अपना शहर चुनें

States

कैसे रहेंगे लोग मंगल पर, जानिए क्या है एलन मस्क का प्लान

एलन मस्क (Elon Musk) ने मंगल (Mars) पर इंसान बसाने की योजना पर काम कर रहे हैं.
एलन मस्क (Elon Musk) ने मंगल (Mars) पर इंसान बसाने की योजना पर काम कर रहे हैं.

एलन मस्क (Elon Musk) ने एक ट्विटर यूजर के सवालों के जवाब देते हुए बताया है कि मंगल (Mars) पर बस्ती (Colony) बसाने की उनकी क्या योजना है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 25, 2020, 1:26 PM IST
  • Share this:
अमेरिका की अंतरिक्ष एजेंसी नासा (NASA) अलगे दशक में दो लोगों को मंगल (Mars) पर भेजना चाहती है. यह बात बहुत से लोगों को अजीब और नामुमकिन तक लगती है, लेकिन स्पेस एक्स (SpaceX) के संस्थापक एलन मस्क (Elon Musk) तो मंगल पर इंसानी बस्ती (Human colony) बसाने की तैयारी कर रहे हैं. जी हां वे बसाने का मजबूत इरादा ही नहीं रखते, इस पर बाकायदा नियोजन हो रहा है अरबों डॉलर खर्च भी हो रहा है, जो खरबों तक पहुंच जाएगा. मस्क ने अपनी योजना (Plan) के बारे खुलासा भी किया है.

ट्विटर पर दिया सवाल का जवाब
कुछ सिलसिलेवार ट्वीट्स के जरिए एलन मस्कने बताया है कि वे मंगल ग्रह पर कॉलोनी बनाने की योजना पर क्या काम कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि मंगल पर शुरुआत में लोग कैसे रहेंगे. दरअसल एक ट्विटर यूजर ने टेस्ला के संस्थापक से पूछा था कि जब लोग मंगल पर रहने के लिए पहुंचेगे तब तक क्या पहले ही लाल ग्रह रहने लायक बना लिया गया होगा या फिर स्पेस एक्स ने कोई दूसरा तरीका सोचा है?

क्या जबाव दिया
एस्ट्रोनोमियम नाम के इस ट्विटर यूजर के सवाल का जवाब देते हुए मस्क ने कहा कि मंगल ग्रह पर पहली मानवीय कॉलोनी कांच के गोलघर (Glass Domes) की बनी होगी. गौरतलब है कि मंगल पर इस समय इंसान के रहने के लिए हालात बिलकुल प्रतिकूल हैं. वहां अंतरिक्ष से आने वाले हानिकारक विकिरण के अलावा वायुमंडल में ऑक्सीनहीनता और बहुत ही कम तापमान से जूझना होगा. इसके अलावा खाना और पीने का पानी तैयार करना भी वहां बहुत कठिन कार्य होगा.



 Elon Musk ,Mars, Human colony at mars,
एलन मस्क (Elon Musk) अपने जीवनकाल में मंगल (Mars) पर जाना चाहते हैं.


यह संकल्प है मस्क का
एलन मस्क हाल ही में दुनिया के तीसरे सबसे अमीर व्यक्ति बने हैं. इसके साथ ही उन्होंने अपने जीवन काल में मंगल की यात्रा करने का और मानवों को एक से अधिक ग्रह पर रहने वाली प्रजाति बनाने का संकल्प दोहराया है. अपने ट्वीट में उन्होंने कहा कि बताया जा रहा है कि वहां रहने का स्थायी समाधान निकलने और मंगल को रहने लायक बनाने से पहले लोगों को अस्थायी निवासों में रहना होगा.

क्या अंतरिक्ष में विकिरण के बीच सुरक्षित रह सकते हैं पौधों के बीज?

टेराफॉर्मिंग प्रक्रिया का उपयोग
मस्क ने कहा कि वे उम्मीद कर रहे है कि साल 2050 में दस लाख लोग मंगल पर रहने लगेंगे. लाल ग्रह को इंसानों के लिए और ज्यादा रहने लायक बनाने के लिए उन्होंने टेराफॉर्मिंग प्रक्रिया का प्रस्ताव दिया है. इसके तहत मंगल के ध्रुवों पर नाभकीय बमों को फोड़ा जाएगा जिससे मंगल के ध्रुव की बर्फ पिघल जाएगी और पूरे ग्रह पर त्वरित गति से गर्मी फैल जाएगी जिससे लाल ग्रह इंसानों के लिए रहने लायक हो जाएगा.

Elon Musk, Mars, Earth, Human Colony at mars,
फिलहाल मंगल (Mars) पर इंसानों (Humans) के लिए रहने लायक हालात बिलकुल नहीं हैं.(प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)


कितनी अहम है टेराफॉर्मिंग
मस्क ने साल 2014 में मंगल ग्रह को रहने लायक बनाने के लिए टेराफॉर्मिंग को एक संभावित समाधान बताया था जब उन्होंने एक इंटरव्यू में उसे फिक्सर अपर ऑफ द प्लैनेट के तौर पर बताया था. उन्होंने बताया कि टेराफॉर्मिंग बहुत ही धीमी होगी और इसकी पूरा असर या व्यापक प्रभावी असर शायह हमें अपने जीवन में देखने को नहीं मिले. लेकिन इस जीवनकाल में एक ‘ह्यूमन बेस जरूर तैयार किया जा सकता है.

जानिए कितना खास है NASA-ESA का सेंटिनल-6 माइकल फ्रेयलिक सैटेलाइट

49 साल के अरबपति व्यवसायी ने कहा कि अपने जीवनकाल में अंतरिक्ष में यात्रा करने वाली सभ्यता की पनपते देख सकते हैं. मस्क का अंतिम लक्ष्य मंगल को पृथ्वी जैसे ग्रह में बदलना है.  उनका कहना है कि इस लक्ष्य को हासिल करने के तेज और धीमे दोनों ही तरीके हैं. उन्हें लगता है कि ध्रवों पर थर्मोन्यूक्लियर हथियारों का उपयोग तेज तरीका है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज