Birthday Leonardo Da Vinci : वो शख्स जो जानता था 500 साल बाद दुनिया कैसी होगी

लियोनार्डो दा विंची ने अपनी ये पोट्रेट खुद 1510 में बनाई थी. उनकी ये कलाकृति इन दिनों इटली के तूरिन लाइब्रेरी में रखी है.

लियोनार्डो दा विंची ने अपनी ये पोट्रेट खुद 1510 में बनाई थी. उनकी ये कलाकृति इन दिनों इटली के तूरिन लाइब्रेरी में रखी है.

Birthday Leonardo Da Vinci : दुनिया की सबसे महान पेंटिंग मोनालिसा मानी जाती है. इसको बनाने वाले थे इटली के महान चित्रकार लियोनार्डो दा विंची (Leonardo da Vinci). वो ना केवल महान अविष्‍कारक (Inventor) थे बल्कि आर्किटेक्ट, जीव विज्ञानि और शरीर रचना विज्ञान के विशेषज्ञ. उन्होंने 500 साल पहले ही सोच लिया था कि दुनिया में क्या होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 15, 2021, 10:29 AM IST
  • Share this:
इटली के महान चित्रकार लियोनार्डो दा विंची (Leonardo da Vinci) को कुछ लोग उनकी पेंटिंग 'मोनालिसा' की वजह से जानते हैं. वहीं, कुछ लोग कुछ साल पहले आई टॉम हैंक्‍स की फिल्‍म 'द विंची कोड' के कारण पहचानते हैं. इसके अलावा उनकी पेंटिंग 'द एनंसिएशन', 'द वैप्टिस्‍म ऑफ क्राइस्‍ट', 'मडोना ऑफ द कारनेशन' और 'द अडोरेशन ऑफ द मागी' के कारण भी जानते हैं. कुल मिलाकर दुनिया के ज्‍यादातर लोग लियोनार्डो को उनकी पेंटिंग्‍स के लिए पहचानते हैं. बहुत कम लोग जानते हैं कि 15 अप्रैल 1452 को इटली के विंची में जन्‍मे लियोनार्डो एक चित्रकार (Painter) होने के साथ ही कई अविष्‍कारों का शुरुआती खाका खींचने वाले महान अविष्‍कारक (Inventor) भी थे.

लियोनार्डो को उड़ने वाली मशीन, हथियारबंद वाहन, सौर ऊर्जा के इस्तेमाल और आकाश के रंग को लेकर अवधारणा देने का श्रेय दिया जाता है. साथ ही उन्हें कैंची का आविष्कार भी माना जाता है. कभी स्‍कूल नहीं गए लियानोर्डो दा विंची ने फ्रांस (France) में 2 मई 1519 को दुनिया को अलविदा कहने से पहले कई अविष्‍कारों की जमीन तैयार कर दी थी. उन्‍होंने आर्किटेक्चर, जीव विज्ञान और शरीर की रचना के विज्ञान पर भी खूब जानकारी जमा की थी. लियनार्डो ने अस्पतालों में मौजूद शवों के जरिये शरीर की संरचना का अध्ययन किया और उनके 240 चित्र बनाएं. उनके 240 चित्रों और 13,000 शब्दों में लिखे मानव शरीर की संरचना पर आधारित दस्तावेजों के जरिये मानव शरीर के बारे में काफी कुछ जानकारी हासिल की जा सकती है. आइए जानते हैं उनके कुछ खास अविष्‍कारों के बारे में...

फृलाइंग मशीन और एनिमोमीटर के स्‍कैच.


फ्लाइंग मशीन और एनिमोमीटर की परिकल्‍पा दी
हवा की गति नापने के लिए हम एनिमोमीटर (Anemometer) का इस्तेमाल करते हैं. लियोनार्डो ने ही सबसे पहले इसे बनाने का विचार दिया था. इतिहासकारों की मानें तो लियोनार्डो ने 15वीं शताब्दी में ही एनिमोमीटर का ब्लूप्रिंट तैयार कर लिया था. उन्होंने इसकी सरंचना भी तैयार कर ली थी. बाद में अविष्‍कारकों ने उसी के मुताबिक नए और आधुनिक एनिमोमीटर को तैयार किया. लियोनार्डो के दिमाग में हमेशा चलता रहता था कि इंसान भी कभी चिड़ियों की तरह आकाश में उड़ सके. इसके लिए उन्होंने एविशन क्षेत्र से जुड़े कई पहलुओं पर अध्‍ययन किया. फ्लाइंग मशीन (Flying Machine) उनका सबसे प्रसिद्ध अविष्‍कार माना जाता है. हवाई जहाज को बनाने का श्रेय भले ही राइट ब्रदर्स को जाता हो, लेकिन लियोनार्डो ने पहले ही इसकी परिकल्पना तैयार कर ली थी.

विंची के बनाए हेलीकॉप्‍टर और पैराशूट के स्‍कैच.


विंची ने हेलीकॉप्‍टर और पैराशूट का स्‍कैच बनाया



पहला हेलिकॉप्टर 1940 में बनाया गया था. लेकिन, लियोनार्डो दा विंची ने इससे कई सौ साल पहले ही हेलीकॉप्‍टर (Helicopter/Aerial Screw) का स्‍कैच बना लिया था. हालांकि, वह कभी इसका परीक्षण नहीं कार पाए, लेकिन उन्‍होंने इसके काम करने के तरीके का डिजाइन और नक्‍शा बना लिया था. उन्‍होंने अपनी इस खोज को हेलिक्स प्टेरन नाम दिया था. पैराशूट (Parachute) बनाने का श्रेय भले ही सेबेस्टियन लेनोरमंड को जाता हो, लेकिन इसे बनाने का आइडिया लियोनार्डो दा विंची ने ही दिया था. विंची ने एक स्केच बनाया था, जिसमें उन्होंने इंसान को एक छतरीनुमा वस्तु के साथ हवा में उड़ते हुए दिखाया था. विंची का पैराशूट तिकोना था, जबकि आजकल लंबा या गोल चलता है.

लियोनार्डो दा विंची ने 33 बैरल गन और तीन बैरल वाली कैनन के आइडिया पर भी स्‍कैच बनाया था, जिन्‍हें एक से दूसरी जगह ले जाना आसान था.


कई हथियारों के अविष्‍कार का दिया जाता है श्रेय

लियोनार्डो ने ही 33-Barreled Organ का आइडिया दिया था. उन्होंने एक स्केच बनाया था, जिसमें 33 छोटी कैलिबर गनों को मिलाकर 33-Barreled Organ का रूप दिया गया था. इसके अलावा उन्‍होंने 500 साल पहले ही एक ऐसी लड़ाकू मशीन का स्‍कैच तैयार किया था, जो किसी भी दिशा में घूमकर हमला कर सकती थी. इसे मॉर्डन लाइफ में टैंक कहा जाता है. विंची ने इसमें हल्के कैनन को गोल आकृति में दिखाया था. ये सभी एक पहिए के ऊपर रखे थे जो 360 डिग्री घूम सकते थे. माना जाता है कि बाद में उनके इसी आइडिया को ध्यान में रखकर मॉर्डन टैंक का आविष्कार किया गया. लियोनार्डो ने हथियार बनाने को लेकर कई सुझाव अपने स्‍कैचेज में दिए थे. इसी में एक बड़े क्रॉस बो का स्केच भी था. यह पहिएदार गाड़ी पर बना था, जिसे कहीं भी ले जाया जा सकता है.

इटली के इस महान चित्रकार ने क्‍लॉक का स्‍कैच बनाने के साथ ही बिना ड्राइवर वाले वाहन की परिकल्‍पना भी कर ली थी.


सबसे पहले की ड्राइवर लेस कार की कल्‍पना

इटली के इस महान चित्रकार ने ट्रिपल बैरल कैनन (Triple Barrel Cannon) का आइडिया भी दिया था. कुछ लोगों का मानना है कि मल्‍टीबैरल गन उनके इसी स्‍कैच के आधार पर बनाई गई है. विंची के समय हथियार काफी भारी होते थे. उन्‍होंने उन्हें एक जगह से दूसरी जगह ले जाने के लिए पहिएदार गाड़ी का इस्तेमाल करने का आइडिया दिया. वहीं, लियोनार्डो ने घड़ी का आविष्कार भले न किया हो लेकिन उनके समय में घंटे और मिनट वाली सुई का विचार सामने आ चुका था. लियोनार्डो ने एक घड़ी का स्केच बनाया था, जिसमें एक हिस्से में घंटे का समय तो दूसरे में मिनट दिखाता था. आज हम बिना ड्राइवर की कार के बारे में बात करते हैं, लेकिन लियोनार्डो ने स्‍वचलित गाडी (Self-Propelled Cart) का स्‍कैच भी बनाया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज