नासा से सात साल पहले मंगल पर इंसानों को भेजने लगेंगे एलन मस्क, बताई टाइमलाइन

एलन मस्क (Elon Musk) ने बताया कि उनकी कंपनी साल 2026 तक इंसानों को मंगल (Mars) पर पहुंचाने के दौरान कई चुनौतियों का समाना करेगी.

एलन मस्क (Elon Musk) ने बताया कि उनकी कंपनी साल 2026 तक इंसानों को मंगल (Mars) पर पहुंचाने के दौरान कई चुनौतियों का समाना करेगी.

एलन मस्क (Elon Musk) ने मंगल (Mars) पर इंसान पहुंचाने की अपनी कंपनी की टाइमलाइन (Timeline) बताई है जो नासा (NASA) के लक्ष्य से सात साल पहले की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 3, 2021, 1:16 PM IST
  • Share this:

सब जानते हैं कि नासा (NASA) अगले दशक में मंगल ग्रह (Mars) पर इंसान (Humans) को भेजने की तैयारी में लगा हुआ है. लेकिन स्पेस एक्स (SpaceX) और टेस्ला के मालिक एलन मस्क (Alon Musk) कुछ जल्दी में लगते हैं. हाल ही में मस्क ने एक टॉक शो में बात करते हुए बताया है कि उनकी कंपनी साल 2026 तक लोगों को मंगल ग्रह तक ले जाने लगेगी. इस टॉक शो में एक क्लबहाउस एप पर बोलते हुए मंगल और कई अन्य विषयों पर भी बात की.

मस्क खुद जाना चाहते हैं मंगल पर

50 वर्षीय एलन मस्क कई बार कह चुके हैं कि वे खुद अपने जीवन में कम से कम एक बार मंगल ग्रह पर जाना चाहते हैं. उनकी कंपनी ने पिछले ही साल ही नासा के वैज्ञानिकों को अपने अंतरिक्ष और प्रक्षेपण यान के जरिए इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन में पहुंचा कर वापस लाने का काम शुरू किया है.

कब तक पूरा करना होगा लक्ष्य
मंगल के बारे में खासतौर पर बात करते हुए मस्क ने लाल ग्रह पर इंसानों को पहुंचाने की अपनी टाइमलाइन जारी की है. सीनेट की रोपोर्ट के मुताबिक मस्क ने अपने शो के होस्ट श्रीरां कृष्णन और आरती रामामूर्ति को यह बताया कि साढ़े पांच साल में वे यह लक्ष्य पूरा कर लेंगे. यह कोई अंतिम डेडलाइन नहीं है.

अभी बहुत सारी चुनौतियां

इसके अलावा मस्क ने उन तकनीकी विकास के बारे में भी बात की जो इस दौरान किए जाने बहुत जरूरी हैं. उन्होंने कहा कि अहम बात है कि हम मंगल पर एक आत्मनिर्भर सभ्यता स्थापित करना चाहते हैं. उल्लेखनीय है कि मंगल पर इंसान के आने जाने और वहां कुछ समय ठहरने के लिए ही बहुत सारी चुनौतियां हैं जिनका समाधान अभी नहीं मिला है.



, NASA, Mars, Elon Musk, Humans to Mars, SpaceX, Moon, Artemis Mission, Terraforming,
फिलहाल मंगल (Mars) पर इंसान के रहने के लिए अनुकूल हालात नहीं हैं जिस पर वैज्ञानिक काम कर रहे हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)

नासा से सात साल पहले

हैरानी की  बात यह है कि मस्क ने जो डेडलाइन दी है वह थोड़ी महत्वाकांक्षी है क्योंकि दुनिया की  सबसे अग्रणी अंतरिक्ष एजेंसी नासा की मंगल पर इंसान पहुंचाने की आखिरी तरीख मस्क की दिए समय से सात साल आगे है. इस प्रक्रिया में नासा का पर्सवियरेंस यान कुछ खास प्रयोगों को करने के लिए मंगल की सतह पर इसी महीने उतरने वाला है.

मंगल पर कभी थे आज के आइसलैंड के जैसे हालात, जानिए कैसे पता चला

नासा की यह है योजना

पर्सवियरेंस मंगल से कुछ मिट्टी के नमूने जमा करेगा और लाल ग्रह पर कुछ पुरातन जीवन के संकेत खोजने का प्रयास करेगा. लेकिन नासा की योजना के मुताबिक सताल 2033 से वह किसी भी इंसान को मंगल तक नहीं पहुंचा सकेगा. नासा पहले आर्टिमिस अभियान के तहत साल 2024 में चंद्रमा पर एक पुरूष और पहली महिला को चंद्रमा पर भेजने की तैयारी कर रहा है. इसके बाद इस अभियान को मंगल ग्रह के लिए आगे बढ़ाया जाएगा.

, NASA, Mars, Elon Musk, Humans to Mars, SpaceX, Moon, Artemis Mission, Terraforming,
मंगल ग्रह (Mars) पर पहुंचने के बाद सबसे बड़ी चुनौती वहां सूर्य की खतरनाक विकिरणों (Harmful Radiations) से सुरक्षा होगी. ( फाइल फोटो)

मंगल को गर्म किया जाएगा

मस्क ने इस दौरान यह भी बताया कि समय के साथ हम टैराफोर्मिंग का उपयोग कर मंगल ग्रह को पृथ्वी की तरह गर्म कर सकते हैं. टेराफॉर्मिंग में मंगल ग्रह पर आणविक विस्फोट कर ग्रीन हाउस गैस प्रभाव को पैदा किया जाएगा जिससे मंगल लंबे समय तक गर्म रह सकेगा.

क्या नासा बदलेगा अपने ही अभियान के लिए MRO की कक्षा, जानिए पूरा मामला

यह पहली बार है कि मस्क ने मंगल पर सभ्यता की बात की है.  पिछले साल नवंबर में एक रिपोर्ट आई थी जिसमें कहा गया था कि स्पेसएक्स मंगल पर किसी भी तरह के अंतरराष्ट्रीय कानून नहीं मानेगी बल्कि खुद ही अपने लिए सिद्धांत तय करेगी जो मंगल पर बस्ती बसाने के दौरान उपयोग में लाए जाएंगे. मस्क ने बताया की फिलहाल बच्चे इस लक्ष्य का हिस्सा नहीं होंगे, लेकिन तीसरी चौथी लैंडिंग के बाद की बात और होगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज