Fact Check: क्‍या धूप में खड़ी कार में सैनेटाइजर की वजह से लग सकती है आग?

Fact Check: क्‍या धूप में खड़ी कार में सैनेटाइजर की वजह से लग सकती है आग?
अमेरिका के वेस्टर्न लेक फायर डिस्ट्रिक्ट के मुताबिक, कार के अंदर का तापमान बढ़ जाने पर सैनेटाइजर की बोतल में धमाका हो सकता है. (सांकेतिक तस्‍वीर)

अमेरिका के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) के मुताबिक, कोरोना वायरस के कारण बाजार में मिल रहे ज्‍यादातर सैनेटाइजर्स में 70 फीसदी से ज्‍यादा अल्‍कोहल है. कार के अंदर का तापमान बढ़ने पर सैनेटाइजर (Hand sanitizer) बोतल में वाष्‍प बनने के बाद दबाव बढ़ने पर धमाका हो सकता है.

  • Share this:
कोरोना वायरस (Coronavirus) के फैलने की रफ्तार पर ब्रेक लगाने के लिए लागू किए गए लॉकडाउन (Lockdown) की शर्तों में धीरे-धीरे छूट दी जा रही है. लोग घर से बाहर भी निकल रहे हैं. वहीं, कुछ सेक्‍टर्स में कामकाज शुरू होने पर लोगों ने दफ्तर जाना भी शुरू कर दिया है. लोग वायरस को दूर रखने के लिए पूरी सावधानी बरत रहे हैं. कोरोना से बचाव में हैंड सैनिटाइजर (Hand sanitizer) को अहम हथियार बताया जा रहा है.

लोग घर से निकलते समय कार (Car) में भी सैनिटाइजर रखना और इस्‍तेमाल करना नहीं भूल रहे हैं. वहीं, अब देश में गर्मी भी तेजी से बढ़ रही है. ऐसे में सवाल उठता है कि क्‍या कार में सैनिटाइजर की बोतल रखना सुरक्षित है? क्‍या सैनेटाइजर की बोतल में धमाके (Blast) के कारण धूप में खड़ी कार में आग लग सकती है? साथ ही ये सवाल भी है कि क्‍या धूप में रखने के बाद हैंड सैनेटाइजर कोरोना वायरस से लड़ने लायक बचता है?

अल्‍कोहल बेस्‍ड होने से सैनेटाइजर में हो सकता है धमाका
अमेरिका (US) से चेतावनी आई है कि धूप में खड़ी कार में रखी सैनेटाइजर की बोतल में धमाका हो सकता है. अमेरिका के वेस्टर्न लेक फायर डिस्ट्रिक्ट ने फेसबुक पर एक जली हुई कार की फोटो पोस्‍ट कर कहा है कि ज्यादातर हैंड सेनिटाइजर ज्वलनशील अल्कोहल (Alcohal) आधारित होते हैं. गर्म मौसम में कार में रखी सैनेटाइजर की बोतल सूर्य की रोशनी से गर्म हो जाती है. इससे आगजनी की घटना हो सकती है. इसमें भी गाड़ी में धूम्रपान के वक्त ये बेहद खरनाक हो सकता है.



Corona, coronavirus, lockdown, sanitizer, alcohol,
कोरोना वायरस से निपटने के लिए मिलने वाले सैनेटाइजर्स में अल्‍कोहल की मात्रा 70 फीसदी से अधिक रखी गई है. ऐसे में आग या अधिक गर्मी की वजह से विस्फोट हो सकता है.




हालांकि, पोस्‍ट में शेयर की गई तस्वीर को लेकर विवाद खड़ा हो गया. इस पर वेस्टर्न लेक फायर ने सफाई दी कि पोस्ट में इस्तेमाल फोटो का इस जिले से कोई रिश्ता नहीं है. जिले में कोई हादसा भी नहीं हुआ है. ये पोस्ट लोगों को सतर्क करने के लिए किया गया था और कार में रखे हैंड सेनिटाइजर के खतरे को बताने के लिए किया गया था. बाद में पोस्‍ट को हटा भी लिया गया.

सैनेटाइजर बोतल में विस्‍फोट से जल सकती है पूरी कार
भारत में बिकने वाले ज्‍यादातर सैनेटाइजर्स में अल्‍कोहल की मात्रा 40 पर्सेंट से कम होती है. हालांकि, कोरोना वायरस से निपटने के लिए मिलने वाले सैनेटाइजर्स में अल्‍कोहल की मात्रा 70 फीसदी से अधिक रखी गई है. ऐसे में आग या अधिक गर्मी की वजह से विस्फोट हो सकता है, जो काफी नुकसान पहुंचा सकता है. यहां तक की पूरी कार भी जल सकती है. पहले भी कई बार कार में बॉडी स्प्रे और कार क्लीनिंग केमिकल में विस्फोट के मामले आ चुके हैं.

जिन सैनेटाइजर्स में 70 फीसदी अल्‍कोहल होता है, उनका रखरखाव सावधानी से करने की जरूरत होती है. अगर इसे धूप या गर्मी में ज्‍यादा समय तक रख दिए जाए तो बोतन में वाष्‍प बनने लगती है और दबाव बढ़ने लगा है. इससे विस्फोट हो सकता है. हालांकि, आग पकड़ने के लिए चिंगारी की जरूरत होती है. अमेरिका के नेशनल फायर प्रोटेक्शन एसोसिएशन ने कहा है कि हैंड सैनेटाइजर्स से गर्मी में आग लगने का खतरा रहता है.

तापमान में बदलाव और लगातार धूप में रहने से सैनिटाइजर के फटने का खतरा ज्‍यादा रहता है. ऐसे में कार के अंदर सैनेटाइजर न रखना ही बेहतर है.


300 डिग्री पर सैनेटाइजर बोतल में हो सकता है धमाका
अमेरिका के रोग नियंत्रण व रोकथाम केंद्र (CDC) ने कोरोना वायरस से बचने के लिए एडवाइजरी जारी कर हर आधे घंटे में हाथों को साफ पानी से धोने या सैनेटाइज करने की सलाह दी है. कुछ लोग हर समय अपने साथ सैनेटाइजर लेकर घूमते हैं. सीडीसी के अनुसार, अल्कोहल आधारित हैंड सैनेटाइजर गर्मी के संपर्क में आने पर कमरे के तापमान में आसानी से वाष्पित हो सकता है. अगर सैनिटाइजर रखे स्थान का तापमान बढ़ता है, तो इसके फटने का खतरा बढ़ जाता है.

गर्मी के दिनों में वाहन अंदर से तपते रहते हैं और तापमान भी बदलता रहता है. आमतौर पर जब तापमान 300 डिग्री सेल्सियस से अधिक हो तो सैनेटाइजर में विस्फोट होने का खतरा बढ़ जाता है. वैसे तापमान में बदलाव और लगातार धूप में रहने से सैनिटाइजर के फटने का खतरा ज्‍यादा रहता है. ऐसे में कार के अंदर सैनेटाइजर न रखें. साथ ही लगातार धूप में रखे होने पर सैनेटाइजर पतला हो जाता है और कोरोना वायरस से लड़ने लायक भी नहीं बचता है.

ये भी देखें:

जानें वीर सावरकर पर अंतरराष्‍ट्रीय अदालत 'हेग' में क्‍यों चलाया गया था मुकदमा

क्या वाकई भारत में ज्यादातर कोरोना रोगी हो रहे हैं ठीक और दुनिया में सबसे कम है मृत्यु दर

क्यों डब्ल्यूएचओ ने भारत की दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन का ट्रायल तक नहीं किया?

जम्मू-कश्मीर में बदले डोमिसाइल रूल्‍स से कश्‍मीरी पंडितों और पाकिस्‍तानी शरणार्थियों को कैसे होगा फायदा

जानें क्या है चीन का मार्स मिशन तियानवेन-1, कितने दिन में पहुंचेगा लाल ग्रह

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading