लाइव टीवी

दिल्ली में सरकार कराने वाली है बारिश, जानें क्यों?

News18Hindi
Updated: November 13, 2018, 9:09 AM IST
दिल्ली में सरकार कराने वाली है बारिश, जानें क्यों?
सांकेतिक तस्वीर

इसके लिए अधिकारी कर रहे थे 10 नवंबर का इंतजार.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 13, 2018, 9:09 AM IST
  • Share this:
पानी बरसे तो हवा में मौजूद गंदगी साफ हो जाती है. इसी फॉर्मूले को आधार बनाकर आर्टिफिशियल रेन के जरिए दिल्ली के स्मॉग से निजात पाने पर विचार किया जा रहा है. इस प्लान में शामिल हैं, सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड (CPCB), भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) कानपुर, भारतीय मौसम विभाग (IMD) और इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गनाइजेशन (ISRO). ये चारों संस्थान मिलकर दिल्ली के ऊपर बादलों का निर्माण करना चाहते हैं. ताकि बारिश हो और दिल्ली की हवा साफ किए जाने में मदद मिल सके. 10 नवंबर के बाद इस योजना को शुरू किए जाने की उम्मीद थी. ऐसा कुछ खास तरह के तत्वों को हवा में मिलाकर किया जा सकता है. इन तत्वों को एयरक्राफ्ट से बरसाया जाएगा.

यह पहली बार हो रहा है कि किसी भारतीय शहर में प्रदूषण पर नियंत्रण करने के लिए आर्टिफिशियल बारिश का सहारा लिया जाएगा. हाल ही में दिल्ली की हवा का स्तर बहुत खराब हो गया था.

क्यों कर रहे थे वैज्ञानिक 10 नवंबर का इंतजार?
आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर सचींद्र नाथ त्रिपाठी ने कहा, "अपनी ओर से हम आर्टिफिशियल बारिश कराने के लिए तैयार हैं लेकिन हम बादल बनने के लिए उपयुक्त परिस्थितियों का इंतजार कर रहे हैं." उन्होंने बताया कि 10 नवंबर तक परिस्थितियां बादल बनने के लिए उपयुक्त नहीं थीं. उन्होंने यह भी कहा है कि यह काम कठिन है.

यह बारिश कितनी बार दिल्ली पर कराई जाएगी, यह इस पर निर्भर करेगा कि बारिश के पहले प्रयोग से हवा पर क्या असर पड़ रहा है और आने वाले दिनों में हवा में प्रदूषण की स्थिति क्या रहेगी?

चीन इस तकनीक का सालों से प्रयोग करता आ रहा है. अमेरिका, इजरायल, दक्षिण अफ्रीका और जर्मनी भी इस तकनीक का प्रयोग करते रहे हैं. हालांकि भारत में भी आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र और कर्नाटक में इस तकनीक का प्रयोग भयंकर सूखे से निपटने के लिए किया जा चुका है.

यह भी पढ़ें: हिमालय के चलते भी खराब हो रही है दिल्ली की हवा, जानिए कैसे?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 13, 2018, 9:09 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...