्ल्ड अर्थ डे (World Earth Day) पर इस साल कोविड-19 (Covid-19) महामारी के बाद भी उसे मनाने में उत्साह की कमी नहीं है. इस बार पृथ्वी (Earth) के पारिस्थितिकी तंत्र को फिर से कायम करने पर जोर दिया जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 21, 2021, 10:23 AM IST
  • Share this:
दुनिया भर में पर्यावरण (Envrionment) के लिहाज से अर्थ डे (World Earth Day) को बहुत ही महत्व दिया जाता हैइसकी अहमियत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इसकी सुगबुगाहट एक दो दिन पहले से ही शुरू हो जाती है. हर साल 22 अप्रैल को मनाया जाता है. इस साल कोविड-19 (Covid-19) महामारी के प्रकोप के चलते  भले ही लग रहा हो कि लोगों का इस पर ध्यान नहीं जाएगा तो ऐसा बिलकुल नहीं है. ऐसे में लोगों में यह कौतूहल भी है कि इस बार वर्ल्ड अर्थ डे कैसे मनाया जाएगा.

एक बड़ा मौका

पिछले कुछ सालों में अर्थ डे मनाने की लोकप्रियता काफी बढ़ी है और साल दर साल जैसे-जैसे जलवायु परिवर्तन के दुष्परिणाम सामने आते जा रहे हैं. इसके महत्व पर ज्यादा जोर दिया जाने लगा है. यह दिन एक मौका होता है कि करोड़ों लोग मिल कर पृथ्वी से संबंधित पर्यावरण की चुनौतियों जैसे कि ग्लोबल वार्मिंग, प्रदूषण और जैवविविधता संरक्षण के लिए प्रयास करने में और जागरुक हों और इसमें तेजी लाएं.

क्या है साल 2021 की थीम
इस साल कोरोना काल में अर्थडे की थीम पृथ्वी को फिर से अच्छी अवस्था में बहाल करना है. इसके लिए इस बार उन प्राकृतिक प्रक्रियाओं और उभरती हुई हरित तकनीकों पर ध्यान दिया जाएगा जो दुनिया के पारिस्थिकी तंत्र को फिर से कायम करने में मददगार साबित होंगे. इस तरह से इस बार की थीम में इस अवधारणा को खारिज किया जा रहा है कि जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए किए जा रहे प्रयासों में केवल प्रकृति को नुकसान पहुंचाने वाली गधिविधियों को कम करना ही काफी होगा.

Environment, Earth, Climate Change, Global Warming, World Earth Day, World Earth day 2021, Earth day, Coronavirus, Covid-19, Ecosystem,
इस बार जलवायु परिवर्तन (Climate Change) के कारण हुए बदली पृथ्वी को फिर से बहाल करने का प्रयासों पर जोर दिया जा रहा है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)


तीन दिन मनाया जा रहा है इस साल अर्थ डे



अर्थ डे साल 1970 से 22 अप्रैल  को मनाया जा रहा है. इस साल इसे तीन के इवेंट के तौर पर मनाया जा रहा है जो 20 से अप्रैल से शुरु हो गया है. इस साल कोविड महामारी के कारण कार्यक्रमों को डिजिटल तौर पर करने की योजना बनाई गई है. कोविड-19 के कारण पर्यावरण की अहमियत पर भी जोर दिया रहा है.

क्या है न्यूजीलैंड का जलवायु परिवर्तन कानून, जिसे अपनाने से डरते हैं दूसरे देश

इन विषयों पर रहेगा जोर

इस साल अर्थ डे कार्यक्रमों में  जलवायु और पर्यावरण साक्षरता, जलवायु तकनीकों की बहाली, वनीकरण के प्रयासों में तेजी, पुनर्उत्पादन कृषि, समानता और पर्यावरण न्याय, नागरिक विज्ञान, साफ सफाई जैसे मुद्दों  पर जोर दिया जाएगा. अर्थडे डॉटओआरजी ने इस बार पृथ्वी के लिहाज से सभी से बदलाव से दूर रहने  की अपील की है.

Environment, Earth, Climate Change, Global Warming, World Earth Day, World Earth day 2021, Earth day, Coronavirus, Covid-19, Ecosystem,
इस साल का वर्ल्ड अर्थ डे (World Earth day) तीन दिन के लिए मनाया जा रहा है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)


इंटरनेट पर उपकरण

साल 1990 में अर्थ डे पर्यावरण के आंदोलन की तरह हो गया था. इसमें 192 देशों को 75 हजार से अधिक पार्टनर्स जुड़े हुए हैं. इस बार इसे मनाने के लिए व्हाट्सएप और स्नैपचैट जैसे मंचों ने कई उपकरण जारी किए हैं. स्नैप चैट पर खेलने के लिए अर्थ डे सर्च करना होगा और एआर लेंस शेयर करना होगा. इसमें बिटमोजी के द्वारा दोस्तों और अपने रिश्तेदारों को बधाई भी दी जा सकती है.

Climate change के कारण हो रहा है भारतीय मानसून ताकतवर और अनियमित

और व्हाट्सएप का नया स्टीकर पैक

वर्ल्ड अर्थ डे पर व्हाट्सएप ने भी एक नया स्टीकर पैक जारी किया है. स्टैंड अप फॉर अर्थ नाम के इस पैक में कुछ पर्यावरण संबंधी उन चुनौतियों का रेखांकित किया गया है जिसका सामना आज हम सब पूरी दुनिया में कर रहे हैं. इनके जरिए कंपनी लोगों में रीसाइक्लिंग और पानी और बिजली बचाने के कार्यों पर जोर देना चाह रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज