अपना शहर चुनें

States

पांच खाने के व्यंजन, जो सेना के कारण बने और पापुलर हो गए

बहुत से मशहूर व्यंजनों (Dishes) को लोकप्रिय करने में सेनाओं का हाथ रहा है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)
बहुत से मशहूर व्यंजनों (Dishes) को लोकप्रिय करने में सेनाओं का हाथ रहा है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)

दुनिया (World) में कई व्यंजन (Dishes) मशहूर तो हैं, लेकिन उन्हें लोकप्रिय बनाने में सेना (Millitary) का हाथ रहा है. इसमें विश्वयुद्ध का भी योगदान रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 15, 2021, 5:11 PM IST
  • Share this:
दुनिया (World) के हर कोने के भोजन (Food) की अपनी खासियत होती है. लेकिन यह भी सच है कि दुनिया के सबसे मशहूर व्यंजन (Famous Dishes) को खास बनाने में एक से ज्यादा संस्कृतियों (Cultures) का योगदान है. वैसे तो सेनाओं (Militaries) के  बारे में यही माना जाता है कि उनकी दुनिया के भोजन के विभिन्न संस्कृतियों में आदान प्रदान की भूमिका है, लेकिन कुछ व्यंजनों सेना के कारण बने और रोजमर्रा के जीवन का हिस्सा बन कर लोकप्रिय हो चुके हैं.

स्पेन में बनी यह मशहूर डिश
पाएला (Paella) एक मशहूर लजीज स्पेनिश व्यंजन है. इसके इतिहास के बारे में बहुत क लोग जानते हैं. बताया जाता है कि यह मूर साम्राज्य के नौकरों ने सबसे पहले बनाया था. मूर साम्राज्य का स्पेन पर 711 से लेकर 1492 ईस्वी तक कब्जा था. मूर सैन्य दावतों में जो खाना बच जाया करता था उसे नौकर अपने घर ले जाया करते थे. वे इसमें चावल और केसर डालकर खुली आग में पकाया करते थे. कहा जाता है कि पाएला शब्द अरब शब्द बकाया से निकला है जिसका मतलब ही बचा हुआ खाना होता है.

ताइवानी के बेंतो बना रेलवे स्टेशनों की पहचान
जब जापान ने द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान ताइवान पर कब्जा किया था. उस दौरान बेंतो वहां लोकप्रिय होना शुरू हुए थे. डीप फ्राइड पोर्क चोप्स का बेंतो बॉक्स में  रेलवे स्टेशन पर बिकना रोजमर्रा का हिस्सा हो गया था. उस समय यह बचे हुए खाने को डिब्बों में बेचा जाता था.  इस डिश को इकिबेन (Ekiben) कहा जाता था. यह बक्से का खाना बहुत ही ज्यादा मशहूर हो गया जो आज भी ताईवान की सांस्कृति का हिस्सा माना जाता है. और आज भी ताइवान रेलवे द्वारा स्टेशन पर दिया गया डब्बे में भोजन को बेंतो ही कहा जाता है.



, Food, Recipe, Dishes, Military, Culture, Paella, Tiwanese Bento, Dry Pasta, Banh Mi, Spam,
ड्राय पास्ता (Dry Pasta) को दुनिया में लोकप्रिय बनाने के पीछे एक सेना के लाए खास गेंहू का योगदान था. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)


ड्राय पास्ता छा गया दुनिया में
इटली में पास्ता बहुत ही लोकप्रिय और व्यापक व्यंजन है. कहा जाता है कि 8वीं सदी में कार्थाजिनियन्स (आज के ट्यूनीशिया) वहां डूरम गेंहूं लाए थे. इस गेहूं की खासियत यह थी कि ताजा पास्ता के मुकाबले यह सूख कर कड़क हो सकता है. इसी गुण की वजह से सूखे पास्ता का उद्योग फलफूल सका था और यह पूरे इटली के साथ  दुनिया भर में फैल सका था. आज शायद ही कोई देश ऐसा होगा जहां बच्चे पास्ता से वाकिफ नहीं हों.

अजब गजब-विशाल पुरातन शार्क के शिशु अपने ही बंधुओं को खा लेते थे गर्भ में

वियतनाम ने बनाया फ्रांसीसी डिश को खास
बान्ह मी (Banh Mi) आज एक इंटरनेशनल डिश है. वैसे तो यह वियतनाम का व्यंजन हैं, लेकिन इस फ्रांस उपनिवेशिक काल का संकेत माना जाता है. 17 वीं सदी में फ्रांसीसियों ने वियतनाम  में मिशनरी के तौर पर आए थे. वे अपने साथ बगैट साथ लाए थे, लेकिन वियतनाम के लोगों ने इसके अपने संस्करण बना लिए, जिसमें सिलांत्रो में स्टफिंग, अचार वाली सब्जियां और मांस शामिल हैं.  इसके अलावा मैगी सॉस भी फ्रांसीसियों के द्वारा लाया गया था.

Food, Recipe, Dishes, Military, Culture, Paella, Tiwanese Bento, Dry Pasta, Banh Mi, Spam,
स्पाम (Spam) को लोकप्रियता द्वितीय विश्व युद्ध (II World War) में अमेरिकी सेना के कारण मिली. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)


स्पाम पहुचा एशिया पैसिफिक में
स्पाम भी सैनिकों की वजह से दुनिया के कुछ हिस्सों में पहुंच कर वहां का हो गया. द्वीतिय विश्व युद्ध में अमेरिकी सेना ने 10 करोड़ पाउंड का स्पाम अमेरिका और मित्र राष्ट्रों की सेना के लिए आर्डर किया था. कुछ इलाकों में इसे वापस कर दिया गया था. लेकिन एशिया पैसिफिक में इसे स्वीकर करने के साथ पसंद भी किया गया. हवाई में कई जगह मछली पकड़ने पर बैन लगने से स्पाम और सर्डीन को प्रोटीन का मुख्य स्रोत माना जाने लगा. आज यह इन द्वीपों की संस्कृति का हिस्सा हो चुका है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज