एक हैक से खुल सकता है होटल का इलेक्ट्रॉनिक लॉक

ईजाद की गई डिवाइस से डाटा स्कैन किया जा सकता है.

News18Hindi
Updated: November 10, 2018, 11:21 AM IST
एक हैक से खुल सकता है होटल का इलेक्ट्रॉनिक लॉक
सांकेतिक तस्वीर
News18Hindi
Updated: November 10, 2018, 11:21 AM IST
रिसर्चर्स ने पुराने key कार्डस को स्कैन कर इलेक्ट्रॉनिक लॉक हैक कर दिखाया है. इसे सिक्योरिटी फर्म एफ-सिक्योर ने बनाया है. इसे बनाने के लिए एक 'पुराने की कार्ड' की जरूरत है. भले ही वो पांच साल पुराना या एक्सपायर हो चुका हो.

ईजाद की गई डिवाइस से डाटा स्कैन किया जा सकता है. और फिर ये डिवाइस किसी भी हॉटल के इलेक्ट्रिक लॉक को अनलॉक कर सकती है. यै हैक कोई ट्रैस नहीं छोड़ता. इसका इस्तेमाल मास्टर key की तरह हो सकता है.

ये भी पढ़ें- क्यों नहीं बदला जा सकता है अहमदाबाद का नाम!

एफ-सिक्योर के रिसर्चर टॉमी टॉमीनेन का कहना है कि ये हैक एक तरह से वो पावर है जिससे किसी भी हॉटल रूम का लॉक, सैकंड्स में खोला जा सकता है. इलेक्ट्रॉनिक लॉकिंग सॉफ्टवेयर प्रोड्यूस करने वाली कंपनी अब अपने क्लाइंट्स को ये डिवाइस उपलब्ध कराना शुरू करेगी.

Loading...


डेवलपर्स ने इस हैक को क्रिएट करने में हजारो घंटे खर्च किए. अब इस इक्विपमेंट को कुछ हजार euros में ऑनलाइन खरादी जा सकता है. एफ-सिक्योर इसे खरीदने वाले को हैक की टेक्नीकल जानकारी भी देता है.

ये डिवाइस चेताता है कि किसी भी अनअटेंडेड हॉटल में अपना कीमती सामान छोड़ना रिस्क है.

लॉक बनाने वाली स्वीडिश कंपनी assa aboly ने एक न्यूज एजेंसी को बताया कि ये हैक दुनिया भर के हजारों होटल्स में इस्तेमाल किया जा रहा है. इलेक्ट्रिक लॉक खोलने वाली साइबर सुरक्षा कंपनी एफ-सिक्योर फिनलैंड की है.



क्यों किया इसे ईज़ाद
कंपनी रिसर्चर्स के एक साथी का लैपटॉप हॉटल रूम से गायब हो गया था. जिसके बाद उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक लॉक्स पर रिसर्च शुरू किया था. इसी रिसर्च के अंत में इलेक्ट्रॉनिक लॉक हैकर डिवाइस क्रिएट किया गया.

देखें वीडियो-



ये भी पढ़ें- अरबपतियों के बच्चे किस तरह खर्च करते हैं पैसा
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर